घटना का खुलासा करने का ज्ञापन देने व प्रदर्शन करने वाला ही,निकला हत्यारा-MIRZAPUR

बहुचर्चित आजम अंसारी निवासी इमामबाड़ा थाना कोतवाली कटरा के कचहरी तारीख पर निकलने व उसके बाद लापता होने की खबर ने जिले में सनसनी फैला दी थी। इस घटना को पुलिस ने चुनौती स्वरूप स्वीकर किया था ।क्योंकि आजम के परिजन व शुभ चिंतकों के द्वारा पुलिस कप्तान से मिलकर आजम के बारे में घटना का खुलासा करने का ज्ञापन व प्रदर्शन किया था ।इस घटना में सबसे अचंभित व आश्चर्यजनक मोड़ तब आया जब पुलिस ने नियाज अहमद को पत्रकारों के सामने पेश किया । हालांकि गिरफ्तार अभियुक्तों में नियाज अहमद के अलावा लल्लू पत्नी कमाल और बॉबी पुत्र अशर्फीलाल ,रजिया पत्नी जुल्फेकार को पेश करते वक्त बताया कि आजम अंसारी के अपहरण के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी । हत्या के पीछे की वजह नियाज अहमद का पूर्व में आजम अंसारी ने नियाज की मां को मारकर लहूलुहान किए जाने वह बेज्जती किए जाने की घटना को नियाज भूल नहीं पा रहा था। जिससे बदले की भावना से दिनांक 24-4-2018 को 10:45 बजे दिन में आजम को अपने घर खतौनी देने के बहाने बुलाकर उसके गले को गमछा से दबाकर मार डाला और लाश को बोरे में छिपाकर अपनी भाभी लल्लो व रजिया व अपने मित्र बॉबी उर्फ रमण कुमार के सहयोग से अपने भाई की Omni Maruti कार से ले जाकर लाश को सैदाबाद जनपद इलाहाबाद ले जा कर फेंक दिया । दरअसल इस समस्त प्रदर्शन व धरना का पर्दाफाश करने के पीछे नियाज अहमद ने मीडिया से बात करते हुए मामले का पर्दाफाश किए जाने की पैरवी भी की थी । पर्दाफाश करने वाली टीम में संतोष कुमार सिंह प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कटरा, निरीक्षक योगेश यादव ,उप निरीक्षक ओझा के साथ स्वाट टीम में प्रभारी राम स्वरूप वर्मा ,कांस्टेबल वीरेंद्र सरोज ,भूपेंद्र सिंह, बृजेश सिंह आदि रहे।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.