करोडपती खानदान में हक़ की लड़ाई पहुंची तहसीलदिवस पर-MIRZAPUR

जनपद मिर्जापुर के शहर कोतवाली थाना क्षेत्र में रहने वाली करोड़ पति खानदान की विधवा महिला आशा वाजपेई अपने पति की मृत्यु के बाद दो वक्त की रोटी के लिए अपने ससुराल वालों के अत्याचारों को सहन करने को मजबूर है |आशा देवी ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि उनके जेठ-जेठानी व उनका लड़के सहित समस्त ससुराल अभद्र शब्दों से उन्हें अपमानित करते हैं उनका खाना पीना बंद कर दिया है और साथ ही उन पर गालियों की बौछार करते हैं आशा देवी का कहना है कि संपत्ति का बंटवारा ना होने के कारण परिवार के सभी सदस्य उन्हें घर से बेघर करने और संपत्ति में कोई हिस्सा ना देने की धमकी देते हैं यही नहीं पीड़ित आशा देवी ने बताया कि उनके जेठ रात्रि में कमरे का दरवाजा पीटते हैं उन को डराते धमकाते हैं और जान से मार देने की धमकी भी देते हैं आशा देवी ने पुलिस अधीक्षक के समक्ष अपनी जान माल की रक्षा की भीख मांगते हुए गुहार लगाई कि उन्हें बेघर होने से बचा लिया जाए|

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.