बहुचर्चित बाबा की मड़ई काण्ड ने चमेला देवी को दिया राहत-MIRZAPUR

मिर्जापुर अपर सत्र न्यायाधीश न्यायालय कक्ष संख्या 3 में दिनांक 30-11-2017 को आदेश पारित करते हुए पुनरीक्षण संख्या 110 / 17 को निरस्त किए जाने का आदेश पारित किया है| यह आदेश पारित करने के बाद चमेला देवी निवासी शबरी बाबा की मड़ई के परिजनों में अपार हर्ष देखा जा रहा है पुलिस अधीक्षक मिर्जापुर को इसकी पत्रावली उपलब्ध करा दी गई है जिसमें बहुचर्चित तत्कालीन उप जिलाधिकारी सदर मिर्जापुर के साथ-साथ सफेदपोश भूमाफिया व तत्कालीन कटरा कोतवाल तथा चौकी इंचार्ज के खिलाफ विवेचना कर मुकदमा पंजीकृत करने का आदेश न्यायालय के द्वारा दिया गया था जिस पर चमेला देवी के विपक्षी लोगो के द्वारा स्थगन आदेश ले लिया गया था |उसके पश्चात न्यायालय ने पुनः उस पर विचार करते हुए चमेला देवी पत्नी स्वर्गीय लल्ला राम निवासी सबरी बाबा की मड़ई थाना कोतवाली कटरा को बड़ी राहत देते हुए न्यायालय ने अपने पुराने आदेश को स्टैंड कर दिया है जिससे एक बार पुनः जमीन के सौदागरों में हड़कंप हो गया है |
मनोज पासवान BSP के निकाय नेता ने बताया की चमेला देवी पत्नी स्वर्गीय लल्ला राम निवासी शबरी बाबा की मड़ई थाना कोतवाली कटरा मिर्जापुर कि आज न्यायालय व न्याय व्यवस्था पर पुनः भरोसा मजबूत होती दिखाई पड़ रही है आरोप के मुताबिक बहुचर्चित शबरी बाबा की मड़ई स्थित भूमि पर कुछ माह पूर्व प्रशासनिक अधिकारियों वह सफेदपोश के मिलीभगत से अरबों की जमीन को हथियाने का नापाक इरादा को अंजाम देने का पुरजोर कोशिश किया गया था जिसमें चमेला देवी ने तत्कालीन मिर्ज़ापुर उप जिलाधिकारी सदर व कटरा थाना क्षेत्र को अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए न्यायालय का सरण ली हुई थी सम्बंधित थाना व अधिकारियों पर से चमेलादेवी व उनके परिजन मनोज पासवान का भरोसा उठ चुका था |
मनोज पासवान BSP के निकाय नेता ने बताया की यह जमीन पर पिछले कई माह से जमीन के सौदागरों द्वारा कब्जा करने का कई बार प्रयास किया इस पर बने मकान को भी कब्जा करने का आरोप मनोज पासवान के द्वारा लगाया जा चुका है घटना के बारे में जानकारी के मुताबिक मौजा शबरी टप्पा चौरासी परगना कंतित तहसील सदर स्थित आराजी संख्या 74 क्षेत्रफल ६ बिस्वा आराजी 113 बटा दो क्षेत्रफल 3 बिस्सा 113 बटा तीन छेत्र पर 3 विसा आराजी संख्या 114 क्षेत्रफल 11 विसा आराजी संख्या 115 क्षेत्रफल ९ बिस्वा कुल 5 गाटा क्षेत्रफल 1 बीघा 12 बिस्वा पर अपने ससुर के जमाने से काबिज व दाखिल हो कर अपने उसी जमीन के कुछ हिस्सों में आवास बना कर तथा शेष पर कास्त करती चली आ रही थी चमेला देवी |जिस पर विपक्षियों ने उस पर प्लाटिंग करने के उद्देश्य से कई बार जमीन चमेला देवी से लेने का प्रयास किया और अंततः न्यायालय की शरण में जाकर चमेला देवी को राहत की आस बनती नजर आ रही है|

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.