समाचारपोखरा, तालाब, जलाशय का कब्जा भी होगा चुनावी मुद्दा- श्याम धर दुबे

पोखरा, तालाब, जलाशय का कब्जा भी होगा चुनावी मुद्दा- श्याम धर दुबे

जनपद मिर्जापुर में अति प्राचीन पोखरा, तालाब, जलाशय तेजी से कब्जा होता जा रहा है इसको लेकर कोई नेता कितना चिंतित है यह तो सर्वविदित है लेकिन आगामी लोकसभा चुनाव में जब 19 मई २०१९ को लोग मतदान करेंगे तो मतदाता इस पर भी जरूर विचार करेंगे कि आखिर इसका जिम्मेदार कौन है? जनपद के तमाम अति प्राचीन तालाब पोखर पर भू माफियाओं के द्वारा कब्जा कर लिए जाने के पश्चात भवन निर्माण करना,पोखरे पर ही प्लाटिंग के तहत जमीन की बिक्री शुरू कर देना खुलेआम मिर्जापुर में देखा जा सकता है चुनाव में इस बार यह भी मुद्दा होने जा रहा है यह कहना है रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के मिर्जापुर से प्रत्याशी श्याम धर दुबे का |पंडित श्याम धर दुबे ने कहा की पोखरों को नस्ट करने से पारिस्थितिक तंत्र इको सिस्टम को बर्बाद कर दिया जा रहा है |तमाम प्रकार के जीव जंतु तालाबों में रहते हैं जो पारिस्थितिक तंत्र के मजबूत कड़ी होते हैं |तालाब पोखरा समूचे वातावरण पर अपना महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं छुट्टा पशुओं, निर्बल असहाय कई जीव जंतु के जल पीने का एकमात्र साधन नदी पोखरा तालाब हुआ करता था ,अब यह जनपद से गायब होने की कगार पर हो चुका है लोहिया तालाब देहात कोतवाली आदि तमाम ऐसे क्षेत्र हैं जहां अभी भी खुले रुप से पोखरों में मिट्टी डालकर मकान निर्माण का कार्य तेजी से जारी है जिससे हल का जलवायु व पहचान समाप्त हो रहा है |जिम्मेदार लोग आंख बंद किये हुए हैं लेकिन रिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया (A ) के तरफ से सांसद पद के प्रत्याशी ने इस मामले को जन-जन तक पहुंचाने का जिम्मा उठाया है उन्हें भरोसा है कि इस मुद्दे पर जनता उनके साथ होगी जिससे छेत्र के प्राचीन विरासत को बचाया जा सके |

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं