जिलाधिकारी ने की विकास कार्यो की समीक्षा, डीपीआरओ सहित छः अधिकारियों से स्पष्टीकरण

शिवपुर रेलवे क्रांसिंग पर ओवर ब्रिज के लिये 44 करोड 96 लाख स्वीकृत

बाढ में डूबे नुकसान फसलों का सर्वे रिपोर्ट तत्कल दें कृषि विभाग

मीरजापुर, 04 अक्टूबर, 2019- जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने आज कलेक्ट््रेट सभागार में मुख्यमंत्री के विकास प्रथमिकता वाले कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा बैठक कर प्रगति के बारे में जानकारी ली। इस दौरान समग्र ग्राम विकास योजना के अन्तर्गत विभिन्न ग्राम सभाओं में निर्माणाधीन आंनगवाडी केन्द्रों के निर्माण में मनरेगा के द्वारा कराये जाने वाले कार्यो में अपेक्षित प्रगति न आने व सम्बंधित ग्राम प्रधानों के द्वारा सहयोग न करने पर जिला पंचायत राज अधिकारी व उपायुक्त मनरेगा से स्पष्टकी करण कर मांग करते हुये कहा कि ग्राम प्रधानों से विकास योजनाओं में कार्य लेना उपरोक्त दाोंनो अधिकारियों का दायित्व है यदि आगे से प्रगति नहीं आया तो कडी कार्यवाही की जायेगी। इसी प्रकार प्रधानमंत्री आवास शहरी की समीक्षा के दौरान बताया गया कि शहरी आवास निर्माण में प्रदेश में जनपद मीरजापुर दूसरे स्थान पर हैं वहीं प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण की प्रगति काफी खराब होने पर परियोजना निदेशक डीआरडीए व बैठक में बिना कारण बताये अनुपस्थित पाये जाने पर ए0आर0 कोआपरेटिव, प्राचार्य आइटीआई, अधिशासी अभियन्ता जलनिगम से स्पष्टीकरण की मांग की गयी।

बैठक में सेतु निगम की समीक्षा के दौरान अधिशासी अभियन्ता ने बताया कि विन्ध्याचल के शिवपुर रेलवे क्रासिंग पर ओवर ब्रिज निर्माण के लिये शासन द्वारा 44 करोड 96 लाख की धनराशि स्वीकृत की गयी जिसमें से 200 लाख अवमुक्त भी किया गया है, शेष धनराशि की मांग जिलाधिकारी के पत्र के द्वारा मांग की गयी है। उन्होंने जिलाधिकारी को बताया कि इस ओवर ब्रिज निर्माण के लिये 7786 स्क्वायर मीटर जमीन अधिग्रहण करना पडेगा जिसमें मुआवाजा के लिये छः करोड 67 लाख 31 हजार रूपये की स्वीकृति शामिल है। जिलाधिकारी ने कहा कि निर्माण कार्य की काय्रवाही पूर्ण कराते हुये तत्काल निर्माण कार्य प्रारम्भ कराया जाये। इस दौरान बताया गया कि बेलवन नदी पर निर्माणाधीन पुल 34 प्रतिशत तथा कोटाघाट बेलवन नदी पर पुल निर्माण मात्र 6 प्रतिशत की प्रगति हैं जिस पर जिलाधिकारी ने प्रगति लाने का निर्देश दिया। जिवनाथ पुर रेलवे क्रासिंग पर चल रहे पुल के कार्य को दिसम्बर माह तक पूर्ण कराने का निर्देश दिया गया।

जिलाधिकारी पटेल ने कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान उप निदेशक कृषि को निर्देशित किया कि बाढ के कारण किसानों के फसल के नुकसान का सर्वे कराकर तत्काल रिपोर्ट प्रस्तुत किया जाये ताकि किसानों को उनके फसल के नुकसान का मुवावजा तत्कल मुहैया कराया जा सके। उप निदेशक कृषि डा0 अशोक कुमार उपाध्याय ने बताया कि पारदर्शी किसान योजना के तहत 3,2300 पात्र किसानों का पंजीकण करया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि टैबुलटाक योजना के तहत खतौनी में दर्ज किसानों के आधार पर पात्रताव अपात्रता निर्धारित की जाये। इस दौरान जिलाधिकार ने यह भी कहा कि आकाशीय बिजली से प्रभावित लोगों को तत्कल मुहैया कराने के लिये समाज कल्याण विभाग तत्कल जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करें। कहा कि इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जोयगी। उन्होंने कहा कि सर्वे पूरी ईमानदारी व पारदर्शी ढंग से हो किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने समीक्षा बैठक में कहा कि किसानों के लिये यूरिया, डीएपी व जिंग आदि पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहे। स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0तिवारी ने बताया कि विगत माह में उनके द्वारा प्राथमिक/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान 18 अनुपस्थित चिकित्सकों से स्पष्टीकरण की मांग गयी है। बताया कि संस्थागत प्रसव 68 प्रतिशत तथा लाभार्थियों के भुगतान 93.26 प्रतिशत की प्रगति हैं। इसी प्रकार टीकाकरण व जेन्टर जनित रोगियों के बारे में भी समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने कहा कि ट््रामा सेंन्टर का निर्माण लगभग पूर्ण हो गया है विद्युतीकरण का कार्य तत्कल करें ताकि उसे हैडओवर किया जा सके। मुख्यमंत्री विवाह योजना के सभी खण्ड विकास अधिकारियों से लाभार्थियों का पंजीकरन कराये जाने का निर्देश दिया गया। बैठक में पेंशन, छात्रवृत्ति, राष्ट््रीय आजीविका मिशन, शोचालय निर्माण, मनरेगा, विद्यत आपूर्ति, ट्ा्रसफार्मरों को समय बदलना, राष्ट््रीय पेयजल योजना, अमृत योजना, स्ट््रीट लाइट, राष्ट््रीय खाद्य सुरक्षा आदि की बिन्दुवार समीक्षा की गयी। निर्माणाधीन सडकों की समीक्षा में बताया कि लोक निर्माण विभाग के द्वारा 15 नर्द स्वीकृत सडकों के सापेक्ष एक पूर्ण गया है शेष पर काय्र प्रगति पर है। इस दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि सभी अधिकारी अपने विभाग से सम्बंधित विकास कार्यो को समय से व गुणवत्तापूर्ण ढंग से सुनिश्चित करायें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0तिवारी, सहित सभी सम्बंाित अधिकारी उपस्थित रहे।