अनुपस्थित दो अधिकारियों से स्पष्टीकरण

मीरजापुर, 31 अक्टूबर, 2019- जिलाधिकारी अनुराग पटेल आज कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों की बैठक कर आइजीआरएस, मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, मण्डलायुक्त व जिलाधिकारी सन्दर्भ सहित आन लाइन प्राप्त शिकायतों के निस्तारण के प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान अधिशासी अभियंता सिंचाई व जिला समाज कल्याण अधिकारी के बैठक में अनुपस्थित होने पर स्पष्टीकरण की मांग की गयी। जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि आइजीआरएस सन्दर्भ का निस्तारन दो दिन के अन्दर सुनिश्चित करें तथा आज के बाद यदि किसी विभाग से सम्बघित शिकायत डिफाल्टर की श्रेणी में पाया जाता हैं तो उसे जिम्मेदार मानते हुये कडी कार्यवाही की जायेगी। जिलाािधकारी ने कहा कि आज के डिफाल्टर सन्दर्भो को आज की निस्तारण किया जायें। उन्होने यह भी कहा कि निस्तारण गुणवत्तापूर्णं हो यदि शासन स्तर पर किसी का निस्तारित सन्दर्भ गुणवत्तापूर्ण्रं नहीं पाया गया तो उसके विरूद्ध कडी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि गुणवत्तापूर्णं निस्तारण के लिये अधिकारी स्वयं रूचि लें और प्रत्येक निस्तारित शिकायतों को सम्बंधित शिकायतकर्ता के मोबाइल पर संतुष्ट होने की जानेकारी भी प्राप्त करें। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री के द्वारा निस्तारित सन्दर्भों की क्रास चेकिंग करायी जातीहै। ऐसी दशा में निस्तारण गुणवत्तापूर्णं हों। उन्होंने समीक्षा के दौरा राजस्व विभाग, विद्युत विभाग, जिला पंचायत राज अधिकारीपुलिस, तहसील आदि विभागों के अधिक लम्बित शिकातयों पर कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि निस्तारण में तेजी लायी जायें। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी यू0पी0 सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश स्वरूप पाण्डेय, उप जिलाधिकारी सदर गौरव श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी चुनार, परियोजना निदेशक डीआरडीए रिषि मुनी उपाध्याय, जिला विकास अधिकारी ए0एन0मिश्र, जिला पूर्ति अधिकारी उमेंश कुमार, अपर मुख्य अधिकारी विन्ध्याचल सिंह कुशवाहा, सहित सभी खण्ड विकास अधिकारीगण व सम्बंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।