जिलाधिकारी अनुराग पटेल के द्वारा आज कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति एवं संचारी रोग अभ्यिान के प्रगति की समीक्षा की गयी। इस दौरान प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पडरी, सिटी, चुनार, अहरौरा, राजगढ, छानवे, सीखड, नरायनपुर, लालगंज, अरबन तथा मझंवा से जननी सुरक्षा कार्यक्रम, परिवार कल्याण कार्यक्रम, नियमित टीकरण, पीसीपीएनडीटी योजना, नियमित टीकाकरण सहित कई स्वास्थ्य योजजाओं में प्रगति कम आने पर कठोर चेतावनी देते हुये स्पष्टीकरण के निर्देश दिये गये। इसी क्रम स्वास्थ्य विभाग के लगभग सभी कार्यक्रमों में खराब प्रगति पर एमओआईसी को गुरसण्डी से हटाने का निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि अगले माह यदि किसी केन्द्र से प्रगति कम पाया जायेगा तो उसके निलम्बन के लिये शासन को पत्राचार किया जायेगा। उनहोंने प्रगति बढाने का निर्देश दिया।

इसी क्रम संचारी रोग अभियान की समीक्षा की गयी। जिसमें बताया गया कि इस अभियान के तहत प्राथमिक शिक्षा विभाग के द्वारा स्कूल रैली, प्रतिज्ञा सभा, स्कूल मेला लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत आदि कार्यक्रम कराया गया। इसी प्रकार पंचायती राज विभाग के द्वारा शौचालय निर्माण, प्रभात फेरी, ग्रामीण डाडियों की कटाई, इंडिया मार्का हेैण्ढपम्प रिबोर एवं मरम्मत, हैडपमप प्लेटफार्म का निर्माण्, ग्रामीणी नालियों की सफाई आदि कार्यक्रम सम्पन्न कराया गया। नगर पालिका के द्वारा शहरी नालियों की सफाई, कचरा निस्तारण, आदि कार्यक्रम सम्पन्न कराय गया। पशुपालन विभाग के द्वारा सुकर पालकों का संवेदीकरण, सूकरवाडों की सफाई अभियान चलाकर किया गया, बाल विकास विभाग द्वारा अति कुपोषित बच्चों का चिन्हीकरण, एनआरसी को संदर्भित किया गया, कृषि विभाग द्वारा चूहों हेतु संवेदीकरण कार्य तथा दिव्यांग कल्याण एवं समाज कल्याण विभाग द्वारा जनपद में एआईएस/जे0ई0से कोई बच्चा विकलांग नहीं हुआ हैं। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि सभी कार्यक्रमो में शत प्रतिशत कार्यक्रम सम्पन्न कराया गया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0 तिवारी के अलावा अन्य सभी चिकित्सक व अधिकारी उपस्थित रहे।