समाचारपानी की टंकी फर्जी टंकी साबित हो रही है -मिर्जापुर

पानी की टंकी फर्जी टंकी साबित हो रही है -मिर्जापुर

*उदासीनता का शिकार आही में बनी पानी की टँकी,नौ वर्षो से डेमो के रूप में खड़ी*
*********
कितना भी फरमा दो योगी जी आप फरमान,सरकारी तंत्र सुधरने वाली नही है…..?????

*करोड़ो की लागत से बनी पानी की टंकी बनी शोपीस पेयजल संकट से जूझ रहे ग्रामीण*

*भीषण गर्मी में पेयजल के लिए हो रही मारामारी, सफेद हाथी साबित हुई त्वरित पेयजल योजना*

*आधा दर्जन से अधिक गाँवो में छाया पानी का संकट,सैकड़ो घरों में पेयजल को तरस रहे लोग*

*मिर्जापुर/-सरकारी तंत्र की उदासीनता के कारण मझवा विकास खण्ड के आही गांव में करोड़ो रुपयों की लागत से बनी पानी की टंकी शो-पीस बनी है।ग्रामीणों को पेयजल की बेहतर सुविधा देने के उद्देश्य से वर्ष 2009 में ग्राम पंचायत द्वारा टंकी का निर्माण कराया गया था।लगभग इस टंकी से छह माह तक पानी की आपूर्ति सुचारू रूप से होती रही। लगभग छह माह बाद पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण आपूर्ति रोक दी गई।अधिकारियों ने क्षतिग्रस्त पाइप लाइन की मरम्मत कराने की सुध नहीं ली।इस कारण विगत नौ वर्ष से टंकी से पानी की आपूर्ति चालू नहीं हो पाई है।अधिकारियों की लापरवाही के चलते ग्रामीण पेयजल के लिए मोहताज है। पेयजल के लिए सरकारी हैंडपंप पर सुबह से ही महिलाओं की लाइन लग जाती हैं।*

*करीब 11 हजार की आबादी वाले गांव आही में पानी की मात्र एक टंकी है,जो वर्तमान समय मे शो-पीस बनी हुई है।नौ वर्ष तक पाइप लाइन की मरम्मत नहीं किए जाने के बाद रास्ते में सीमेंट की सड़क बना दी गई है।अब यदि पाइप लाइन की मरम्मत कराई जाती है तो सड़क को तोड़ना पड़ेगा। इससे सड़क बनाने में लगा धन बर्बाद हो जाएगा।यदि मरम्मत नहीं की जाती है तो इस वर्ष भी ग्रामवासी पेयजल की किल्लत झेलने को मजबूर रहेंगे।करीब दस वर्ष पूर्व पानी की टंकी का निर्माण हुआ था।कुछ दिन चलने के बाद पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण पानी की आपूर्ति रोक दी गई।तभी से ग्रामीण पेयजल का संकट झेल रहे हैं।*
*विदित हो कि अनुप्रिया पटेल का संसदीय क्षेत्र होने के बाद भी सरकारी तंत्र बन्द पड़े पानी के टँकी को सुचारू रूप से मरम्मत कराकर जलापूर्ति बहाल कराने को मुनासिब नही समझ रहे है।ग्रामीणों का आरोप रहा कि जनता जल के लिए त्राहिमाम ,त्राहिमाम कर रही है और कोई भी जनप्रतिनिधि अभी तक इस मामले में सजगता नहीं दिखाई है।ग्रामीणों ने सरकारी तंत्र को खुली चेतावनी दी है कि अगर समय रहते बन्द पड़े पानी के टँकी को मरम्मत कराकर भीषण गर्मी में सुचारू रूप से चालू नही किया गया तो हम लोग कलेक्ट्रेट मिर्जापुर के समक्ष ब्यापक विरोध-प्रदर्शन के साथ साथ अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल करने को बाध्य होंगे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं