समाचारजिला कार्यक्रम अधिकारी सहित 06 सीडीपीओ व एक खण्ड शिक्षा अधिकारी को...

जिला कार्यक्रम अधिकारी सहित 06 सीडीपीओ व एक खण्ड शिक्षा अधिकारी को चेतावनी-MIRZAPUR

मीरजापुर, 20 अक्टूबर, 2019- जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के प्रगति के समीक्षा के दौरान जिला पंचायत सभागार में सम्बंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान योजना में अपेक्षित प्रगति न लाने पर जिलाधिकारी द्वारा कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये जिला कार्यक्रम अधिकारी व सीडीपीओसिटी/ग्रामीण, मझंवा,पहाडी, शहर,तथा खण्ड शिक्षा अधिकारी छानवे को चेतावनी देने का निर्देश दियां। इसी क्रम में योजना का शासनादेश सभी खण्ड विकास अधिकारियों, खण्ड शिक्षा अधिकारियों व अन्य सम्बंधित अधिकारियों को समय से उपलब्ध न कराने के कारण जिलाधिकारी द्वारा कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये मुख्य विकास अधिकारी से जिला प्रोवशन अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दियां। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी सीडीपीओ व खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि आगामी दिनांक 25 अक्टूबर तक प्रत्येक दिन 200-200 प्रति सीडीपीओ व खण्ड शिक्षा अधिकारी पंजीकरण करायें नही तो उनके विरूद्ध कडी कार्यवही की जायेगी। इस दौरान यह भी बताया गया कि जनपद के सभी सहज जन सेवा केन्द्रों पर कन्या सुमंगला योजना का रेजीस्ट्रेशन निशुल्क किया जा रहां है। जिसका आदेश उनके स्तर से सभी जन सेवा केन्द्रों को निर्गत कर दिया गयां हैं।

जिलाधिकारी ने योजना के बारे में जानकारी देते हुये मुख्यमंत्री जी द्वारा योजना का औपचारिक शुभारम्भ दिनांक 25 अक्टूबर, 2019 को किया जाना निर्धारित हैं। इस अवसर पर योयजना के संचालन हेतु विकसित किये गये वेब पोर्टल एमकेएसवाइ्र्र.यूपी.जी0ओ0वी.आईएन का लांच भी किया जोयगा तथा योजना के लाभार्थियों को पंजीकरण पत्र का वितरण किया जायेगा। उनहोंने बताया कि प्रदेश में समान लिंगानुपात स्थापित करने व क्नयज्ञ भ्रूण हत्ंया को रोकने व बालिकाओं के स्वास्थ्य व शिक्षा को सुदृढ करने, बालिका के परिवार को आर्थिक सहायक प्रदान करने तथा आलिका के प्रति आम जन में सकारात्क सोच विकसित करने के लिये मुख्यमंत्री जी द्वारा मार्च 2019 में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की घ्ज्ञोषणा की गयी थी यह योजना एक अर्पेल 2019 से लागू हो गयी हैं। योजना के अन्तर्गत बालिकाओं के जन्म के समय 2000/-, एक वर्षं के टीकाकरण के पूर्णं करने पर 1000रू0, कक्षा एक में प्रवेश के समय-2000 कक्षा छः में प्रवेश के समय 2000, कक्षा-9 में प्रवेश के समय 3000 तथा 10 वी व 12वी परीक्षा उत्तीर्णं कर डिग्री या दो वर्षीय या अधिक के डिप्लोम कोर्स में प्रवेश लेने पर 5000 रूपया एक मुश्त प्रदान कियेे जाने की व्यवस्था हैं,। उन्होंने बताया कि योजना के संचालन हेतु वेव पोर्टल एमकेएसवाइ्र्र.यूपी.जी0ओ0वी.आईएन का विकास किया गयां हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि योजना के अन्तर्ग ऐसे लाभार्थी पात्र होगें जिनका परिवार उ0प्र0 का निवासी हो, जिसकी पारिवारिक वार्षिक आयं अधिकतम तीन लाख तथा जिसके परिवार में अधिकतम दो बच्चे हों, किसी प्रकार की अधिकतम दो बच्चियों को योजना का लाभ प्राप्त हो सकता हैं। जिलाधिकारी से भी अधिकारियों से कहा कि अधिक से पात्र लोगों का पंजीकरण करायें ताकि योजना का लाभ लोगों को समय से मिल सकें। उन्होंने सभी खण्ड विकास अधिकारियों से दीवालों पर वाल पेंटिंग तथा गांव डुगडुगी पिटवाकर प्रचार-प्रसार कराने का भी निर्देश दिय।

इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी पियंका निरंजन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0 तिवारी, परियोजना निदेशक रिषि मुनी उपाध्याय, जिला विकास अधिकारी ए0एन0मिश्र, जिला कार्यक्रम अधिकारी पी0के0 सिंह, जिला प्रोवशन अधिकारी डा0 अमरेन्द्र कुमार, के अलावा सभी सम्बंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित रहें ।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं