पुलिस की कारस्तानी कैमरे में हुई रिकॉर्ड-MIRZAPUR

9453821310- इस सरकार में न्याय के लिए आवाज बुलंद करना भी अब पीड़ितों के लिए भारी पड़ रहा है ….
वैसे तो उत्तर प्रदेश पुलिस ऐसे ही अपने कारनामों के लिए बदनाम रहती है परंतु मिर्जापुर मे सिटी
कोतवाल पुलिस का जो अमानवीय चेहरा सामने आया है उससे पुलिस विभाग का चेहरा एक बार फिर शर्म से झुक जाएगा मामला मिर्जापुर जिला मुख्यालय का है जहां पानी की मांग को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर गले में फंदा डालकर बैठी बुजुर्ग महिला और उसकी बेटी को ना सिर्फ मौके पर पहुंची पुलिस ने जबरन उठाया बल्कि उसे पुलिस की गाड़ी में बैठाकर विधायक के यहां ले जाने की बात भी कही ताज्जुब की बात है की जिले में महिला पुलिस की होते हुए भी धरने पर बैठी महिला और उसकी बेटी को हटाने के लिए गई पुलिस टीम में एक भी महिला सिपाही नहीं थी और मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने महिला को घसीटते हुए जबरन वहां से हटा दिया । पुलिस की कारस्तानी कैमरे में हुई रिकॉर्ड
महिला ने बताया की पीने के पानी के लिए उसके नाम एक हैंडपंप पास हुआ था जो कि अब नहीं लगाया जा रहा है और उसके लिए उससे पैसे की मांग की जा रही थी जिसका न्याय पाने के लिए वह जिला मुख्यालय आई हुई थी…

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.