6 वर्षीय बालिका के साथ जंगल में दुष्कर्म करने वालों को मिली कड़ी सजा ,मिर्जापुर

वीरेंद्र गुप्ता पत्रकार 94 53 82 1310,

*जनपद मीरजापुर* *दिनांक-15.02.2021*

*नाबालिग दिव्यांग के साथ दुष्कर्म करने वाले अभियुक्त को 40 दिन के अन्दर आजीवन कारावास की सजा*

शासन के निर्देशानुसार पॉक्सो एक्ट के अभियोगों में त्वरित कार्यवाही कराते हुए मां0 न्यायालय से को अपराधियों को सजा दिलाये जाने के अभियान के क्रम में पुलिस महानिरीक्षक विन्ध्यांचल परिक्षेत्र व पुलिस अधीक्षक मीरजापुर के पर्यवेक्षण व अपर पुलिस अधीक्षक आपरेशन के मानीटरिंग एवं क्षेत्राधिकारी आपरेशन के विवेचना के परिणामस्वरुप नाबालिग दिव्यांग के साथ दुष्कर्म करने वाले अभियुक्त को 40 दिन के अन्दर आजीवन कारावास की सजा मां0 न्यायालय द्वारा सुनाई गयी। दिनांक 07.01.2021 को थाना मड़िहान क्षेत्रान्तर्गत ग्राम गोपलपुर निवासिनी महिला द्वारा थाना स्थानीय पर तहरीर दी गयी कि उसकी 06 वर्षीय पुत्री को उसी गांव के निवासी राकेश द्वारा जंगल में ले जाकर दुष्कर्म किया गया । उक्त के सम्बन्ध में प्राप्त तहरीर के आधार पर थाना मड़िहान पर मु0अ0सं0-06/21 धारा 376 एबी भा0द0वि0, 5/6 पाक्सो एक्ट व 3(2)(V) एससी/एसटी एक्ट पंजीकृत कर अभियुक्त गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। थाना मड़िहान में पंजीकृत उपरोक्त अभियोग (न्यायालय की सत्र परीक्षण सख्या 30/2021) के प्रकरण में तात्कालिक क्षेत्राधिकारी मड़िहान प्रभात राय द्वारा गुणवत्तापूर्ण विवेचना,एवं शासकीय अधिवक्ता सुनीता गुप्ता (SPP) तथा कोर्ट मोहरिर्र हे0का0 पुष्पा गुप्ता व का0 विट्टू कुमार सिंह द्वारा मजबूती से साक्ष्यो व गवाहों न्यायालय में समय में प्रस्तुत व जिरह करने व पैरोकार हे0का0 उमेश कुमार के पैरवी के फलस्वरुप दिनांक 15.02.2021 को मुकदमें के अभियुक्त राकेश यादव पुत्र सन्तु यादव निवासी गोपलपुर,जुड़िया थाना मड़िहान मीरजापुर को उपरोक्त अभियोग में 376 एबी भा0द0वि0 समतुल्य धारा- 6 पॉक्सो एक्ट के अपराध के लिए कठोर आजावीन कारावास से जिसका तात्पर्य अभियुक्त के नैसर्गिक जीवन के शेष के लिए कारावास से होगा, तथा 50 हजार रुपये अर्थदण्ड से दण्डित किया गया,अर्थदण्ड अदा न करने पर 01 वर्ष का अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतना होगा, धारा 3(2)V एस0सी0 एस0टी0 एक्ट के अपराध के लिए कठोर आजीवन कारावास की सजा व 50 हजार रुपये अर्थदण्ड से दंडित किया गया, अर्थदण्ड अदा न करने पर 01 वर्ष का साधारण कारावास की सजा भुगतना होगा, अर्थदण्ड की सम्पूर्ण धनराशि कुल 01 लाख रुपये बतौर प्रतिकर पीडिता को प्रदान की जायेगी, उक्त सजा विशेष न्यायधीश (पॉक्सो एक्ट)/ अपर सत्र न्यायाधीश मीरजापुर द्वारा सुनाई गई।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.