सभी धर्म ,जाति ,समुदाय का सिर्फ एक ही मकसद है इंसान की सेवा-डीआईजी पियूष श्रीवास्तव

9453821310-मंडल के सबसे बड़े पुलिस अधिकारी के विचार सुन उपस्थित लोगो ने सराहा –
जरूरतमंदों की मदद करना इंसानियत का पहला मकसद होना चाहिए ।यदि व्यक्ति सक्षम है, तो दुर्बल, असहाय गरीबों की मदद करके अपने इस जीवन को साकार कर सकता है ।मानवीय संवेदना से जुड़े तमाम पहलुओं पर अपने विचारों से उपस्थित जनमानस के दिल में उतरने के बाद मिर्जापुर के डीआईजी पियूष श्रीवास्तव ने पड़ रही कड़ाके की ठंड से बचाने के उद्देश्य से जरूरतमंदों ,गरीबों व दिव्यांग जनों को कंबल पहनाया ।पुलिस के आला अधिकारी के द्वारा अपने स्टेज को छोड़कर दूर जाकर जब दिव्यांग जनों को कम्बल ओढा रहे थे उस वक्त उपस्थित जनों को ऐसा आभास हो रहा था मानो पद प्रतिष्ठा शून्य हो और इस धरती पर इंसानियत ही चरम पर हो। इस बात का लोगों ने एहसास किया और आभास किया। डीआईजी पियूष श्रीवास्तव ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि सभी धर्म ,जाति ,समुदाय का सिर्फ एक ही मकसद है इंसान की सेवा व परोपकार। कहा कि हर व्यक्ति को अपनी आमदनी से कुछ अंश दुर्बल, निर्बल, असहाय के लिए लगाना चाहिए ।पड़ोसी अगर दुखी है ,भूखा है, तो अच्छे पड़ोसी के धर्म का निर्वहन करते हुए उसकी मदद के लिए आगे आना चाहिए ।मीडिया से बात करते हुए पियूष श्रीवास्तव ने कहा कि मिर्जापुर में कुछ संगठन बिना प्रचार प्रसार कराए लोगों की सेवा में लगे रहते हैं ।ऐसे संगठन व संगठन से जुड़े लोगों का मैं तहे दिल से आभार प्रकट करता हूं। ऐसा संगठन और सशक्त हो मजबूत हो इसकी भी कामना करता हूं।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.