परिवार व समाज का भविष्य बनाने में हर क्षेत्र में कामयाबी हासिल कर रही है बेटियां -दारा सिंह चौहान

जनपद में वन मंत्री ने किया सुमंगला योजना का शुभारम्भ

मीरजापुर, 25 अक्टूबर, 2019- प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य योगी नाथ के महत्वपूर्ण कार्यक्रम मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का शुभारम्भ जहां मुख्यमंत्री द्वारा लखनउ में शुभरम्भ कर पूरे प्रदेश में किया, वहीं जनपद मीरजापुर में प्रदेश के मंत्री वन, पर्यावरण तथा जन्तु उद्यान विभाग/जनपद के प्रभारी मंत्री दारा सिंह चौहान के द्वारा डेफोडिल स्कूल के सभागार में एक भव्य समारोह में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का शुभारम्भ दीप प्रज्जवित कर किया गया। इस अवसर पर सांसद राम सकल, विधायक मझंवा सुचिश्मिता मौर्य, विधायक छानवे राहुल प्रकाश कोल, एम0एल0सी0 आशीष पटेल, सदस्य राज्य महिला आयोग अनामिका चौधरी, जिलाधिकारी अनुराग पटेल, पुलिस अधीक्षक डा0 धर्मवीर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन के अलावा अन्य सभी सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वन, पर्यावरण तथा जन्तु उद्यान विभाग ने अपने सम्बोधन में कहा कि बेटियां घर की शान हैं सभी अभिभावक गण उनकी शिक्षा और स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा सरकार में बनने के बाद ही बेटी बचाओं-बेटी पढाओं का नारा दिया और उसी दिशा में बेटियों की रक्षा, सुरक्षा, शिक्षा व स्वास्थ्य के लिये मुख्यमंत्री कन्या संमंगला योजना का शुभारम्भ मुख्यमंत्री के द्वारा पूरे प्रदेश में लागू किया जा रहा है और आज इस योजनान्तर्गत पंजीकृत बेटियों व उनके अभिभावकों के खाते में शिक्षा के लिये प्रोत्साहन धनराशि भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसका कोई लक्ष्य नहीं हैं जो भी शासनादेश के अनुसार पात्र बेटियां होगी उन्हें इसका लाभ दिया जायेगा। यह भी बताया योजना को छः श्रेणी में बांट कर लाभान्वित किया जा रहा है जिसमें प्रथम श्रेणी में बालिका के जन्म होने पर, द्धितीय श्रेणी एक वर्ष तक के पूर्ण टीकाकरण लगने पर, तुतीय श्रेणी कक्षा-01 में प्रवेश लेने पर, चतुर्थ श्रेणी कक्षा-6 में प्रवेश लेने पर, पंचम श्रेणी कक्षा-9 में प्रवेश लेने पर तथा षष्टम श्रेणी ऐसी बालिकायें हैं जो 10वी/12वीं उत्तीर्ण करके स्नातक/2 वर्षीय या अधिक अवधि के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने पर उन्हें प्रोत्साहन राशि के रूप में निर्धारित धनराशि दिया जायेगा।उन्होंने कहा कि किसी योजना का लाभ तभी लोगों को मिल सकेगा जब उस योजना को अधिक से अधिक लोगों तक पहुॅचाया जाय लोगों को योजना के प्रति जागरूक किया जायें। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना भी लागू किया गया हैं इसका वृहद स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाये लोगो को योजना के बारे में बताया जाये ताकि लोग इसका लाभ ले सके। श्री सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज परिवार और समाज का भविष्य बनाने के हर क्षेत्र में कामयाबी हासिल कर रहीं है। बेटियां कहा कि आज देश के प्रत्येक क्षेत्र में चाहें वह रेल संचालन हो, रक्षा हो, वैज्ञानिक, राजनीति सहित कोई भी क्षेत्र हो हमारे देश की बेटियां बझ-चढ कर हिस्सा ले रही है। बताया कि देश के सीमाओं पर अपने भाई वीर सैनिकों के साथ कंघा से कंधा मिलाकर देश की रक्षा कर रही हैं तो हवाई जहाज उछान व रेल चलाने में बेटियों पीछे नहीं हैं। कहा कि सदियों से बेटियों की पूजा होती आ रही है। देश के वीरागंना के रूप में हमारे देश के बेटियों ने नाम कमाया है। मंत्री ने कहा कि बीच में कुछ समय आया कि केवल बेटों के पैदा होने पर लोग खुशी जाहिर करते थे बेटियों केजन्म लेने पर लोग मायूस हो जाते थे, परन्तु प्रधानमंत्री ने प्रथम बार सरकार में आते ही बेटी बचाओं बेटी पढाओं का नारा दिया और बेटियों के सम्मान के लिये कई योजनाओं कालागू किया जा रहा हैं। मंत्री इसके बाद अपने सम्बोेधन में जल संरक्षण एवं पर्यावरण संरक्षण पर बल देते हुये कहा कि मुख्यमंत्री पर्यावरण संरक्षण की दिशा में पहली बार प्रदेश में एक ही दिन दुनिया में सबसे ज्यादा वृक्षारोपण करने का कार्य किया और आगे सरकार के द्वारा 25 करोड वृक्षारोपण एक ही दिन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया हैं। उन्होंने सभी से पेड लगाने की अपील करते हुये कहा कि यदि पर्यावरण को नहीं बताया गया तो आज हम लोग पानी बोतल में लेकर चल रहे आगे एक समय आयेगा कि सांस लेने के लिये आक्सीजन का सिलन्डर भी लेकर चलना होगा । कहा कि ऐसी स्थिति न आने पाये अधिक से अधिक वृक्ष लगाकर पर्यावरण को बचाया जायैं यह भी कहा कि पर्यावरण से ही जल हैं। कहा कि पढाया गया हैं कि जमीन में तीन हिस्सा पानी हैं परन्तु वह पीने योग्य नहीं हैं पीने योग्य पानी के लिय जल संरक्षण की बहुत आवश्यकता हैं। सभी लोग इस दिशा में जागरूक हो और जल संरक्षण करें। इस अवसर पर मंत्री व सांसद तथा विधायकगण के द्वारा मुख्यमंत्री सुमंगला योजना के पात्र बेटियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किया तथा उनके खाते में सीधे प्रोत्साहन राशि भेजा गयां।

इस अवसर पर सांसद राम सकल ने भी अपने सम्बोधन में बेटियों को पढाने व उनकी शिक्षा व स्वास्थ्य रखने की दिशा में लोगों से अपील कीं । विधायक सुचिश्मिता मौर्य, राहुल प्रकाश कोल, आशीष पटेल ने आने मंत्री का जनपद में प्रथम आगमन पर स्वागत करते हुये सुमंगला योजना के बारे में जानकारी दी तथा कहा कि अधिक से अधिक लोगों को इस योजना से लाभान्वित किया जायें। इसके पूर्व जिलाधिकारी अनुराग पटेल, मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन ने मंत्री सहित सभी अतिथियों को पुष्पगुच्छ देकर स्वागत कियां। जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने मंत्री को आश्वस्त करते हुये कहा कि योजना का प्रचार-प्रसार कर अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वि किया जायेंगा। उन्होंने योजना के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुये बताया कि योजना के अन्तर्गत बालिकाओं के जन्म के समय 2000/-, एक वर्षं के टीकाकरण के पूर्णं करने पर 1000रू0, कक्षा एक में प्रवेश के समय-2000 कक्षा छः में प्रवेश के समय 2000, कक्षा-9 में प्रवेश के समय 3000 तथा 10 वी व 12वी परीक्षा उत्तीर्णं कर डिग्री या दो वर्षीय या अधिक के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने पर 5000 रूपया एक मुश्त प्रदान कियेे जाने की व्यवस्था हैं,। उन्होंने बताया कि योजना के संचालन हेतु वेव पोर्टल एमकेएसवाइ्र्र.यूपी.जी0ओ0वी.आईएन का विकास किया गयां हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि योजना के अन्तर्गत ऐसे लाभार्थी पात्र होगें जिनका परिवार उ0प्र0 का निवासी हो, जिसकी पारिवारिक वार्षिक आयं अधिकतम तीन लाख तथा जिसके परिवार में अधिकतम दो बच्चे हों, किसी प्रकार की अधिकतम दो बच्चियों को योजना का लाभ प्राप्त हो सकता हैं। कार्यक्रम का संचालन डा0 मंजू ने कियां। इस अवसर पर उप मुख्य परीक्षक अधिकारी प्रभात रंजन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0 तिवारी, उप जिलाधिकारी सदर गौरव श्रीवास्तव, जिला विद्यालय निरीक्षक देवकी सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी पी0के0 सिंह, जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी, प्राचार्य जीर्0आ0सी0 महेन्द्र कुमार, के अलावासभी सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।