समाचारऐसी औरत जिसकी वजह से एक मारा गया दूसरा पीटा गया तीसरा...

ऐसी औरत जिसकी वजह से एक मारा गया दूसरा पीटा गया तीसरा जेल गया-MIRZAPUR

ऐसी औरत जिसकी वजह से एक मारा गया दूसरा पीटा गया तीसरा जेल गया आखिर वो औरत पुलिस हिरासत में और न ही मीडिया के सामने क्यों नहीं आ रही |
दरसल ये सवाल मृतक मदनलाल मिश्रा के परिजन जानना चाह रहे है की आखिर क्यों पुलिस उस औरत को बचा रही है जिसके ऊपर पुलिस स्वयं ये आरोप लगा रही की मदन की हत्या के पीछे महिला की आशनाई वजह है|पहले पुलिस कमलेश को हिरासत में लेकर जांच कर रही थी क्योंकि मृतक के परिजनों द्वारा कमलेश को नामदर्ज किया गया था ऐसा कहा जाता है की कमलेश का नाम मृतक के परिजनों को रेखा ने ही फ़ोन के द्वारा सूचित किया था | जब ये साफ़ हो गया की कमलेश का हत्या में कोइ हाथ नहीं है तो भागीरथी का नाम आया अंततः भागीरथी को कातिल माना गया| परिजनों का आरोप है की रेखा नामक महिला ने पहले कमलेश को टार्चर कराया उसके बाद रेखा ने ही पुलिस को भागीरथ का नाम बताया तो मामला भागीरथ पर आ टिका| इस मामले में आरोप लगाया जा रहा है की महिला ने पुलिस को जब गुमराह किया और पुलिस के मुताबिक़ आशनाई का ही मौत की वजह बताई जा रही है तो महिला बेक़सूर कैसी हो सकती है? जिसका सम्बन्ध कई मर्दो से हो आखिर किसी कानून के उलघन के दायरे में उस महिला को क्यों नहीं चालान किया जाता |हालांकि इस मामले में पुलिस का कहना है की इस मामले में दर्ज किये गए मुकदमे में धारा को तरमीम करके ३०२ कर दिया गया है जिसमे पहले ३०४ लगाया गया था |मगर मामले की जांच अभी भी किया जा रहा है जो भी दोषी होगा उसको छोड़ा नहीं जाएगा |तो वही मृतक के लड़के विवेक मिश्रा का मानना है की जब तक वह औरत अपना बयान मीडिया के सामने ना दें कि मदनलाल से मेरा अवैध संबंध था मामला साफ नहीं होता ,अगर औरत बयान इस प्रकार का दे रही है तो हम और हमारा पूरा परिवार मानने को तैयार हैं वरना बिना सोचे समझे मेरे पिताजी पर इल्जाम लगाया जा रहा है और मेरे पिताजी को बदनाम करने की साजिश की जा रही है अगर मदनलाल उस औरत के आशनाई का शिकार हुए हैं तो पुलिस यह साबित करें कि उसका संबंध और किस-किस से है उसे अब तक गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया औरत को खुलेआम रहने का अधिकार नहीं है क्योंकि उसके आशनाई में यदि मदनलाल जा सकते हैं तो कल भागीरथी भी जा सकता है ऐसी औरत जो समाज में हत्या का कारण बने उसे जेल में रखा जाए |
इस मामले में हलाकि लालगंज पुलिस ने प्रेस वार्ता के दौरान मदन कुमार मिश्रा के हत्यारे को मय चाकू, डंडे के साथ गिरफ्तार कर के मीडिया के समक्ष पेश किया था व हत्या के कारण के बारे में आशनाई की बात कही थी ।मगर जब मृतक के परिजनों ने हत्या के कारण की बात सुनी तो उनके पैरों तले जमीन खिसका नजर आया उस वक्त भी परिजनों द्वारा पुलिस के खुलासे पर मीडिया से बात किया था और उन्होंने हत्या के कारण की वजह पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर दिया था और कहा था की यदि हत्या के पीछे का मुख्य वजह आशनाई ही है तो पुलिस ने क्यों नहीं उस महिला को मीडिया के सामने पेश किया ?उस महिला के साथ और किसके संबंध हैं ?संबंध है भी या नहीं ?इसको बताना क्यों मुनासिब नहीं समझा ?इस प्रेस वार्ता के दौरान बेहतर होता कि मीडिया के समक्ष उस महिला को भी पेश किया जाता जिसकी वजह से मदन मिश्रा की जान गई व भागीरथी को पुलिस ने जेल भेजा। साथ ही साथ मदन मिश्रा की हत्या में और कितने लोग शामिल थे? क्या उनको भी सहअभियुक्त बनाया गया? मृतक मदन मिश्रा के मोबाइल की बरामदगी क्यों नहीं हो सकी? यह तमाम प्रश्न मृतक परिजनों के अंदर रह-रहकर उबाल मार रहे हैं ।मृतक के पुत्र विजय मिश्रा ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि इस हत्याकांड में सिर्फ और सिर्फ भागीरथी ही हो यह बात आसानी से गले के नीचे नहीं उतर रही है ।विजय मिश्रा ने मांग किया कि इस समस्त घटनाक्रम पर पुनः गहन समीक्षा के साथ बड़ी एजेंसी से जांच कराई जानी चाहिए। ज्ञात हो कि इस घटना का पुलिस ने 304 के तहत दिनांक 30/4 /2018 को मुकदमा दर्ज किया था जिसमें दो संदिग्ध नामजद कमलेश व लल्लू यादव को अभियुक्त बनाया गया था। परंतु पुलिस ने दिनांक 7/5/ 2018 को भागीरथी नामक व्यक्ति को गिरफ्तार करके हत्या की घटना का पर्दाफाश करने का दावा किया था।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं