लक्ष्य के प्रति दृढ़ संकल्पित है तो आगे बढ़ने में कोई रोक नही सकता – जिलाधिकारी

महिला कल्याण विभाग द्वारा आयोजित प्रशासन की पाठशाला में जिलाधिकारी ने छात्राओ को प्रतियोगी परीक्षाओ के तैयारी के लिये दिये
मीरजापुर, 15 फरवरी 2021 महिला कल्याण विभाग मीरजापुर के द्वारा आज कलेक्ट्रेट सभागार में महिला सशक्तीकरण व बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अन्तर्गत अध्यनरत छात्राओ को जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार द्वारा आई0एस0, पी0सी0एस0 सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षाओ में सफलता हासिल करने के लिये टिप्स दिया गया। पाठशाला में उपस्थित इण्टरमीडियट व ग्रेजुएशन के छात्राओ को जानकारी देते हुये जिलाधिकारी ने कहा सबसे पहले सिविल सर्विसेज के लिये ग्रेजुएशन करना तथा न्यूनतम उम्र 21 वर्ष होना आवश्यक है। उन्होने कहा कि यदि लक्ष्य के प्रति दृढ़ संकल्पित है तो आगे बढ़ने में कोई रूकावट नही आ सकती है। उपस्थित छात्राओ के कोचिंग के बारे में जानकारी पूछने पर जिलाधिकारी ने कहा कि वेसै तो प्रयागराज लखनऊ सहित कई महानगरो मे कोचिंग क्लास चलाये जा रहे परन्तु जहाॅ तक उनका मानना है कि दिल्ली के मुर्खजी नगर में अधिकांश छात्र-छात्राये गुणवत्ता परक कोचिंग प्राप्त कर सफलता भी प्राप्त कर रहे। एक छात्रा के यह कहने पर कि अभी भी अधिकांश अभिावको के द्वारा लडकियो को पढ़ने के लिये बाहर नही भेजा जाता जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि सफलता प्राप्त करने के लिये केवल कोचिंग का सहारा ही नही बल्कि इच्छाशक्ति की जरूरत होती है। उन्होने कहा कि वर्तमान युुग सोशल मीडिया व कम्प्यूटर का युग है सारी दुनिया की जानकारी गूगल के माध्यम से भी प्राप्त की जा सकती है उन्होने कहा कि कोचिग में पढ़ने की रेगुलरता बनी रहती है। तथा अलग-अलग प्रान्तो के छात्र छात्राओ से सम्पर्क बनता है। तथा अलग-अलग ज्ञान अर्जित किया जा सकता हैं। उन्होने कहा कि प्रारम्भिक तैयारी/सफलता माता पिता का हौसला बढ़ाता है यदि शुरूआत में अच्छे नम्बर लाते है तो अभिभावक भी आगे बढ़ने के लिये सहयोग प्रदान करता है। एक छात्रा के यह जानकारी करने पर अभिभावक लड़कियो साथ तरह-तरह की होने वाली घटनाओ के डर से बाहर नही भेजते जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि यदि मनोबल ऊॅचा है तो कही डरने की आवश्यकता नही है। उन्होने कहा कि यदि किसी के द्वारा पहली बार कोई कमेन्ट किया जाता है तो लड़किया उस पर चुप्पी न साधते हुये आवाज उठाये तथा तुरन्त उसका जवाब दे दे तो दुबारा किसी हिम्मत नही पड़ेगी। उन्होने यह भी कहा कि इसके अलावा 112 डायल नम्बर 1090 नम्बर आदि अपने पास अवश्य रखे तथा इस पर तत्काल काल करके पुलिस को सूचना दे। उन्होने कहा कि यदि सम्भव हो तो जूडो कराटे व बचाव के प्रारम्भिक तरीके को अवश्य सीखे। उन्होने यह पूछने पर कि किस विषय से तैयारी अच्छी होगी जिलाधिकारी ने कहा कि यदि नालेज है तो सभी विषय अच्छे है नालेज नही है तो सभी विषय खराब है। उन्होने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओ में जिस विषय में रूचि हो तथा पहले से जो विषय पढ़ा गया हो उसी से तैयारी करनी चाहिये। तभी सफलता प्राप्त होगी। उन्होने ने यह भी बताया कि सिविल सर्विसेज की तैयारी के लिये अपने प्रदेश आस पास की जानकारी रखते हुये एन0सी0आटी0 के कक्षा 6 12 तक पुस्तको को एक बार अध्यन जरूर कर ले। उन्होने कहा कि जब समय महत्वपूर्ण है उसका उपयोेग करें। यदि समय एक बार निकल जायेगा तो दोबारा नही आयेगा। अन्त में जिलाधिकारी ने सफलता की शुभकामनाये देते हुये कहा कि जब दृढ़ इच्छा नही होगी तब तक सब व्यर्थ हैं। इस अवसर पर जिला समाज कल्याण अधिकारी गिरीश दूबे, महिला कल्याण अधिकारी डा0 मंजू के अलावा अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहें।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.