समाचारकुपोशित बच्चो के स्वास्थ एवं पोषण के प्रति सचित रहे अधिकारी-जिलाधिकारी

कुपोशित बच्चो के स्वास्थ एवं पोषण के प्रति सचित रहे अधिकारी-जिलाधिकारी

9453821310-मीरजापुर 26 मार्च 2018 ( जिलाधिकारी विमल कुमार दूबे ने कुपोशित गांव के नोडल अधिकारियों तथा बाल विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि कुपोशित बच्चों के स्वास्थ एवं पोषण के सम्बन्ध में विभाग व दिये गये दिशा निर्देश के अनुसार कार्य करें। तथा समयानुसार बच्चो का स्वास्थ परिक्षण व वजन सुनिश्चित कराये। जिलाणिकारी आज कलेक्ट्रेट सभागार में कुपोशित गांव से सम्बन्धित नोडल अधिकारियों के साथ कुपोशित बच्चो एवं सबरी संकल्प योजना के प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में उपस्थित अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि गम्भीर रूप् से बीमार बच्चा हो तो प्राथमिकता के आधार पर परीक्षण, चिकित्सीय परामर्श, सुविधाए/निशुल्क एम्बुलेंस समय से उपलब्ध करा कर नियमानुसार कार्यवाही की जाये। उन्होने कहा कि चिकित्सकों की जाॅच एवं परामर्श के बाद ही बच्चों को पोषण पुर्नवास केन्द्र में निशुल्क भर्ती करायी जाये। यह भी कहा कि वी0एच0एन0डी0 के दिन ए0एन0एम0 द्वारा अतिकुपोशित बच्चो का स्वास्थ परिक्षण, एम0सी0टी0एस0 रजिस्टेसन, टीकाकरण, आयरन फोलिक एसिड देना एवं परामर्श कराना तथा साथ ही अतिकुपोशित बच्चो का नियमानुसार समय-समय पर वनज कराना सुनिश्चित करे। डी0पी0आर0ओ0 को निर्देशित करते हुए कहा कि आगनवाडी केन्द्रो पर बाल शौचालय हैंडपम्प, न हो तो उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रमोद कुमार सिंह जिलाणिकारी को बताया कि 259 हैंडपम्प तथा 1715 बाल मैत्री शौचालय का निर्माण होना है जिसकी सूची जिला पंचायत राज अधिकारी को उपलब्ध करा दी गयी है। जिलाधिकारी ने वी0एच0एस0एन0सी0 को भी सक्रिय बनाने का निर्देश दिया। उन्होने यह भी कहा कि ऐसे कुपोेशित बचो के सक्षम माता-पिता जो वास्तव में गरीब हो उनका जाॅब कार्ड बनाकर मनरेगा के अन्र्तगत कार्य दिया जाये ताकि उनके परिवार की आर्थिक स्तिथ्थ सुधर सके । उन्हाने कहा कि 0 से 5 वर्ष तक कें लाल/पीले श्रेणी के बच्चों के परिवार का राशन कार्ड बनाकर उन्हे खा़द्यान वितरण किया जाये । प्रत्येक माह 5, 15 एवं 25 तिथियों में पोषाहार का वितरण कराया जाये। उन्हाने कहा कि ग्रोथ मानिटरिंग, गृह भ्रमण एवं परामर्श, स्वास्थ जागरूकता, टीकाकरण, पोषक आहार, बीमारी की देखभाल आदि विषयों पर आगनबाडी कार्यकत्री द्वारा अभिभावको को परामर्श दिया जाये। उन्हाने कहा कि बचपन दिवस, ममता दिवस, एवं लाडली दिवस का आयोजन कराया जाये जिसमे ग्राम प्रधान, संम्भ्रान्त नागरिक, सेवा निवृत कार्मिक, आशा, ए0एन0एम0, आगनबाडी आदि को कुपोषण पर प्रशिक्षित एवं जागरूप् कर लाल श्रेणी के बच्चो को गोद लिया जाये ताकि उन बच्चो में कुपोषण का निवारण सुगम हो सके। बैठक में ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट अश्वनी कुमार पाण्डेय जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रमोद कुमार सिंह जिला पंचायत राज अधिकारी बालेश्वरधर द्विवेदी ए0आर0 को आपरेटिव, अपर मुख्य अधिकारी विन्ध्याचल सिंह कुशवाहा के अलावा सी0डी0पी0ओ0 दीपक चैबे, ए0के0 सिंह व अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं