सरकारी भवनो एवं आवासो मे शत प्रतिशत एल0ई0डी0 का करे उपयोग -मण्डलायुक्त

VIRENDRA GUPTA 9453821310-
मण्डलायुक्त ने शासन की विकास प्राथमिकता वाले कार्यक्रमो की अधिकारियो के साथ बैठक कर प्रगति की ली जानकारी
सहकारिता देय एवं एन0पी0ए0 वसूली मे ओ0टी0एस0 लागू करने की पहल

मीरजापुर, 10 मार्च 2021 मण्डलायुक्त योगेश्वर राम मिश्र ने आज अपने कार्यालय के सभागार में शासन की सर्वोच्च विकास प्राथमिकता वाले कार्यक्रमांे के प्रगति की जानकारी हेतु मण्डलीय अधिकारियो के साथ बैठक की। बैठक में आयुक्त ने विकास कार्यों को शासन की मंशा के अनुरूप ससमय पूर्ण करने के साथ ही गुणवत्तापूर्ण कार्य करने पर बल दिया। बैठक मे आयुक्त मिश्र ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी सरकारी भवनों एव आवासों में शत प्रतिशत एल0ई0डी0 ही जलाई जाये। मंडल के तीनों जनपद के दस-दस राजकीय कार्यालयों एवं बड़े प्रतिष्ठानों एवं भवनों का एनर्जी आडिट कराया जाये। इससे विधुत उपभोग में 40 प्रतिशत तक की कमी आयेगी। विद्युत बकाये के सद्रर्भ में उन्होंने कहा कि ’नवाचार पहल’ के रूप में प्राथमिक विद्यालयों में ’एक फिक्स मुश्त’ बिजली बिल की बात कही। झटपट पोर्टल में लाइन लाॅस के विश्लेषण की बात कहीं गयी। इसी के साथ ही आयुक्त ने सभी सरकारी कार्यालयों के विद्युत बकाये का भुगतान किये जाने पर जोर देते हुए कहा कि इसे प्राथमिकता के आधार पर लेते हुए विद्युत बकाये का भुगतान सुनिश्चिित किया जाये। इस दौरान उन्होंने जर्जर विद्युत ट्रांसर्फामरों की नियमित जांच कराने के साथ ही पुराने को बदला जाये, ताकि गर्मी में लोड बढने पर होने वाले संभावित परेशानियों से निपटा जा सके। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान मीरजापुर एवं भदोही जनपद में मेथा पायलट की पहल की बात की गई। बताया गया कि मेथा एक नगदी फसल है जिसकी खेती से तीन माह में किसान को छः से आठ करोड़ लाभ की संभावना है। बताया गया कि मेथा की खेती के जरिये किसान अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के साथ ही स्वालम्बी और आत्मनिर्भरता की राह पर बढ़ सकते हैं। बैठक में कृषि के विविधतापूर्ण खेती के प्रयास बल दिया गया। मंडल के तीनों जनपदों में आवंटन के सापेक्ष सोलर पंप अधिष्ठापित करा दिये गए हैं। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना में मंडल की प्रगति संतोषजनक पाई गई।

समीक्षा बैठक में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग अन्र्तगत सोनभद्र जनपद के दो ब्लाकों में एक जिला एक उत्पाद के तहत टमाटर उत्पादन को बढ़ावा देने की बात कही गई। बैठक में आयुक्त महोदय ने सेवानिवृत्त लोगो के प्रति भावुक और मार्मिक शब्दों में तीनों जनपदों के मुख्य चिकित्साधिकारियांे को निर्देशित करते हुए कहा कि सेवानिवृत्त लोगों के स्वास्थ्य संबंधित मामलों में प्राथमिकता के आधार पर उन्हें त्वरित सहयोग प्रदान करने के साथ उनका विशेष ध्यान दिया जाये, ताकि उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न होने पाये। उन्होंने कहा कि अक्सर सुनने दंेखने में आता है कि स्वास्थ्य विभाग के बाबू एवं अधिकारियों द्वारा जनता के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार, एवं अनावश्यक परेशान किया जाता है जो अनुचित है। आयुक्त ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान आयुष्मान भारत यांेजनान्र्तगत नियमानुसार गोल्डेन कार्ड बनाने पर जोर दिया। परिवार नियोजन अन्र्तगत पुरूष नसबंदी, सोनभद्र के सभी सरकारी चिकित्सालयों में दवाओं की उपलब्धता तथा जननी सुरक्षा अन्र्तगत भुगतान करने का भी निर्देश दिया। इसी प्रकरण में आयुक्त महोदय ने तीनों जनपदों के जिलाधिकारियों को स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग में औचक निरीक्षण करने के निर्देशित दिये। सहकारिता विभाग की समीक्षा में सहकारी देयों एवं एन0पी0ए0 से वसूली हेतु ओ0टी0एस0 (वन टाईम सेटेलमेंट) लागू करने की पहल की गई।

बैठक में वन विभाग के सामाजिक वनीकरण में पौधरोपण के सापेक्ष जीवित पौधों का प्रतिशत संतोषजनक रहा। बैठक में आयुक्त ने वन विभाग की भूमि पर किए गए अवैध कब्जा कर प्लाटिंग करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश देते हुए कहा कि इसे हर हाल में खाली कराया जाये। मीरजापुर जिले मे स्थित लखनियां दरी जल प्रपात के प्रवेश द्वार के सौदर्यीकरण एवं विकास पर बल दिया गया साथ ही साथ मंडल के तीनों जनपदों में स्थित प्राकृतिक पर्यटन स्थलों के समुचित विकास, प्रचार प्रसार कर उसे पर्यटन उद्योग के रूप में विकसित करने की बात कहीं गई, ताकि इनके विकास के साथ ही पर्यटन के जरिये लोगों को स्वरोजगार भी मिल सके। गर्मी के मौसम को देखते हुए सरकारी हैंडपंपों के रिबोर और मरम्मत के लिए निर्देशित करते हुए कहा कि गर्मी बढ़ने के पूर्व ही इसे दुरूस्त करा लिया जाये, ताकि पेयजल की समस्या न उत्पन्न होने पाये। इसी प्रकार पशुपालन विभाग की समीक्षा में निराश्रित गौवंश को संरक्षित करना, पशुओं का टीकाकरण एवं ईयर टैंगिग को शत प्रतिशत किये जाने के निर्देश दिया। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं मख्यमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि जो भी पात्र लाभार्थी हैं उन्हें इससे लाभान्वित करने के साथ ही ससमय आवासों को पूर्ण भी कराया जाये तथा जो आवास पूर्ण नहीं हैं उन्हें पूर्ण कराया जाये इसमें किसी भी प्रकार की कोताही क्षम्य नहीं होगी।

समीक्षा के दौरान राष्टीय ग्रामीण आजीविका मिशन के विकास पर बल दिया गया, बताया गया कि इस योजना के जरिये स्वरोजगार से जुड़ कर स्वालंम्बी बना जा सकता है। मंडलीय समीक्षा बैठक में खाद्य एवं रसद, उद्यान विभाग, समाज कल्याण/दिव्यंागजन/पिछड़ा वर्ग/अल्पसंख्यक/महिला कल्याण विभाग, बाल विकास पुष्टाहार, लद्यु सिंचाई एवं लोक निर्माण, दुग्ध विकास, बेसिक शिक्षा, खादी ग्रामद्योग, श्रम विभाग, कौशल विभाग, पंचायती राज इत्यादि विभागों की बिंदुवार एवं गहन समीक्षा की गई। बैठक में जिलाधिकारी मीरजापुर प्रवीण कुमार लक्षकार, जिलाधिकारी सोनभद्र अभिषेक सिंह, जिलाधिकारी भदोही आर्यका अखौरी, मुख्य विकास अधिकारी मीरजापुर अविनाश सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सोनभद्र, अपर आयुक्त प्रशासन रमेश चन्द्र, सयुक्त विकाय आयुक्त सुरेश चन्द्र मिश्र, वन सरंक्षक विंध्याचल मंडल सहित सभी मंडलीय अधिकारी बैठक में उपस्थित रहे।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.