9453821310-अदलहाट* । श्रीमद् भागवत कथा का प्रारम्भ आज अदलहाट बाजार में छेदी लाल गुप्ता के परिसर यूनियन बैँक ऑफ़ इंडिया अदलहाट में 1 बजे से कथावाचक स्वामी तुलसी किंकर महराज ( चित्रकूट ) के मुखार बिंदु से प्रारंभ हुआ। किंकर जी महराज ने आज प्रथम दिन कथा में बताया की भगवान का अंत कभी नही होता जिस प्रकार मकडी अपना जाल खुद बुनती है और खुद उसे निगल जाती है । आचार्य जी ने आगे कहा की जब देवासुर संग्राम के बाद जो अमृत निकला था उसे पिने के लिये देवता और दानव दोनों आपस में लड़ रहे है। देवताओ को अमृत पिने के बाद भी मोक्ष नही मिला उसी प्रकार हमे केवल भक्ति से ही मोक्ष प्राप्त हो सकता है । कथा के बाद प्रसाद वितरण किया गया कथा सुनने वालों में भृगुनाथ गुप्ता,तीरथ गुप्ता, कृष्कान्त के साथ छेत्र के सैकड़ो भक्त व संभ्रांत लोगो ने कथा का आनंद लिया |