तहसील प्रशासन की भूमिका लोगों में चर्चा का बिषय बना हुआ है-MIRZAPUR

मड़िहान
महिलाओं को बंधक बनाकर पीटा,उजाड़ दिया पुश्तैनी आशियाना
उपजिलाधिकारी न्यायलय मड़िहान से आदेश के बाद बिबादित जमीन पर बने पुश्तैनी मकान कब्ज़ा करने के चक्कर में सोमवार की रात दो पक्ष आपस में भिड़ गए।मारपीट में एक पक्ष से चार लोग घायल हो गए।घायलों का इलाज मड़िहान सीएचसी में चल रहा है।पुलिस ने पीड़ित पक्ष से तीन लोगों के खिलाफ शांति भंग की कार्यवाई की है।
बताया जाता है कि पचोखरा गांव स्थित भूस्वामी एक जमीन को पहले रामचरन को बेचीनामा सादे कागज पर लिख दिया था।रामचरन उक्त जमीन पर रिहायसी मकान बनाकर रहने लगा।कुछ दिनों बाद भूस्वामी ने उसी जमीन को राजकुमार को बैनामा कर दिया।जमीन रजिस्ट्री के बाद रामचरन व राजकुमार के बीच बढ़ते बिबाद को देखकर पुलिस ने जमीन कुर्क की कार्यवायी करते हुए मामला दर्ज कर एसडीएम कोर्ट भेज दिया।
कुछ दिनों बाद दो नवम्बर17 को एसडीएम न्यायलय से राजकुमार के पक्ष में फैसला हो गया।फैसला में थानाध्यक्ष मड़िहान को उक्त जमीन पर राजकुमार को कब्ज़ा देने का आदेश भी हो गया।आदेश के अनुपालन मे थानाध्यक्ष सोमवार को मकान कब्ज़ा कराने पहुँच गये।हला कि पुलिस फोर्स कम होने के कारण वापस लौट आयेे। दूसरे दिन मंगलवार को तहसीलदार के नेतृत्व में पुलिस की टीम रामचरन का कब्ज़ा हटाने पहुँची तो परिवार के लोग बिरोध करने लगे।दोनों पक्षों से मारपीट में जगदीश32वर्ष,इंद्रजीत30,इंद्रावती58व लक्ष्मी26घायल हो गये।आरोप है कि रामचरन के परिवार को पुलिस थाने उठा ले गयी।जब महिलाएं बिरोध करने लगी तो उन्हें बंधक बनाकर पीटा गया।
राजकुमार के पक्ष से दर्जनों की संख्या में लोग लामबंद होकर रामचरन का रिहायशी मकान रातोंरात गिरा दिए।राजकुमार नया मकान का दिवाल भी रात में खड़ा कर दिया।पुलिस व तहसील प्रशासन की भूमिका लोगों में चर्चा का बिषय बना हुआ है।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.