एमओआईसी जमालपुर, कछंवा, राजगढ व चुनार से शो कार्य नोटिश

मीरजापुर, 31 अक्टूबर, 2019- जिलाधिकारी अनुराग पटेल आज कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कर स्वास्थ्य सेवाओं में संचालित विभिन्न योजनाअें के प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान कई योजनाओं में प्रगति कम होने पर एम0ओ0आई0सी0 जमालपुर, चुनार, कछवां व राजगढ से शो कार्य नोटिश जारी करने का निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिया। जिलािधकारी ने समीक्षा के दौरान हेल्थ डेसबोर्ड रैकिंग में प्रदेश में विगत माह जनपद मीरजापुर 32 वें स्थान पर था इस माह समीक्षा में पाया गया कि घट कर 40 वें स्थान पर आ गया जिस जिलाधिकारी ने कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि कम प्रगति लाने वाले अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुये कार्यवाही करें और अगले माह की समीक्षा के दोरान जिस अधिकारी व प्रभारी चिकित्साधिकारी की प्रगति कम पाया जाता है तो उसके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही के लिये शासन को भी प्रेषित किया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि पैथालोजी पर लिंग परीक्षण की शिकायतें प्राप्त हो रही है परन्तु स्वास्थ्य विभाग के टीम के निरीक्षण में एक वर्ष में कोई लिंग परीक्षण करते हुये किसी पैथालोजी को नहीं पकडा गया, जिलाधिकारी ने सवास्थ विभाग के अलावा अन्य विभाग के अधिकारियों व खण्ड विकास अधिकारियों तथा अन्य जन सामान्य से कहा कि लिंग परीक्षण करने वाले पैथालोजी की सूचना गोपनीय तरीके से दें और यदि कहीं औचक निरीक्षण में पाया जाता है तो सम्बंधित क्षेत्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी के विरूद्ध कडी काय्रवाही की जायेगी। नसबन्दी की प्रगति की समीक्षा में बताया गया कि गुरसण्डी क्षेत्र के नसबन्दी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र गुरसण्डी में उपयुक्त स्थान न होने के कारण जिला महिला चिकित्सालय में की जाती है, जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी से कहा कि जहां पर नसबन्दी के लिये स्थान न हो वहां पर नियमानुसार स्थान चयन कर कार्यवाही करें ताकि उस क्षेत्र के लोगों का नसबन्दी उनके नजदीकी पीएचसी में कराया जा सके। असफल नसबन्दी में जिलाधिकारी ने कहा कि सम्बंधित चिकित्सक की जिम्मेदारी तय की जायं। समीक्षा बैठक में जननी सुरक्षा, प्रसव, पात्र लाभार्थियों का भुगता टीकाकरण आदि की समीक्षा की गयी। इस दौरान फाइलेरिया रोधी दवा के फायदें, फाइलेरिया से बचाव,एमडीए की खुराक हेतु सारणी आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी तथा कहा कि अभियान को गांवों डुगडुगी पिटवाकर तथा बैनर व पोस्टर के माध्यम से प्रचार-प्रसार कराया जाये। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0 तिवारी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, उप मुख्य चिकित्साधिकारी तथा सभी एमओआइसी उपस्थित रहे।