1546 संदिग्ध टी वी मरीजों की जांच कराई जा चुकी है-MIRZAPUR

राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम के तहत दिनांक 23 फरवरी 2018 से प्रारंभ होकर 10 मार्च 2018 को समाप्त होने वाले द्वितीय चक्र के एसीएफ कार्यक्रम के दौरान पूरे जनपद में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आशा. आंगनबाड़ी एवं एसटीएस.एसटीएलएस. तथा डॉक्टरों आदि को इस क्षय रोगी अभियान अंतर्गत अलग-अलग जिम्मेदारियों का विभागीय प्रशिक्षण देकर गांव मोहल्लों में छिपे हुए टीबी रोगियों को खोज कर उनको इस रोग से मुक्ति दिलाने हेतु गांव मोहल्लों में भेजा जा चुका है। उक्त के क्रम में उप जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ नरेंद्र सिंह द्वारा आज बताया गया कि इस खोजी अभियान सदस्यों के मेहनत का ही परिणाम है कि अब तक हमारे मिर्जापुर जनपद में 1546 संदिग्ध टी वी मरीजों की जांच कराई जा चुकी है और इस जांच के उपरांत 76 यू टीवी के छिपे मरीज हमें प्राप्त हो चुके हैं जिन की दवा विभाग द्वारा प्रारंभ भी कर दी गई है उनके द्वारा यह भी बताया गया कि अभी द्वितीय चक्र के इस खोजी अभियान में हमारे पास 4 दिन और अवशेष हैं जिनमें हमारे कर्मचारियों द्वारा और छिपे टीबी रोगियों को ढूंढ निकाला जाएगा। उपरोक्त अभियान अंतर्गत आज दिनांक 7 मार्च 2018 को 6 विभाग के डिस्ट्रिक्ट पीपीएम कोऑर्डिनेटर श्री सतीश शंकर यादव द्वारा पुनः चुनार टीयू अंतर्गत विभिन्न गांव मुहल्लों. ईट भट्ठों. झुग्गी-झोपड़ियों. तथा मलिन बस्तियों का खोजी टीम सदस्यों के साथ घर-घर जाकर उपरोक्त कार्य को पूर्ण रुप देने हेतु तीन सदस्यी टीम को पुनः निपुणता पूर्वक कार्य करने हेतु प्रशिक्षित किया गया साथ ही साथ टीम सदस्यों के द्वारा पूछे गए कुछ प्रश्नों का उनके द्वारा शंका समाधान भी तत्काल करते हुए उनको पूरे समाज सेवा रूपी भाव से काय॔ करने की प्रेरणा भी दी गयी।आज ही वाराणसी से आर. टी. पी. एम. यू.टीम दृवारा भी राजगढ़ के गठित टीमों का निरीक्षण किया गया।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.