समाचारयू0पी0एग्रो के विरूद्ध आयुक्त व एम0डी0 को पत्र-MIRZAPUR

यू0पी0एग्रो के विरूद्ध आयुक्त व एम0डी0 को पत्र-MIRZAPUR

गेहूॅं के कम खरीद पर जिलाधिकारी के कडे तेवर ,07 केन्द्र प्रभारी को शो कार्य नोटिश 06 से स्पष्टीकरण ,कुल खोले गये 101 केन्द्रों के सापेक्ष मात्र 28 प्रतिशत की हुयी खरीद
मीरजापुर, 01 मई, 2019- जिलाािधकारी अनुराग पटेल के द्वारा आज कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद में गेहूॅ खरीद के प्रगति की केन्द्रवार समीक्षा की गयी, जिसमें केन्द्रों के द्वारा कम खरीद पर कडा रूख अपनाते हुये 07 केन्द्र प्रभारियों को शो-कार्य नोटिश तथा 06 केन्द्र प्रभारियों से स्पष्टीकरण की मांग करते हुये कठोर चेतावनी दी गयी कि यदि एक सप्ताह के अंदर गेहूॅं खरीद की प्रगति बडायी नहीं गयी तो सम्बंधित केन्द्र प्रभारी के प्रतिकूल प्रविष्टि देने की कार्यवाही की जायेगी। समीक्षा के दौरान गेहूॅं क्रय केन्द्र पडरी, अहरौरा, मीरजापुर, मडिहान, राजगढ, तथा जागृति सहकारी समिति एवं भोडसर केन्द्र के प्रभारी को शो-कार्य नोटिश जारी किया गया तथा केन्द्र प्रभारी महुगढ ,दिधिया, कटका, गौरा, मडैचा, चुनार के केन्द्र प्रभारी को स्पष्टीकरण की मांग करते हुये उपरोक्त सभी केन्द्र प्रभारियों को कठोर चेतावनी भी दिया गया कि यदि एक सप्ताह के अन्दर गेहूॅं की खरीद की प्रगति नहीं बढायी गयी तो सम्बंधित केन्द्र प्रभारी को प्रतिकूल प्रविष्टि देने की कार्यवाही की जायेगी। वहीं भारतीय राष्ट्रिय कृषि सहकारी विपणन संध (नेफेड) एजेंसी के क्षरा खोले गये 06 केन्द्रों पर मात्र 10 दिन में ही 110 प्रतिशत की खरीद पर संदिग्धता व्यक्त करते हुये जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी, आर0एफ0सी0 व ए0आर0 कोआपरेटिव को नेफेट के 4-4 केन्द्रों की जांच कर तीन दिन के अन्दर रिपोर्ट दें कि यह गेहूॅं मीरजापुर के किसानों के द्वारा क्रय किया गया या जनपद के बाहरी किसानों के द्वारा या फिर किसी व्यपारी की सांठ-गांठ कर बिचैलियों के द्वारा क्रय किया गया है। उन्होंने कहा कि यदि मीरजापुर के किसानों के बाहर किसी अन्य बिचैलियों के द्वारा क्रय किया हुआ पाया जाता है तो सम्बंघित के विरूद्ध निलम्बन की कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी ने सभी एजेसियों के केन्द्र प्रभारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि जनपद के ही किसानों का गेहूॅं क्रय किया जाये कही से बाहरी व बिचैलियों की शिकायत पाये जाने पर सीधे निलम्बर की कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने यह भी कहा कि सभी केन्द्रों पर कांटा, पंखा, वनज मशीन, नमी मापक यंत्र,बोरा, किसानों के बैठने की व्यवस्था, पेयजल, गुड/बताशा,चीनी,,बिस्किट आदि में कोई एक, बैठने के लिये छाया, बेंस/कुर्सी आदि सभी केन्द्रों पर उपलब्ध रहे। उन्होंने यह भी कहा कि सभी किसानों को भुगतान तत्कल किया जाये इसके लिये सभी केन्द्रों पर धनराशि की उपलब्ध रहे। यदि किसी एजेंसी के पास उनके मुख्यालय से धन प्राप्त न हुआ हो तो जिलाधिकारी स्तर से अपने उच्चाधिकारी को पत्राचार तत्काल कर धन की मांग की जाये। किसानों के द्वारा क्रय किये गेहॅू के भुगतान में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्ष्त नहीं की जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी केन्द्र प्रभारी लक्ष्य के सापेक्ष खरीद करें, जनपद के किसानों का ही गेहूॅ क्रय किया जाये। उन्होंने आकस्मिक जांच के दौरान यदि किसी बिचैलियों की सहभागिता पायी जाती है सम्बंधित के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जायेगी।

समीक्षा बैठक में यू0पी0 एग्रों के नरायनपुर केन्द्र पर खरीद न होने से तथा अन्य केन्द्रों पर सबसे कम खरीद पर जिलाधिकारी ने कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये अपर जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि क्षेत्रीय प्रबन्धक यू0पी0 एग्रो के 04 केन्द्रों पर मात्र 10 प्रतिशत की खरीद व नारायनपुर केन्द्र पर अभी तक खरीद प्रारम्भ न हाने पर उनके विरूद्ध उनके एम0डी0 व आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल को पत्राचार कर अवगत कराया जाये कि इनके द्वारा गेहूॅ क्रय में घोर लापरवाही बरती जा रही है। इसी प्रकार सचिव मण्डी समिति को भी खरीद बढाने की निर्देश दिया गया। पी0सी0एफ0 की समीक्षा में बताया गया कि सभी केन्द्र पर खरीद चालू करा दी गयी है 287 गांठ बोरा प्राप्त कर लिया गया सभी केन्द्रों पर बोरा उपलब्ध करा दिया गया है। इसी प्रकार जिलाधिकारी ने कहा कि खरीद के बाद उठान भी समय कराया जाये। कर्मचारी कल्याण निगम के खरीद पर सन्तोष व्यक्त करते हुये कहा गया कि उठान भी समय से करायें। कोआपरेटिव के द्वारा खाले गये केंद्रों पर शिकायत मिलने पर निर्देशित किया गया कि खरीद में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि जिस केन्द्र का 50 प्रतिशत से कम खरीद हो और एक सप्ताह के अन्दर खरीद का लक्ष्य बढाये न जाने पर कडी कार्यवाही करें।

इस दौरान बताया गया कि जनपद में 100500 मीट्रिक टन गेहूॅ खरीद लद्वय को पूरा करने के लिये जनपद में कुल 101 केन्द्र स्थापित किये गये है। जिनमें से खाद्य विभाग के 11, पंजीकृत सहकारी के 25, एफ0पी0सी0 के 7, पी0सी0एफ0 के 38, यू0पी0एग्रों के 4, कर्मचारी कल्याण निगम के 3, नैॅेड के 12 तथा भारतीय खद्य निगम के एक केन्द्र स्थापित किये गये हैं। सभी केन्द्रों को मिलाकर अभी तक 2247 मीट्रिक टन गेहूॅ की खरीद की गयी है जो लद्वय का 28 प्रतिशत है। जिलाधिकारी ने कहा कि लक्ष्य के सपेक्ष्य खरीद की प्रगति काफी कम है बढाने का निर्देश दिया। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी यू0पी0 सिंह, आर0एफ0सी0 अजीत त्रिपाठी, ए0आर0कोआपरेटिव सहित सभी एजेंसियों के जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं