मीरजापुर। एसडीएम विमल कुमार दुबे ने बताया कि हेलिकॉप्टर बाबा ने ग्रामसभा की सार्वजनिक जमीन पर अवैध कब्जा किया है। उनके ऊपर 1.15 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया। जुर्माने की राशि अदा न करने पर उनकी चल-अचल संपत्ति कुर्क की जाएगी। हेलिकॉप्टर बाबा उत्तराखंड के राजनेता सतपाल महराज के भाई बताए जाते हैं। संत बालयोगेश्वर उर्फ हेलिकॉप्टर बाबा के नाम से कई राज्यों में आभामंडल गढ़ने के बाद सरकारी जमीन हड़पने वाले हेलिकॉप्टर बाबा की संपत्ति सरकारी जुर्माना अदा न करने पर नीलाम होगी। जिले के मड़िहान तहसील के एसडीएम ने सोमवार को हेलिकॉप्टर बाबा की संस्था एसएन फ्लैग्स के खिलाफ कुर्की की नोटिस जारी की। मड़िहान तहसील क्षेत्र के कोटवा पांडेय गांव स्थित सिकटही मजरा में संत बालयोगेश्वर उर्फ हेलिकॉप्टर बाबा की संस्था एसएन फ्लैग्स फाउंडेशन की चल-अचल संपत्ति कुर्क की जाएगी। एसडीएम विमल कुमार दुबे ने बताया कि हेलिकॉप्टर बाबा ने ग्रामसभा की सार्वजनिक जमीन पर अवैध कब्जा किया है। उनके ऊपर 1.15 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया। जुर्माने की राशि अदा न करने पर उनकी चल-अचल संपत्ति कुर्क की जाएगी। हेलिकॉप्टर बाबा उत्तराखंड के राजनेता सतपाल महराज के भाई बताए जाते हैं।एसडीएम कार्यालय से कुर्की की नोटिस जारी होते ही हेलिकॉप्टर बाबा के अनुयायियों में हड़कंप मच गया। उधर, क्षेत्रीय संग्रह अमीन और लेखपाल को आदेश दिया गया है कि वे हेलिकॉप्टर बाबा की संस्था एस.एन. फ्लैग्स की चल-अचल संपत्ति को लाल झंडी से चिह्नित करें। संपत्ति की गणना कर रिपोर्ट सौंपने का भी आदेश दिया गया है। ग्रामसभा की जमीन पर हेलिकॉप्टर बाबा के अवैध कब्जे की बात सामने के आने के बाद सितंबर में कोर्ट के जरिए उनके ऊपर धारा 122 बी के तहत जुर्माना लगाया गया था। एसएन फ्लैग्स के संचालक लालमनी गुप्त ने जुर्माने की राशि अदा नहीं की।
संग्रह अमीन ने वसूली के लिए उनसे कई बार सम्पर्क करने की कोशिश की। उसके कोटवां स्थित एसएन फ्लैग्स के भवन पहुंचते ही कर्मचारियों से गेट बंद करा दिया जाता था। संग्रह अमीन कोमल तिवारी ने आरोप लगाया कि संचालक ने नोटिस भी नहीं ली। पुलिस के साथ पहुंचने पर संचालक फरार हो गया। सितंबर में हेलीकॉप्टर बाबा की संस्था एसएन फ्लैग्स की लगभग ढाई किलोमीटर लंबी चहारदीवारी एसडीएम ने गिरवा दी थी।