पूरा पहाड़ ही पत्थर माफियाओं द्वारा गायब कर दिया गया है-MIRZAPUR

: मड़िहान
देवरी गांव स्थित तहसील के पीछे बुधवार को एसडीएम के नेतृत्व में राजस्व विभाग की टीम,पुलिस व खान अधिकारियों द्वारा छापेमारी व सीमांकन किया गया।सीमांकन में लीज सीमा से बाहर पत्थर खनन पाये जाने पर सर्वेयर राम सुरेश ने पत्थर माफियाओं के खिलाफ मड़िहान थाने में तहरीर दी।तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत करते हुए आगे की कार्यवाई शुरू कर दी है।
मंगलवार की रात अबैध खनन की सूचना पर मड़िहान थानाध्यक्ष को मिली तो पुलिस के कान खड़े हो गये।थानाध्यक्ष हमराहियों के साथ रात में मौके पर पहुचे तो अंधेरे का लाभ उठाते हुए कई चालक पोकलेन छोड़कर भाग निकले।एक चालक को हिरासत में लाकर पोकलेन पुलिस कब्जे में ले लिया।चालक व मालिक के खिलाफ कार्यवाई के लिए बुधवार को सुबह खनिज विभाग को सूचना दी गयी।लेकिन पत्थर माफियाओं के खिलाफ कार्यवाई के लिए कोई भी सक्षमअधिकारी खनिज विभाग से नही पहुँचा।
सीमांकन करने के लिए खनिज विभाग से सर्वेयर रामसुरेश दोपहर बाद पहुँचे।जिससे सीमांकन कार्य देर से शुरू हुआ।पांच एकड़ की लीज पांच सौ मीटर में फैला होने से सीमांकन कार्य पूरा नही किया जा सका।एसडीएम मड़िहान सविता यादव के नेतृत्व में थानाध्यक्ष केके सिंह मय फोर्स राजस्व निरीक्षक,लेखपाल द्वारा सीमांकन का कार्य शुरू हुआ।दो किलोमीटर एरिया में पूरा का पूरा पहाड़ ही पत्थर माफियाओं द्वारा गायब कर दिया गया है।तहसीलदार रामजीत मौर्य ने कहा कि पत्थर माफियाओं को अबैध पत्थर निकालने के लिए कहाँ से छूट मिला।पत्थर माफियाओं द्वारा लीज से कई गुना पत्थर निकाल कर इतने बड़े बड़े गढ्ढे कर दिये गए है कि करोड़ो की रायल्टी सरकारी खजाने की बजाय औरो की जेब मे चली गयी।इसी तरीके से बालू का अवैध खनन करनपुर छेत्र में जबरदस्त होने की शिकायत करने आज मिर्ज़ापुर पुलिस कप्तान से करने पहुंचे फहीम खान ने कहा की नहीं रूक रहा है अवैध खनन व परिवहन का काम |

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.