समाचार15 अगस्त तक मिल सकता है जनपद को हेलीकाप्टर व वाटर गेम्स-MIRZAPUR

15 अगस्त तक मिल सकता है जनपद को हेलीकाप्टर व वाटर गेम्स-MIRZAPUR

पर्यटन क्षेत्रों के विकास मण्डलायुक्त ने बनाया कार्य योजना

सब सही रहा तो 15 अगस्त तक मिल सकता है जनपद को हेलीकाप्टर व वाटर गेम्स

मीरजापुर, 17 जुलाई, 2019- सब कुछ ठीक रहा तो जनपद में पर्यटन स्थलों के भ्रमण के सैलानियों के भ्रमण के लिय हेलीकाप्टर सेवा तथा वाटर गेम्स की सूविधा उपलब्ध हो सकती है। जनपद मीरजापुर के पर्यटन् क्षेत्रों में विकास व उसके सुन्दरीकरण तथा पर्याप्त मात्रा में सफाई आदि के लिये आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल आनन्द कुमार आज अधिकारियों की बैठक कर पर्यटन स्थलों को विकसित करने का निर्देश दिया। आयुक्त ने कहा कि स्थानीय स्थर पर मौजूद संसाधनों में ही पर्यटन स्थलों का विकास कराया जाये ताकि वहां ताकि जनपद में सैलानियों की संख्या में बढोत्तरी हो सके। उन्होंने प्रदेश से उत्तराखण्ड के अलग होने से जनपद मीरजापुर-सोनभद्र में ही अधिकांश फाल्स, झरने व वन क्षेत्र में हिस्सा अवशेष रह गया है, जहां पर आस-पास के जिलों से भारी संख्या में प्यैटक आते हैं। उन्होंने यदि पर्यटक स्थलों की सफाई तथा वहां पर आवागमन के साधन तथा सुरक्षा प्रदान की पर्यटकों की संख्या में बढोत्तरी हो सकती हैं और जनपद मीरजापुर को प्रदेश के मानचित्र पर पर्यटन स्थल के रूप में दर्शाया जा सकता है। इस दौरान मण्डलायुक्त ने कहा कि सबसे पहले सिद्धनाथ की दरी, लखनिया दरी, टाण्डाफाल, विन्डमफाल, सिरसी व जरगों को चिन्हित कर उसकी सफाई के लिये व्यवस्था की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि वहां पर पर्याप्त मात्रा में सफाई व्यवस्था के लिये जिलाधिकारी के नेतृत्व में एक सोसाइट का गठन किया जाये तथा आने वाले पर्यटकों से कुछ प्रवेश शुल्क लगाया जाये ताकि उसी पैसे वहां की सफाई व अन्य व्यवस्था की जा सकसे। मण्डलायुक्त ने कहा कि जिलाधिकारी मीरजापुर सोसाइटी के गठन के लिये बाइलाज तैयार कर रजिस्ट्ेशन कराये ताकि वहां पर इसी सीजन में पर्य्रटकों को सुविधा प्रदान किया जा सके। यह बताया गया कि सोसाइटी में जिस गांव में सम्बंधित पर्यटक स्थल पड रहा हो जिलाधिकारी के विवेकाधिकार के अनुसार वहां के ग्राम प्रधान तथा एक-दो स्थानीय ऐसे गणमान्य नागरिक को शामिल किया जाये जो इस क्षेत्र में कार्य करने के लिये इच्छुक हो। इसी तरह से धरे-धीरे जनपद अन्य पर्यटक स्थलों को भी शामिल किया जायेगा। उन्होंने प्रमुक्ष उक्त छ‘ स्थलों पर पार्किक व दुकानों को भी आवंटित किया जाये दुकान के आस-पास जो व्यक्ति दुकान का ठेका लेगा उसकी जिम्मेदारी होगी कि वहांपर सफाई रहे अन्यथा दुकान निरस्त किया जा सकता है। यह कहा कि गया पर्यटक स्थलों में प्रवेश के लिये अधिकतम 20 रू0 प्रति व्यक्त् ितथा बाटी चोखा बनाने वालों से अधिकतम 50 रू0 प्रति ग्रुप निर्धारित निर्धारित किया जाये उसी पैसे से वहां की सफाई सोसाइटी के द्वारा नामित कर्मचारी के द्वारा किया जायेगा। आयुक्त ने यह भी कहा कि जिस विभाग के अन्तर्गत जो पर्यटक स्ािल आ रहे वे वहां पर एक स्थान चिहिन्त करें जहां पर आने वाले लोग बाटी-चोखा आदि बना सके ताकि पूरे पर्यटक स्थल पर गन्दगी न होने पाये। स्थलों पर जगह-जगह साइलेज बोर्ड लगाये जाये। आयुक्त ने प्रभागीय वनाधिकारी को निर्देशित किया कि उनके द्वारा लखनिया दरी से चूना दरी तक पैदल पहुॅच मार्ग बनायेगे और यह कार्य 31 जुलाई तक किसी भी दशा में पूर्ण करा लिया जाये। आयुक्त ने कहा कि एक अगस्त को वे स्वयं, डीआईजी, जिलाधिकारी, मुख्यवन संरक्षक, पुलिस अधीक्षक के साथ उसी रास्ते से पैदल चलकर चूना दरी तक जायेगें। इसी प्रकार चुनार किला पर सफाई व अन्य व्यवस्थायें रने का निर्देश दिया गया। यह भी कहा कि वाराणसी, तथा इलाहाबाद से आने वाले प्रमुख मार्गो पर भी सडकों पर साइनेज बोर्ड में प्र्यटक स्थल का नाम व दूरी किलोमीटर में लिखने के साथ ही उस प्र्यटक स्थल का चि़त्र भी लगाया जाये। क्षेत्रीय पय्र्रटन अधिकारी वाराणसी/मीरजापुर मण्डल ने बताया कि सिरसी में वाटर गेम्स बनाये जाने के लिये कार्ययोजना तैयार की गयी है जिला प्रशासन की अनुमति के बाद तत्कल कार्य प्रारम्भ्। किया जा सकता है जिस पर आयुक्त ने कहा कि जिले स्तर पर जिस अधिकारी से अनुमति लेनी हो अवगत करायें तत्कल अनुमति प्रदान करायी जायेगी। इसी प्रकार क्षेत्रीय प्र्यटन अधिकारी ने कहा कि मथुरा के तर्ज पर लखनिया दरी, सिद्धनाथ की दरी, सिरसी, जरगो, विग्डम, टाण्डाफाल व विन्ध्यवासिनी देवी, काली खेह व अष्टभुजा तक हेलीकाप्टर चलाने की अनुमति प्रदान की जाती है मथुरा में चलाने वाले कार्यदायी संस्था से उनके द्वारा वार्ता कर ली गयी है, जिला आयुक्त ने कहा कि उनके साथ तीन के अन्दर बैठक कराकर कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत किया जाये। आयुक्त के जानकारी करने पर क्षेत्रीय प्र्यटन अधिकारी ने कहा कि 15 अगस्त तक हेलीकाप्टर सेवा प्रारम्भ की सकती है आयुक्त ने कहा कि तत्कल कार्यवाही प्रारम्भ करें ताकि 15 अगस्त को उसका उद्घाटन किया जा सके। क्षेत्रीय प्य्रटन अधिकारी ने बताया कि हेलीकाप्टर से पर्यठटक स्थलों पर भ्रमण करने के लिये दो हजार रू0 प्रति व्यक्ति का किराया जायेगा।क्षेत्रीय प्र्यअन अधिकारी 15 अगसत तक चाले कराने का आश्वासन दिया। मण्डलायुक्त ने सिंचाई विभाग, वन विभाग तथा जिला पंचायत विभाग को निर्देशित किया कि उनके विभाग के जो भी गेस्ट हाउस हो उसका मरम्मत एक सप्ताह के अन्दर करा लिया जाये। इस अवसर पर जिलाािकारी मीरजापुर अनुराग पटेल ने आयुक्त को आश्वस्त किया पर्यटन स्थलों के बढावा के लिये जो भी सहयोग होगा उनके द्वारा प्रदान किया जायेगा। बैठक में डी0आई0जी0 पीयूश श्रीवास्तव ने कहा कि प्रत्येक दपरोक्त सभी छः पय्र्रटक स्थलों दो-दो होमगार्ड शिॅ्टवार लगाया जाये जिसकी सूचना थाने पर भी दी जाये ताकि उसकी निगरानी सम्बंधित थानाध्यक्ष के द्वारा कराया जा सके। इस अवसर पर अपर आयुक्त सूर्यमणि लालचन्द, मुख्य वन संरक्षक, अधीक्षण अभ्यिन्ता सिंचाई,क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी, अपर मुख्य अधिकारी ,जिला पंचायत राज अधिकारी सहित सभी सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं