समाचारकिताब के गोरख धंधे से अभिभावक त्रस्त-MIRZAPUR

किताब के गोरख धंधे से अभिभावक त्रस्त-MIRZAPUR

अंतर्राष्ट्रीय न्यायिक मानवाधिकार संरक्षण के तत्वाधान में मिर्जापुर के प्राइवेट स्कूल प्रबंधकों द्वारा किए जा रहे हैं मनमाना फीस बढ़ोतरी एवं सेलेक्ट दुकानों से बच्चों के अभिभावकों से ड्रेस एवं काफी किताब खरीदने की बाध्यता भारी कमिशन खोरी के चक्कर में करने तथा अभिभावकों से बच्चों का फीस चेक सेना लेकर किए जा रहे टैक्स चोरी के विरोध में अंतर्राष्ट्रीय न्यायिक मानवाधिकार संरक्षण में भारत के प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा मंत्री उत्तर प्रदेश प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा तथा मिर्जापुर के जिला अधिकारी एवं मंडल आयुक्त को पत्र दिया तथा मांग किया तत्काल बच्चों के अभिभावकों से विद्यालय प्रबंधकों द्वारा वसूले गए अतिरिक्त फीस को वापस कराते हुए तथा आगे से फीस चेक से लेने की मांग को लेकर पत्र प्रेषित करते हुए चेतावनी दिया कि यदि विद्यालय प्रबंधक को की मनमाना रवैया पर रोक नहीं लगा तो अंतर्राष्ट्रीय न्यायिक मानवाधिकार संरक्षण इस प्रकरण को माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद में जनहित याचिका दाखिल कर के उठाने का काम करेगा कहा की मिर्जापुर की सम्मानित अभिभावकों से मेरा अनुरोध है कि वह इस मामले में आवाज उठाएं अन्यथा एक दिन वह बच्चों की पढ़ाई का फीस ही वहन नहीं कर पाएंगे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं