समाचारबाल श्रम होने वाले कॅम्पनियों पर छापा मार कर र्कावाही करने की...

बाल श्रम होने वाले कॅम्पनियों पर छापा मार कर र्कावाही करने की आवश्यकता- जिलाधिकारी

MIRZAPUR, 24 सितम्बर, 2019- जिलाधिकारी अनुराग पटेल के अध्यक्षता में जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक कलेक्ट््रेट सभागार में आहुत की गयी। बैठक में किशोर-किशोरिंयों के सश्क्तीकरण एवं बाल विवाह रोकथाम, बेटी बचाओं-बेटी पढाओं एवं बाल सुरक्षा के लिये सभी विभागों की समन्यव बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि बाल श्रम एक अभिशाप है इसके लिये सभी लोग एक जुट होकर बाल श्रम को समाप्त करने की दिशा में कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने जिला प्रोवेशन विभग एवं पुलिस विभाग के द्वारा संयुक्त रूप से बाल श्रम होने वाले एजेसिंया/कॅम्पनियों पर छापा मार कर र्कावाही करने की आवश्यकता है। बाल विवाह के रोकथाम पर डा0 प्रीती वर्मा ने एक्सन प्लान के बारे में विस्तृत जानकारी दी। इस अवसर पर मंडलीय चिकित्सालय, जिलामहिला चिकित्सालय तथा नव स्थापित पी0पी0 माडल के चिकित्सालयों में परित्यक्त नवजात शिशुओं के चिकित्सकीय उपचार में प्राप्त कछिनाइयों कीे दूर करने पर भी विस्तृत चर्चा की गयी। इसी क्रम में कहा गया कि मुख्य चिकित्साधिकारी की अध्यक्षता में महिला रोग विशेषज्ञ तथा बाल रोग विशेषज्ञ डाक्टरों के साथ नियमित बैठक कराने का निर्देश दिया गया। बेटी बचाओं बेटी पढाओं र्काक्रम के तहत भारत सरकार को सीएसआर के आंकडे प्रस्तुत किये जाने हेतु मुख्य चिकित्साधिकारी से विचार व कार्यवाही करने का भी निर्देश दिया गया। इसी क्रम में बेटी बचाओं बेटी पढाओं कार्यक्रम के अन्तर्गत् सभी ब्लाकों तथा दूरस्थ क्षेत्रों तक पहुॅच बनाने हेतुप्रचार वाहन का भाडे पर लिये जाने पर भी चर्चा की गयी तथा तहसील, विकास भवन, कलेक्ट््रेट, सहित बेटी बचाओं बेठी पढाओं सम्बन्धी होर्डिग्ग लगाने का भी निर्देश दिया गया। सभी पुलिस थानों में नामित बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों को अपने थाना क्षेत्रों में परित्यक्त नवजात शिशुओं के पाये जाने की सूचना परत्वरित संरक्षणात्मक तथा पुलिस कार्यवाही किये जाने का भी निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के व्यापक प्रचार हेतु स्थानों का चिन्हांकन करें तथा योजना से अधिक से अधिक लोगों आच्छादित करने का भी निर्देश दिया। इसके अतिरिक्त लिांगानुपात, तथा महिला औससत साक्षरता दर पर भी विस्तृत चर्चा की गयीं। किशरियों के लिये संचालित योजना, महिला शक्ति केन्द्र योजना, वन स्टाप सेंटर, राष्ट््र किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम, मासिक धर्म स्वच्छता कार्यक्रम, साप्ताहिक आयरन फोलिक पूरक योजना, कौषल विकास कार्यक्रम, सहित महिला सशक्तिकरण एवं बाल विवाह के रोकथाम सम्बन्धी सभी कार्यक्रमों व योजनाओं पर चर्चा की गयीं।

बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0 तिवारी, डा0 प्रीती वर्मा, जिला प्रोवेशन अधिकारी डा0 अमरेन्द्र कुमार, जिला पंचायत राज अधिकारी अरविन्द कुमार, के अलावा शिक्षा विभाग व आंगनवाडी सहित बाल श्रम से सम्ब्न्धित सभी अधिकारी उपस्थित रहे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं