समाचारक्या जानवर क्या मानव सब एक ही सोता पर पानी पीते है...

क्या जानवर क्या मानव सब एक ही सोता पर पानी पीते है -VIRENDRA GUPTA

MIRZAPUR-दो फ़ीट के संत २२ हाथ का जंगली नेउर इस घनघोर जंगल की खासियत ?
जब प्यास लगती है तो जंगल भी सारी दूरियां मिटा देता है । क्या गरीब क्या अमीर क्या जाति क्या उपजाति क्या जानवर क्या मानव सब एक ही सोता पर पानी पीते है ।मिर्जापुर मड़िहान थाना क्षेत्र के अंतर्गत झूरि ग्राम सभा में पड़ने वाला यह स्थान पहाड़ों और जंगलों के मध्य झूरी नर्सरी के नजदीक है। पानी का यह स्रोत जंगल में आए तमाम वनवासियों का प्यास बुझाने का एक मुख्य साधन बन चुका है ।ग्रामीणों ने बताया कि यहां कई बार उन लोगों ने जंगली खतरनाक जानवरों को भी पानी पीते देखा है । ग्रामीणों ने बताया कि जब हम सब जंगल में घूमते घूमते प्यासे हो जाते हैं तो यही पानी हम लोगों का जीवन दायनी हो जाता है ।कई वर्षों से इस पानी का सेवन करते ग्रामीणों ने बताया कि यह पानी स्वास्थ्यवर्धक है ।जबकि यह पानी देखने मात्र से हाथ धोने की भी इच्छा नहीं होती । मगर इसको एक प्यासे की आवश्यकता कहें या अंधविश्वास कहें या अज्ञानता की ,जो जल देखने मात्र से दूषित और प्रदूषित प्रतीत होता हो उस जल का सेवन बड़े चाव से यह ग्रामीण करते है। हालांकि इस पानी के स्रोत पर कुछ ग्रामीणों ने दंत कथाओं को भी विस्तार से बताया मान्यता के मुताबिक जल का सेवन लाभप्रद मानते चले आ रहे लोग पानी के रंग और उसके रखरखाव पर ध्यान नहीं देते।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं