मिर्ज़ापुर नगर में स्थित हिंदू बालिका उच्त्तर माध्यमिक विद्यालय के छात्रों के परिजनों ने आरोप लगाया है कि विद्यालय में समय से अध्यापक नहीं आते जिसके चलते पठन-पाठन प्रभावित होता रहता है 12:30 बजे छुट्टी होने के बाद स्कूल की दाई सुमिता देवी ने कहा कि जैसे ही बच्चों की छुट्टी हुई सभी लोग विद्यालय से चले गए |12:45 बजे मौका मुआयना करने के बाद पाया गया कि छुट्टी के तुरंत बाद सिर्फ एक दाई के भरोसे पूरा विद्यालय खुला रहता है |इस मामले को जिला विद्यालय निरीक्षक ने गंभीरता से लेते हुए जाँच कराये जाने की बात कही है |उनका कहना था की उपस्थिति मशीन जानभूझ कर खराब की गयी या अपने आप ख़राब हुई या कब से ये मशीन खराब है इस बारे में प्रधानाचार्य से जानकारी ली जा रही है ||लोगों ने मांग किया कि विद्यालय में उपस्थिति दर्ज करने वाली इलेक्ट्रॉनिक मशीन जो पहले लगी थी वह जानबूझकर खराब कर दिया गया ताकि आने और जाने में किसी भी प्रकार की सटीक जानकारी किसी को ना होने पावे |मालूम हो कि इलेक्ट्रॉनिक मशीन हाजिरी लगाने का सबसे अचूक और सटीक मशीन माना जाता है, जिसमें कर्मचारियों के आने का समय निर्धारण होता है| यदि समय से उस मशीन पर निर्धारित कर्मचारियों का फिंगर प्रिंट नहीं लगाया जाएगा तो मशीन अनुपस्थित दर्ज कर लेते है ,इसके चलते कर्मचारियों को निश्चित समय में विद्यालय में हाजिरी लगानी होती है |और पठन-पाठन व अन्य जिम्मेदारियों का निर्वाह कर्मचारियों के द्वारा होता रहा है |लेकिन फिंगर मशीन खराब होने की दशा में आने और जाने का कोई रिकॉर्ड ना दर्ज की स्थिति में मनमाना आनी व जाने की वयवस्था चल रहा है| लोगों ने मांग किया कि विद्यालय का अंगूठा लगाने वाला उपस्थिति मशीन सही कर दिया जाए ताकि टीचरों और अन्य कर्मचारियों की उपस्थिति की जानकारी सरकार की निगरानी में बनी रहे।