तस्कर लाभ के लिए रोडमैप रखते हैं-मीरजापुर

गांजा और तमंचे संग तीन धराये, फरार की तलाश में जुटी पुलिस ,अहरौरा मीरजापुर। अहरौरा थाना क्षेत्र में अभी भी छोटी मछलियां बड़ी मछलियों के शिकार के लिए रखा गया है। इसी कड़ी में अहरौरा पुलिस को सूचना मिल रही थी कि गांजा सप्लाई करने वाले अन्तर्जनपदीय गिरोह अहरौरा थाना क्षेत्र में सक्रिय है। अहरौरा थाना का बार्डर मड़िहान थाना और सोनभद्र के रावर्टगंज कोतवाली से लगता है जिसका फायदा तस्कर उठाने के लिए एक रोडमैप रखते हैं। अहरौरा पुलिस ने इस गिरोह की तलाश में एक टीम बनायी जिसमें सीनियर एस एस आई केदार कुशवाहा, एस आई विमलेश सिंह, कां देवानंद, कां धर्म पाल और कां रणजीत पाण्डेय थे। इस टीम की कमान स्वयं अहरौरा एस ओ प्रवीण कुमार सिंह ने संभाली। रावर्टगंज और मीरजापुर हाइवे पर सोनवर्षा ग्राम लगता है। यही पर चेकिंग इस टीम ने शुरू कर दी। लाल रंग की रायल इनफिल्ड बुलेट से तीन लोग आते दिखाई दिए। पुलिस की पोजिशन को देखते हुए इस गाड़ी को रूकना पड़ा। गाड़ी की आर सी मांग की गई तो ये लोग दिखा नहीं पाये। फिर आशंका और इन लोगों की फितरत को देखते हुए जामातलाशी ली जाने लगी तो एक अदद बारह बोर का तमंचा एक जिंदा कारतूस संग बरामद हुआ, साथ ही साथ दो किलो गांजा भी मिला। इसने अपना नाम व हालापता सत्यदेव सिंह पटेल पुत्र राजकुमार पचोखरा थाना मड़िहान बताया। दूसरा भी इसी गांव का प्रमोद शर्मा पुत्र स्व मस्तराम निकला जिसके पास दो किलो गांजा मिला। तीसरा संजय शर्मा पुत्र शिवललित जुड़वरियां करमा निवासी निकला जिसके पास भी दो किलो गांजा था। बुलेट को अहरौरा पुलिस ने सीज कर दिया है और इनके विरुद्ध मु अ सं 387 /17 पर धारा 3/25 आर्म एक्ट के साथ साथ मु अ स 388/17 पर धारा 8/20 एनडीपीएस एक्ट लिखकर इन तीनों अभियुक्तों की चालानी काट दी है।
पुलिस को अभी भी इस गिरोह के सरगना की तलाश है। इस अपराध में लिप्त अन्य अपराधियों पर पुलिस की पैनी निगाह है।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.