अधिवक्ता हित के बारे में सम्मानजनक निर्णय नहीं लिया गया-प्रदीप कुमार बगड़िया

9453821310-बार काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के वर्ष 2018 में होने वाले चुनाव में प्रदीप कुमार बगड़िया ने आज मिर्ज़ापुर में मीडिया से बात करते हुए बताया की बार काउंसिल में जब से चुनाव की प्रक्रिया चली है उच्च न्यायालय से चयनित होकर अधिवक्ता राज्य विधिक परिषद के पद पर आसीन हैं किंतु राज्य विधिक परिषद द्वारा राजनीतिक कारणों से अधिवक्ता हित के बारे में सम्मानजनक निर्णय नहीं लिया गया जिसकी वजह से संपूर्ण उत्तर प्रदेश के जनपद स्तर पर अधिवक्ता की अनदेखी हुई|प्रदीप कुमार बगड़िया निम्न बिंदुओं पर प्राथमिकता रहेगी- पहला तमाम मामले जिसमे न्यायालय द्वारा विद्वेषपूर्ण ढंग से अधिवक्ताओं के विरुद्ध मानहानि का मुकदमा कर दिया जाता है तथा बार काउंसिल को शामिल किए बगैर एक पक्षीय रूप से अधिवक्ता भाइयों को दंडित कर दिया जाता है ऐसे मामलों में न्यायालय एवं अधिवक्ता दोनों के परीक्षण हेतु सिविल प्रक्रिया संहिता के अनुसार अवमानना से संबंधित मामलों का निस्तारण कराने हेतु संघर्ष करेंगे तथा दूसरा अधिवक्ता हित में अधिवक्ता कल्याण निधि को पुनः चालू करवाने एवं आयु सीमा के बंधन को समाप्त कराने हेतु संघर्ष एवं प्रयत्न करेंगे |साथ ही साथ न्यायालयों में अधिवक्ताओं के सम्मान को सुरक्षित रखने हेतु संघर्ष करेंगे, जिला अधिवक्ता संघो का कार्यालय कम से कम 3 वर्ष तक का कराने हेतु संघर्ष करेंगे |व वकीलों के हित के लिए अन्य कई प्रोग्राम बतया |

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.