समाचारविद्युत भण्डारण खण्ड कार्यालय व ट्रांसफार्मर वर्कशाप का डी0एम0 ने किया आकस्तिक...

विद्युत भण्डारण खण्ड कार्यालय व ट्रांसफार्मर वर्कशाप का डी0एम0 ने किया आकस्तिक निरीक्षण-MIRZAPUR

चार घंटे तक चलता रहा निरीक्षण, अधिशासी अभियान्ता की लापरवाही पर डी0एम0 ने लगायी कडी फटकार व स्पष्टीकरण

अपने कार्यालय में बैठे रहे डी0एम0 के बात करने के बाद भी नही आये निरीक्षण कराने

09 अपुस्थित अधिकरियों/कर्मचारियों का वेतन रोकने का निर्देश-पूरे माह रजिस्टर पर हस्ताक्षर नहीं

ट्रांसफार्मर वितरण में बडी लापरवाही-वरीयता क्रम पर नहीं दिया जा रहा है

जिलाधिकारी अनुराग पटेल आज पूर्वाह्न 11.30 बजे पथरहिया स्थित विद्युत भण्डारण खण्ड कार्यालय पहुॅच कर गहन निरीक्षण किया इसके बाद जिलाधिकारी लगभग 01 बजे ट्रांसफार्मर वर्कशाप में भी जाकर दो स्थानों पर लगभग चार घंटे तक निरीक्षण करते रहे। निरीक्षण के लिये पहुॅचने पर जिलाधिकारी अधिशासी अभ्यिान्ता के बारे में जानकारी करने पर बताया गया कि बगल लगभग 400 मीटर की दूरी पर उनका कार्यालय है जहां पर वे बैठते हैं, जिलाधिकारी ने स्वयं मोबाइल पर उनसे उनके कार्यालय का निरीक्षण करने की जानकारी दी गयी फिर भी अधिशासी अभ्यिान्ता डी0एन0 प्रसाद वहां नहीं आये, पुनः जिलाधिकारी द्वारा उस कार्यालय के कर्मचारियों का उपस्थिति रजिस्टर अपने अर्दली को भेजकर मंगाया गया फिर भी उनके द्वारा रजिस्टर तो दे दिया गया परन्तु वे स्वयं जिलाधिकारी के पास अपने कार्यालय का निरीक्षण करने नहीं आये, जिलाधिकारी स्टार का निरीक्षण के दौरान जब उनकी जरूरत पुनः पडी तो अपने होमगार्डा को अर्दली के साथ निर्देशित किया गया कि उन्हे पकड कर लाये, तो लगभग एक से सवा घंटे के बाद वे जिलाधिकारी के पास मिलने आये। जिस पर जिलाधिकारी के पूछने पर उनके द्वारा बताया गया कि जरूरी काम निपटा रहे थे। स्टार में बेमरम्मत सामानें की देख, गन्दगी से सम्बन्धित सामानों को पानी जंग लगते देख जिलाधिकारी ने जब पूछा वे अनाप सनाप जबाब देने पर जिलाधिकारी द्वारा कडी फटकार लगायी गयी। निरीक्षण के दौरान यह भी पाया गया कि अधिशासी अभियन्ता के द्वारा अभी कि अपने कार्यालय का निरीक्षण नहीं किया गया है और न ही किसी रजिस्टर पर निरीक्षण आख्या दर्ज की गयी है। इसी प्रकार उपस्थित रजिस्टर के निरीक्षण के दौरान पंचदेय श्रमिक व राजेश कमुार कम्प्यटर आपरेटर उपस्थित पाये, मनीश कुमार श्रीवास्तव स्टार कीपर, अनुपस्थित रहे तथा रजिस्टर में हस्ताक्षर नहीं किया गया, निरीक्षण की सूचना पर लगभग एक घंटे बाद वे भी कार्यालय पहुचे। सहायक अभियन्ता अवघेष कुमार यादव भी अनुपस्थित पाये गये, इन सभी का कोई अवकाश प्रार्थना पत्र भी नही था। इन सभी अधिकारियों/कर्मचारियों का एक-एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया।उपस्थिति रजिस्टर का कई पन्ना फटा होने पर सम्बंधित क्लर्क को कडी फटकार लगायी गयी। अधिशासी अभ्यिान्ता से स्पष्टीकरण की मांगी की गयी।

स्टाक रजिस्टर का निरीक्षण

जिलाधिकारी अनुराग पटेल द्वारा अपने निरीक्षण के दौरान स्टाक पेयजल योजना रजिस्टर का निरीक्षण किया गया। जिसमें पाया गया कि 10 के0वी0ए0 के दो ट्रांसफार्मर , है।, आल्ड एंड यूज एवं रिपेयरिंग व री रिपेयरिंग में निल दिखाया गया है। इसी प्रकार 25 के0वी0.ए0 क्षमता के 29 उपलब्ध ट्रांसफार्मर तथा ओल्ड एंड यूज व रिपेयरिंग में निल, 16 के0वी0ए0 के 156, 63 के0वी0ए0 के 07, 100 केवीए के 24, 250 केवीए के 38 तथ 400 केवीए के 10 ट्रांसफार्मर पाये गये जिसमें 01 री रिपयेरिंग के लिये हैं। 630 केवीए के नया व रिपेयरिंग के लिये एक भी नहीं पाया गया। बताया गया कि नये योजना की कोई ट्रांसफार्मर की डिमांड नहीं की गयी है। निरीक्षण के दौरान 5000 विृद्युत पोल रजिस्टर में चढ़ा पाया गया। बताया गया कि 03 अगस्त के बाद जमा योजना में कोई पोल ईशू नहीं किया गया। बताया गया कि सामान्य योजना के तहत जुलाई के प्रथम सप्ताह के बाद कोई पोल इशू नहीं किया गया वर्तमान में रजिस्टर पर पाया गया दिनांक 25 जुलाई को क्लोज्रिग के समय 5924 तथा दिनांक 26 को 5924 पोल दर्ज्र किया गया है, जिसमें साढ़े आठ मीटर, 09 एवं 11 मीटर के पोल सम्मििलत है। तार वैलेन्स रजिस्टर का निरीक्षण किया गया जिसमें बीजर कउन्डेटर (खुला तार) 50.471 किलोमीटर की लम्बाई, व बन्द तार एवीसी नार्मल 0.034 किलोमीटर व 4.193 किलोमीटर दर्ज पाया गया। स्टर राड सहित अन्य विद्युत कार्य में प्रयोग होने वाले सामानों का रजिस्टर देखा गया। जहां पर अधिशासी अभिन्यन्ता बैठते हे। वहां के रजिस्टर का निरीक्षण किया जिसमें मनीश कुमार गुप्ता स्टोर कीपर दिनांक से 26 अगस्त तक, नीरज कुमार गौतम लिपिक 19 अगस्त से 26 अगस्त तक, रमाशंकर विश्वकर्मा बडे बाबू दिनांक 01 अगस्त से 26 अगस्त तक तथा मनीश यादव लिपिक दिनांक 23 अगस्त से 26 अगस्त 2019 तक, विवेक वर्मा क0लि0 दिनांक 08 अगस्त से 26 अगस्त तक, गायत्री शिविर सहायक दिनांक 14 से 26 तक अगस्त तक, सहायक अभियन्ता अभिषेक कुमार दिनांक रजिस्टर में हस्ताक्षर नहीं बनाया गया है तथा जे0ई0 तरूण कुमार के द्वारा दिनांक 19, 20, से लेकर 26 अगसत तक हस्ताक्षर नहीं बनाया गया है जब कि जे0ई0 और सहायक अभियन्ता मौके पर अनुपस्थित पाये गये, जिलाधिकारी सभी का अनुपस्थित दिनों का वेतन काटने का निर्देश देत हुये सभी रजिस्टरों का जब्त कर अपने स्टेनों शेर अली को सुपुर्द करते हुये कहा कि सभी निरीक्षण आख्या बनाने के बाद भेज दिया जाये। इसके अलावा टृ्रेनी सी 0डी0ओ0 संजय कुमार, मयंक वर्मा तथा संजीय कुमार के द्वारा विगत एक माह से रजिस्टर में हस्ताक्षर नहीं किया गया है तथा मौके पर अनुपस्थित रहे। इन सभी के विरूद्ध भी कार्यवाही करने का निर्देश दिया गया।

अघिशासी अभ्यिान्ता वर्कशाप को वर्करों के साथ वर्कशाप में ही एक घंटे तक खडा कराया

जिलाधिकारी जब दोनो ट्रांसफार्मर के मरम्मत वर्कशाप में जाकर निरीक्षण किया गया तो उसमें वेल्डिंग कटिंक का कार्य कर रहे मनोज कुमार,, बाइडिंग मैकेनिंग विजय कुमार, प्रकाश मौर्य तथा सुनील कार्य करते हुये पाये गये ये सभीने बताया कि दैनिक वेतन पर 200 रू0 प्रति माह मजदूरी पर कार्य कर रहे हैं, वर्कशाप में गर्मी से बेहाल कर्मचारियों से जिलाधिकारी द्वारा वार्ता की गयी। वर्कशाप में कही से हवा क्रास का स्थान व खिडकी आदि नहीं बनाया गया है जिससे कारण से काफी उमस व गर्मी हो रही थी। जिलाधिकारी के पास बाद में पहुॅचे अधिशासी अभ्यिान्ता संघमित्र गौतम पहुॅचे तो जिलाधिकारी के द्वारा वर्कशाप में इक्जास्टर फैन न होन तथा कहीं से हवा आदि न निकलने की बात की जानकारी मांगी गयी जिस पर कोई जबाब न दे पाने पर जिलाधिकारीद्वारा वर्कशाप के अन्दर सभी मशीनों का चालू कराकर अधिशासी अभ्यिान्ता को लगभग एक घंटे तक वहीं खडा कराये रखा तथा बाद में निदेर्शित किया कि हवा के निकलने के लिये तत्काल स्थन बनाये। टाृसंफार्मरों के वितरण की बात की जानकारी करने पर अधिशासी अभ्यिान्ता ने रोस्टर के अनुसार वितरण की जानकारी न देकर अधिशासी अभियन्ता संघमित्र गौतम के बताया गया कि विधायक व सांसद सहित स्वंय जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी व अन्य अधिकारियों के पैरवी के कारण रोस्टर के अनुसार ट्रांसफार्मर नहीं दिया जा पा रहा है, जिलाधिकारी ने कहा कि हम तो कभी नहीं पैरवी किये ट्रांसफार्मर के लिये, तथी उसी समय विधायक नगर रतनाकर मिश्र का भी फोन किसी कार्य से जिलाधिकारी के पास आ गया तो जिलाधिकारी यही बताया कि अधिशासी अभियन्ता के द्वारा यही बताकर गोल माल किया जा रहा है और जन प्रतिनधियों को लोगों के बीच इनके द्वारा बदनाम किया जा रहा है, विधायक ने कहा कि दो साल के अन्दर टृांसफार्मर पहले देने के लिये कभी पैरवी नहीं की गयी, जिस पर जिलाधिकारी ने स्पष्टीकरण की मांग करते हुये कडी फटकार लगायी गयी तथा कार्यवाही करने की बात कहते हुये उच्चाधिकारियों को अवगत कराने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी के द्वारा पूरे स्टोर का भ्रमण किया गया

जिलाधिकारी अनुराग पटेल विद्युत भण्डार खण्ड के स्टोर/पूरे मैदान में रखे गये सामानों का निरीक्षण टहल कर किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी स्वयं झाडियो व कीचड से होते हुये स्टार का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान एक कार, एक ट्रक, एक जीप तथा एक टै्क्टर ट्राली, लगभग 10 वर्षो से सड रही है बताया गया, जिसे निष्प्रोज्य के बारे में अधिशासी अभियंता डी0एन0 प्रसाद से जानकारी ली गयी परन्तु निष्प्रषेज्य के लिये कोई कार्यवाही नहीं की गयी। इसी प्रकार विदृयुत कार्य में प्रयोग होने वाले इंगल, स्टे राड, क्रास आर्म, सी0टी0पी0टी0पार्ट आयरन तार, आदि को देख तथा खुले व पानी में रखे जाने से जंग लग रहे है।। इसी प्रकार खराब ट्रांसफार्मरों की स्क्रेप्, तारों के स्क्रैप, लाइन इन्शूलेटर, सब स्टेशन मैटेरियल आयरन स्कै्रप कोर, वीवीसीबी पार्टस, जी0आई0 वायर, 250 केवीए,व 100 केवीए के एक-एक,, तथा अन्य क्षमता वाले कुल 232 ट्रांसफार्मर, डाक कन्डेक्टर, आदि खराब पाया गया जो सड रहे हैं। जिलाधिकारी ने कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये दोनो अधिशासी अभियन्ताओं से स्पष्टीकरण की मांग करते हुये कहा कि इनके लापरवाही के बारे में उच्चाधिकारियों को पत्राचार कर अवगत कराया जायेगा।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं