समाचारअराजक तत्वों व प्रशासन के निशाने पर हो जाने की वजह से...

अराजक तत्वों व प्रशासन के निशाने पर हो जाने की वजह से पत्रकारिता जोखिम भरा-VIRENDRA GUPTA

9453821310-मिर्जापुर के पत्रकारों ने जिलाधिकारी मिर्जापुर अनुराग पटेल का पत्रकारिता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में जोरदार स्वागत व अभिनंदन किया । 30 मई 2019 को पत्रकारिता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने अपने कार्यों से मिर्जापुर का नाम आसपास के जनपदों की तुलना में नाम रोशन किया था |पत्रकार वीरेंद्र गुप्ता ने बताया कि मिर्जापुर जिलाअधिकारी के द्वारा जोखिमभरा होने के बावजूद भी नाव की रैली निकाली गई थी जिसमें मतदाता जागरूकता के लिए हजारों की संख्या में लोगों को नाव पर बैठाकर गंगा नदी के किनारे रहना वाले मतदाताओं को जागरूक करने के लिए एक अभियान चलाया गया था जो अत्यंत जोखिम भरा था लेकिन उनका ये प्रयाश सफल रहा था जिसके परिणाम स्वरुप पिछली चुनाव से बेहतर मतप्रतिशत मिर्ज़ापुर में आया था | बेहतर मतदान प्रतिशत के पीछे जिलाधिकारी के द्वारा विभिन्न अभियान जिसमे बाइक रैली के साथ साथ ग्रामीण और जंगली क्षेत्र जैसे दुर्गम पहाड़ी इलाकों में भी महिलाओं ने मतदाताओं को जागरूक करने के लिए अपने सिर पर घड़ा लेकर जिलाधिकारी के निर्देश पर निकली थी |इन सब तमाम कार्यक्रमों की वजह से भी मिर्जापुर के पत्रकारों ने जिलाधिकारी को विशेष सम्मान दिया गया |
मिर्जापुर 30 मई को मनाया जाने वाला हिंदी पत्रकारिता दिवस हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी बड़े ही धूमधाम से मिर्जापुर में विंध्य प्रेस क्लब मिर्जापुर के तत्वाधान में जिला पंचायत सभागार कक्ष में संपन्न हुआ। जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में अपना महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले हर क्षेत्र से भी लोग पत्रकारिता दिवस को मनाने के उद्देश्य से पत्रकारों के साथ विचार विमर्श किए। विंध्य प्रेस क्लब की स्थापना 2010 में मिर्जापुर में की गई थी जो समय-समय पर पत्रकारों की समस्याओं को उठाता रहता है। इस संगठन को पत्रकारों से संबंधित हर स्तर के मामलों का निस्तारण भी कराने का प्रयास करते रहने का अनुभव प्राप्त है।विंध्य प्रेस क्लब के संस्थापक अशोक कुमार सिंह मुन्ना के बेहतर एवं कुशल नेतृत्व के चलते पत्रकारों ने बड़े ही धूमधाम से पत्रकारिता दिवस मनाया। वीरेंद्र गुप्ता ने भी पत्रकारिता दिवस पर संबोधित करते हुए कहा कि आज के दौर में पत्रकारिता को निष्पक्ष बने रहने में तमाम चुनौतियों का सामना करना पड़ता है जहां भ्रष्टाचारियों माफियाओं व अराजक तत्वों के निशाने पर पत्रकार हमेशा से रहा है तो वहीं आज के दौर में प्रशासन के निशाने पर भी पत्रकार को हो जाने की वजह से पत्रकारिता और भी जोखिम भरा हो गया है।वीरेंद्र गुप्ता ने एक घटना को याद दिलाते हुए कहा कि कुछ दिन पूर्व मिर्जापुर देहात कोतवाली थाना क्षेत्र के बल्हारा मोड़ पर मर्डर हो जाने के बाद आक्रोशित ग्रामीण व पुलिस के बीच झड़प की घटना पर खबर कवरेज करने गए इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकारों के साथ जहां क्षेत्र की जनता ने पत्थरबाजी की थी वहीं पुलिस के लोगों ने भी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के कैमरे को निशाना बनाया था और कवरेज न करने की हिदायत दी थी ऐसी स्थिति को अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए पत्रकारों को आगाह किए जाने की बात भी कही ,कहा कि ऐसी विषम परिस्थिति में भी हर संभव निष्पक्ष व निर्भीक पत्रकारिता आज मिर्जापुर के पत्रकार कर रहे हैं ।इस घटना में मिर्जापुर के एडिशनल एसपी के घायल होने की भी घटना हुई थी जिसके बाद इलाके में जमकर पुलिस ने स्थानीय ग्रामीणों के खिलाफ कार्रवाई भी की थी । इन तमाम जोखिम के बावजूद भी आज भी पत्रकारिता निष्पक्ष और निर्भीक बनी हुई है। वीरेंद्र गुप्ता ने कहा की जितनी भी बाधाएं पत्रिका में आती है उससे पत्रकारों को और ऊर्जा मिलता है जिससे पत्रकारिता निखरती है ।मिर्जापुर जिला अधिकारी अनुराग पटेल ने भी अपने संबोधन के दौरान कहा कि पत्रकार हमेशा से ही शासन-प्रशासन और समाज को आईना दिखाने का काम करता रहता है ।पत्रकारों से हमेशा अपेक्षा रहती है कि कहीं भी किसी भी कारणवश यदि प्रशासन के कार्यों में कमी हो तो उसको उजागर करें और शायद पत्रकारों के सार्थक आलोचना से जहां ऊर्जा मिलती है वही मीडिया के माध्यम से सटीक जानकारी मिल जाती है जिससे शासन की मंशा के अनुरूप कार्य को गति देने व दिशा देने का काम भी मीडिया के माध्यम से सरलता से हो जाता है। अखबार , इलेक्ट्रॉनिक चैनल और सोशल मीडिया से जो भी जानकारी मिलती है उससे सही और सटीक समय पर कार्य करने में भी काफी सहूलियत मिलती रहती है। जिलाधिकारी ने पत्रकारों के कार्यों को चुनौतीपूर्ण बताते हुए कहा कि वैसे तो हर क्षेत्र में चुनौती है लेकिन किसी क्षेत्र में कम तो किसी क्षेत्र में ज्यादा है ।सीमित संसाधन के बावजूद पत्रकार इतनी मेहनत से दिन रात समाचार की प्रति प्रतिबद्धता और अनवरत समाचार उपलब्ध कराने रहने की मेहनत को सराहा । जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी माध्यम की पत्रकारिता हो चाहे वह इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का हो प्रिंट मीडिया या सोशल मीडिया का हो सभी अपने-अपने क्षेत्र में अति महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं । पत्रकारों के अथक प्रयास और सीमित संसाधन के बावजूद भी बिना जानकारी व समाचारों का निरंतर मिलते रहना अत्यंत दुर्लभ और सहज भी है। जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती माता के मूर्ति पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित किया उसके बाद तमाम वक्ताओं ने पत्रकारिता दिवस पर अपने अपने विचार रखें। इसमें संतोष कुमार श्रीवास्तव,सतीश रघुवंशी, मनोज दिवेदी, प्रभात यादव ,देव गुप्ता ,राजेश कुमार मिश्रा एडवोकेट, विमलेश अग्रहरि ,लल्लू तिवारी कर्मचारी यूनियन संघ के नेता, बालाजी ,ओम शंकर गिरी, अभय मिश्रा ,अनुपम श्रीवास्तव ,सैयद वसीम रिजवी, जेपी पटेल योगेंद्र प्रताप सिंह , नितिन अवस्थी,बबलू रत्ना,अजय दुबे , राजू सिंह ,अश्वनी उपाध्याय, घनश्याम ओझा, मंगला पति द्विवेदी ,जयप्रकाश दुबे ,अनुज श्रीवास्तव के अलावा अन्य दर्जनों पत्रकार भी मौजूद थे। मिर्जापुर जिले में पत्रकारिता के क्षेत्र में निर्भीक व निष्पक्षता के साथ समाचार संकलन करने में जिलाधिकारी ने कुछ पत्रकारों को सम्मानित भी किया जिसमें वीरेंद्र गुप्ता मिर्ज़ापुर न्यूज़ डॉट कॉम के एडिटर इन चीफ को सम्मानित किया। आकाश दुबे, विमलेश अग्रहरि ,समीर वर्मा ,,व कार्यक्रम के बेहतर संचालन के लिए अशोक सिंह मुन्ना को भी जिलाधिकारी ने माल्यार्पण कर व स्मृति पत्र देकर सम्मानित किया ,तो वही दर्जनों पत्रकारों ने भी जिलाधिकारी का माल्यार्पण कर स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं