जल संचय-जीवन संचय थीम पर डी0एम0 के कार्य को सराहा

मीरजापुर, 03 अक्टूबर, 2019- राज्यपाल, राजस्थान कलराज मिश्र जनपद मीरजापुर के भ्रमण के दौरान राष्ट््रपिता महात्मा गांधी जी के 150 वी जयंन्ती के अवसर परआयोजित समारोह में जल संचय-जीवन संचय के सराहनीय कार्य के लिये जिलाधिकारी अनुराग पटेल को सम्मानित किया। जिलाधिकारी अनुराग पटेल द्वारा जल संचय-जीवन थीम पर जल संरक्षण के लिये जनपद के 126 तालाबों से जलकुम्भी निकाल जलकुम्भी मुक्ज कर सफाई की गयी थी, जिसमें स्वयं जिलाधिकारी अधिकारियों के साथ ग्राम खरहरा ग्राम पंचायत में जलकुम्भी से पटे तालाब में उतर कर लगभग चार धंटे तक तालाब की सफाई की गयी और तालाब को जलकुम्भी मुक्त किया गया। इसी दिन पूरे जनपद में जलकुम्भी से पटे तालाब का चयन कर जिलाधिकारी के पहल से जनपद के सभी अधिकारियों के द्वारा तालाबों से जलकुम्भी निकाल कर सफाई की गयी।

जल संचय-जीवन संचय अभ्यिान के इस कार्य की सराहना करते हुये गांधी जयंती के 150 वीं जयंती के अवसर पर आयोजित समारोह में राज्यपाल कलराज मिश्र के द्वारा जिलाधिकारी अनुराग पटेल को प्रशस्ति पत्र व कलश प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर राज्यपाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि जल संचय-जीवन संचय के लिये स्वयं जिलाधिकारी तालाब में उतर कर जलकुम्भी की सफाई करना व 126 तालाबों को जलकुम्भी मुक्त बनाना सराहनीय कार्य है। कहा कि जल संरक्षण करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

ज्ञातव्य हो कि जिलाािकारी द्वारा जनपद में जल संरक्षण के लिये कई सराहनीय किये गये हैं, जिसमें विगत वर्ष एक दिन 505 तालाबों की खोदाई कर जीर्णोद्वार, प्रयाग राज जनपद के माण्डा से निकल कर जनपद मीरजापुर के विकास खण्ड छानवे के 19 गांवों में बहने वाली ऐतिहासिक कर्णावती नदी का जीर्णोद्धार आदि कार्य शामिल है। इसी क्रम में जिलाधिकारी द्वारा स्व्च्छता अभियान के तहत स्वच्छता ही सेवा थीम पर 146 पर्यटन व धार्मिक स्थलों की सफाई अभियान जिसमें पर्यटन स्थल विंढंमफाल में स्वयं कूडा व गन्दगी को उठाना, शारदीय नवरात्र मेला प्रारम्भ होने के पूर्व विन्ध्याचल में सफाई अभियान कर पूरे मेला क्षेत्र को पालीथीन व थर्माकोल मुक्त कराना आदि सराहनीय कार्य शामिल है।