मीरजापुर, 18 अक्टूबर, 2019- प्रदेश के प्रमुख सचिव परिवहन/शासन द्वारा नामित जनपद के नोडल अधिकारी अरविन्द कुमार आज पूर्वाह्न 10.30 बजे से स्थानीय जिला पंचायत सभागार में जनपद के अधिकारियों की बैठक कर लगभग चार घंटे तक कराये जा रहे विकास कार्यो क्र प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान एनआरएलएम की समीक्षा के दौरान प्रमुख सचिव ने जिला विकास अधिकारी/प्रभारी उपायुक्त एनआरएलएम व उपायुक्त उद्योग को निर्देशित किया कि एनआरलएम के समूह की महिलाओं को पोटरी उद्योग व पीतल के बर्तन सा अन्य सामग्री बनाने के लिये उन्हें प्रशित कर इस उद्योग से जोडे ताकि जनपद के पीतल उद्योग को बढावा मिल सके और वहीं समूह की महिलाओं को भी रोजगार से मिल सके। इस दौरान जिला विकास अधिकारी ने बताया कि जनपद में इस वित्तीय वर्ष में 2540 लक्ष्य के सापेक्ष्य अब तक 1270 महिलाओं के समूह का गठन किया गया है, कई समूह के महिला सदस्यों को अगरबत्ती बनाने, मोमबत्ती बनाने, कालीन उद्योग एवं वाहनक्रय कराकर प्रेरणा कैन्टीन, खोलकर रोजगार उपलब्ध कराया गया है। समीक्षा बैठक में पेयजल समूह के चर्चा करते हुये बताया गया कि 17 पेयजल परियोजनाओं में पाॅंच परियोजनाओं में अभी तक मात्र पाॅंच प्रतिशत तथा एक परियोजना नगवारी में 50 प्रतिशत ही धनांवटन किया गया है अवशेष बजट की मांग की गयी है। प्रमुख सचिव ने कहा कि पुरानी बन्द पडी परियोयजनाओं को चालू कराने का प्रयास किया जाये। हैण्डपम्पों की मरम्मत व रीबोर की भी समीक्षा की गयी। बैठक में निराश्रित पशुओं के बनाये गये अस्थाई आश्रय स्थल व स्थाई आश्रय स्थलों के बारे में विस्तृत समीक्षा की गयी। इस दौरान कहा गया कि गोवंश के गौमूत्र व गोबर से कम्पोस्टर व वर्मी खाद बनाकर आय के स्रोत भी विकसित करें। समीक्षा के दौरा आयुष्मान भारत, पेंशन, छात्रवृत्ति, राष्ट््रीय खाद्य सुरक्षा योजना, न्यूनतम समर्थन मूल्य आदि की विस्तृत समीक्षा की गयी। इस दौरान कहा कि गया कि सभी लाभार्थियों का राशन कार्ड से आधार लिंग शत प्रतिशत कराया जाये। प्रमुख्य सचिव ने कहा कि पेट्ा्रेलपम्पों पर शौचालयों का निर्माण व साफ-सुथरा रहे ताकि कोई यात्री आवश्यकता पडने पर उसका प्रयोग कर सके। बताया गया कि जनपद में कुल 127 पेट्ा्रेलपम्पों पर शोचालयों का निर्माण कराया गया है। नोडल अधिकारी ने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाये कि उसमें ताला न बन्दर रहे। खनन व अवैघ खनन की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि ओवरि लोडिंग के विरूद्ध खनन विभाग व परिवहन विभाग सधन अभ्यिान चलायें। स्वच्छता मिशन की समीक्षा में बताया गया कि जनपद में एलओबी का लक्ष्य पूर्ण करा लिया गया है तथा उलओबी द्वितीय पार्ट में 9833 और शौचालयों की मांग शासन से स्वीकृति के लिये प्रस्ताव भेजा गया है स्वीकृति प्राप्त होते ही निर्माण प्रारम्भ्। करा दिया जायेगा। इसी दौरान प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण की समीक्षा में बताया गया कि वित्ीय वर्ष में 2744 आवास लक्ष्य के सापेक्ष 2652 को प्रथम किशत भेज दिया गया है। इसी प्रकार शहरी प्रधान मंत्री आवास में 31654 लक्ष्य के ेसापेक्ष 15406 को प्रथम किश्त, 11772 को द्वितीय तथा 4736 को तृतीय किश्त भेज दिया गया है। मुखमंत्री विवाह योजना एवं कन्या सुमंगला योजना के सम्बन्ध में नोडल अधिकारी ने कहा कि यह योजना मुख्यमंत्री जा के प्रमुख प्राथमिकताओं में एक है अतएव इसका व्यापक स्तर पर प्र्रचार-प्रसार कराया जाये ताकि लोगों को इसका लाभ मिल सके। इस दौरान बाल विकास, महिला कल्याण वृद्धावस्था, दिव्रूांग व विधवा पेंश्ज्ञन, स्वास्थ्य योजनाओ की जानकारी विद्याुत आपूर्ति, ट्ा्रसफार्मरों की समय बदलने की स्ाििति नहरों में रोस्टर के अनुसार टेल तक पानी पहुॅचना, किसान सम्मान निधि योजना, किसान फसली बीमा योजना, उर्वरकों व बीज की उपलब्धता आदि की विस्तृत समीक्षा कीगयी। इस दौरान उन्होंने कहा कि बाढ प्रभावित क्षेत्रों में किसानों के फसलों के नुकसान को तत्कल सर्वे कर जिसका बीमा योजना में पंजीकृत हो उन्हें उसका मुआवजा दिया जाये। समीक्षा में अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश स्वरूप् पाण्डये ने महिला अपराध, दहेज उत्पीडन, अपहरण, भू-माफिया, खनन माफिया, लिा बदर, गैगेस्टर, गुण्डाण्क्ट, वांछित अपराधियों के विरूद्ध कार्यवाही के बारे में विस्तृत जानकारी दी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी पिंयंका निंरजन, अपर जिलाधिकारी यू0पी0सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0ओ0पी0 तिवारी के अलावा सभी जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे। इस दौरान कानून व्यवस्था के बारे में भी समीक्षा की गयी।