समाचारजनपद में रहेगी 37 बाढ चैकियां जिला स्तर पर भी कंट्रोलरूम खोलने...

जनपद में रहेगी 37 बाढ चैकियां जिला स्तर पर भी कंट्रोलरूम खोलने का निर्देश- जिलाधिकारी अनुराग पटेल

वर्षाकाल से पूर्व सभी नालियों की सफाई व जल निकासी की करायें व्यवस्था

सभी बाढ चैकियों पर राजस्व व सिंचाई विभाग के रहेगें कर्मचारी
बाढ प्रभावित लोगों व पशुओं के लिये सुरक्षित स्थान का कर लें चिन्हांकन -जिलाधिकारी
मीरजापुर, 6 मई, 2019- जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने आज कलेक्ट््रेट सभागार ममें सम्भावित बाढ के दृष्टिगत सिंचाई विभाग, राजस्व विभाग, जलनिगम सहित अन्य सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक कर सम्भावित के पूर्व राहत कार्य व बचाव से सम्बंधित सभी व्यवस्थायें कराने का निर्देश दिशा। इस दौरान जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि वर्षाकाल से पूर्व ही बाए नियंत्रण कक्ष की स्थापना की जाये तथा जनपद खाले जाने ेवाले सभी बाढ चैकियों पर राजस्व विभाग व सिंचाई विभाग के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाकर उनके उपर निगरानी करने के लिये सुरवाइजरों की भी तैनाती की जाये। उन्होंने कहा कि ड्यूटी में लगाये गये अधिकारियों व कर्मचारियों का नाम, पद नाम व मोबाइल नमब्र बाढ सं सम्बंािधत बुकलेट के साथ अपर जिलाधिकारी सहित सभी उप जिला मजिस्ट््रेट को उपलब्ध कराया जाये। जिलाधिकारी कहा कि गंगा नदी की जन भराव की स्थिति उत्पन्न होने से तहसील सदर एवं चुनार में बाढ की स्थिति उत्पन्न होती है तथा जल भराव होता है। ऐसी स्थिति में उप जिलाधिकारी चुनार व सदर ऐसी स्थानों को चिन्हित कर जन निकासी की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित कर लें तथा सभी नगर पालिकाओं के अधिशासी अधिकारी अपन-अपने क्षेत्रों में नालियों आदि की समुचित सफाई वर्षाकाल से पूर्व करा देंख् ताकि वर्षाकाल में पानी सुगमता से निकल जाये और जलभराव की स्थित उत्पन्न न होने पाये। उन्होंने कहा कि सिंचाई विभाग, नहर प्रखण्ड, सिंरसी बांध प्रधण्ड मीरजापुर एवं चुनार अपने-अपने कार्यक्षेत्र से सम्बंधित सभी जलाशयों, बाॅंध व वियर आदि के गेटों की आयलिंग, ग्रीसिंग आदि का कार्य आगामी 15 जून से पूर्व किसी भी दशा में कराकरा उसकी टैस्टिंग आदि करा लें। बाॅंध स्थलों पर सीमेन्द्र की बोरियों में बाूल आदि को भरवाकर पर्याप्त मात्रा में रख लें ताकि कटान की स्थिति में त्वरित कार्यवाही कर राहत की जा सके। कर्मचारियों की 24 घंटे 8-8 घंटें के शिॅफ्ट में लगाये जाये तथा बाढ चैकियों पर उपस्थिति पंजिका भी रखा जाये। इसी प्रकार अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत तहसील सदर व चुनार में मोटर वोट तथा प्राइवेट नावों के मरम्मत के लिये सभी नाविकों को निर्देश जारी कर दें ताकि किसी भी परिस्थिति में उनका प्रयोग किया जा सके। नाविको व गोाताखेर का मोबाइल नम्बर व नाम भी उप जिलाधिकारी को उपलब्ध करायें। जलनिगम के द्वारा जल प्लावित क्षेत्रों में पानी की निकासी की व्यवस्था के लिये अपने-अपने पम्पों की चालू रखें तथा पेयजल हेतु टैंकरों की आदि की समुचित व्यवस्था कर लें। यह भी कहा कि बाढ के तत्कल बाद गांवों में सफाई आदि की व्यव्स्था के लिये समुचित व्यवस्था करायी जाये।

जिलाधिकारी अनुरा पटेल ने कहा कि बाढ प्रभावित लोगों के लिये तत्कल बाढ राहत के लिये जिला पूर्ति अधिकारी सम्बंधित उप जिलाधिकारी से समन्वय स्थापित करते हुये खद्यान, आंटा, चावल, लाई, चना, गुड, नमक, दिया-सलाई, मोमबत्ती, मिट्टी का तेल, डीजल इत्यादि व अन्य जीवन उपयोगी आवश्यक वस्तुओं को अभी से ही आरिक्षत कर लें ताििक प्रभावित क्षेत्रों में तत्कल राहत पहुॅचायां जा सके। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि पशुओं को सुरक्ष्तिा स्थनों पर पहुॅचाने के लिये आश्रय स्थल का चिन्हांकन पहले से ही कर लें तथा उनके लिये चारा, पेयजल, आवश्यक दवायें आदि का भण्डारण पहले से ही कर लें। इसी प्रकार फसलों व मकानों व अन्य नुकसान क्षति का आंकगन के लिये जिला कृषि अधिकारी, राजस्व विभाग पूर्व से ही व्यवस्था सुनिश्चत किये रहे तथा शांति व्यवस्था के लिये पुलिस अधीक्षक सभी बाढ चैकियों, राहत केन्द्रों, बाढ शरणालयों पर पर्याप्त पुलिस व पी0ए0सी0 व वायर लेस सेट की व्यवस्था करगें। मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया िकवे जीवन रक्षक दवायें, मोबाइल चिकित्सा दल, बाढ चैकियो पर फस्ट ऐड व स्वास्थ्य विभाग के कर्मी के अलावा सभी प्राथमिक चिकित्सालयों पर पर्याप्त मात्रा में दवाइयों के साथ चिकित्साकों की उपस्थित रहेगी। खोज व बचाव कार्य सम्बन्धी उपकरणों पर विचिार विमर्श किया गया तथा कहा गया कि बाढ आने से कैपसिटी बिल्डिंग प्रोग्राम के अन्तर्गत खेाज व बचाव सम्बन्धित उपकरण तथा सर्चलाइट, लाइफ जैकेट, मेंगा फोन, फोल्डेबुल स्ट््रेचर, फस्ट एण्ड किट, सेफ्टी हेलमेट, फायर एक्सब्निग्यूसर, जरीकेन आदि जनपद के तहसीलदार मीरजापुर एवं चुनार व्यव्सथा पहले से सुनिश्चित करेगें। इसी प्रकार विद्युत विभाग विद्युत आदि की आपूर्ति की समस्त व्यवस्थायें सुनिश्चित करायेगें। जिलाधिकारी ने कहा कि सम्भावित बाढ के दृष्टिगत सभी अधिकारी सभी व्यवस्थायें आगामी 15 जून के पूर्व तैयारी पूण कर लें तथा उसकी सूचना लिखित रूप से सिंचाई विभाग को उपलब्ध कराये तथा अधिशासी अभियन्ता सिंचाई सम्बंधित कार्यो का एक बुकलेट तैयार कर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व को 15 जून के पूर्व उपलब्ध करायेगें। उन्होंने कहा कि इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

इस अवसर पर जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि जनपद में कुल 10 नदियाॅं हैं जिसमें से मुख्य नदी गंगा नदी तथा शेष 09 छोटी सहायक नदियां है, जिसमें लालगंजतहसील अन्तर्गत में बेलन नदी, बकहर नदी, अदवाॅं नदी, धोरी नदी तथा सुखनर्द नदी है। चुनार तहसील अन्तर्गत जरगो, गरई तथा पहिती नदी, मडिहान तहसील अन्तर्गत खजुरी नदी एवं सदर व चुनार अन्तर्गत गंगा नदी बहती है। अधिशासी अभियन्ता सिंचाई ने बताया कि जनपद मीरजापुर में बाढ से दो तहसील सदर व चुनार तथा विकास खण्ड सिटी, कोन, छनवे, मझंवा, सीखड व नरायनपुर प्रभावित होतें हैं। गंगा नदी के खतरे का निशान बिन्दु 77 दशमलव 724 मीटर है। उन्होंने बताया कि जनपद में कुल 37 बाढ चैकियों की खाली जायेगी जिसमें कर्मचारियों की ट्यूटी 24 घंटे के लिये लगायी जायेगी। यह भी जिला स्तर पर बाझ नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गयी है जिसका दूरभाष नम्बर 05442-256552 कलेक्ट््रेट मीरजापुर तथा दूसरा नम्बर05442-252589 जो सिंचाई विभाग, सिंचाई कालोनी फतहां मीरजापुर में स्थित है। तीन शिफ्ट में लगाये गये सिंचाई विभाग कर्मचारियों में एक जूनियर इंजीनियर, एक तारबाबू, एक लिपिक, दो चपरासी, दो धावक तथा राजस्व विभाग या विकास विभाग के अधिकारी/कमर््ाचारी भर रहेगें। खोले गये बाढ चैकियों में चुनार तहसील अन्तर्गत विकास खण्ड जमालपुर में डेडुवा, सेमइबारी, बहुआर, बौडी, विक्सी, डबक तथा विकास खण्ड सीखड में पसियाही, डोमनपुर, खैरा, रामगढ कलाॅं, सीखड, मगरहां तथा मुदनीदीपुर, विकास खण्ड नरायनपुर में संस्कृत विद्यालय चुनार, जमालपुर माफी, बगाही, गांगपुर, भवानीपुर, नकहरा, पटेवरा, दर्श, शेरपुर इसी प्रकार तहसील सदर के विकास खण्ड छानवे में श्री निवास धाम, जोपा, बबुरा, अकोढी, विन्ध्याचल विकास खण्ड कोन अन्तर्गत तिलठी, चील्ह, शहर में नेवढियां व भटौली घाट तथा तहसील मुख्यालय, विकास खण्ड पहाडी में सिंधेरा घाट व कनौरा घाट तथा विकास मझंवा में कछंवा तथा जलालपुर में बाढ चैकियों को खोलेने की कार्यवाही की जा रही है जो समय रहते पूर्ण करा लिये जायेगें। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी यू0पी0सिंह, उप जिलाधिकारी सदर गौरव श्रीवास्तव, चुनार सत्यप्रकाश सिंह, क्षेत्राधिकारी चुनार संजय सिंह, सदर सुधीर कुमार, जिला विकास अधिकारी ए0एल0 मिश्र, जिला पूर्ति अधिकारी, अपर मुख्य अधिकारी, अशिशासी अभियन्ता सिंचाई, जलनिगम, लोक निर्माण विभाग विद्यूत आदि सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं