कछवा नगर पंचायत अध्यक्ष ने अपने ही विभाग पर लगाए गंभीर आरोप -MIRZAPUR

अधिशासी अधिकारी व नायब मुहर्रिर द्वारा नगर पंचायत कछवा मिर्जापुर द्वारा अध्यक्ष द्वारा निर्गत पत्रों को संज्ञान में ना लिए जाने के संबंध में पंधारी यादव ने की प्रेस वार्ता
मिर्जापुर
कछवा नगर पंचायत अध्यक्ष पंधारी यादव ने प्रेस वार्ता कर नगर पंचायत में हो रहे भ्रष्टाचार का बड़ा आरोप लगाया है। डॉक्टर पंधारी यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी के द्वारा अवैध रूप से भवनों के मानचित्र को परमिशन दिया जा रहा है, जिसके चलते नगर में अवैध रूप से भवनों का निर्माण तेजी से हो रहा है। चेयरमैन के द्वारा जारी तमाम पत्रों की अवहेलना की जा रही है ।अपने आरोप में नगर पंचायत कछवा के एक कर्मचारी के ऊपर टैक्स वसूल कर अवैध तरीके से लंबे वक्त तक रुपया अपने पास रखें रहने का भी आरोप लगाया है।
पंधारी यादव ने प्रेस वार्ता के दौरान आरोप लगाते हुए कहा कि नगर पंचायत कछवा मिर्जापुर में तैनात अधिशासी अधिकारी को मेरे द्वारा पत्र संख्या 1063 दिनांक 1/10/ 2020 को एवं पत्र संख्या 5 दिनांक 4/02/ 2021 को प्रेषित करते हुए आदेशित किया गया था कि नगर पंचायत कछवा के नागरिकों की समस्या को संज्ञान में नहीं लिया जा रहा है । कई गंभीर आरोप लगते हुए कहा की
ऑनलाइन शिकायतों का निस्तारण बिना स्थानीय /अभिलेख सत्यापन किए ही निस्तारण कराने की परंपरा बनी हुई है ।
-नामांतरण व भवन मानचित्र की 1 वर्ष से बिना मेरी अनुमति अवलोकन के मनमानी वसूली करते हुए निस्तारण की कार्यवाही के साथ ही साथ जनता का शोषण किया जा रहा है।
– कर्मचारियों की सेवा में पुस्तिका का अवलोकन नहीं कराया गया जिससे यह ज्ञात हो सके की सर्विस सेवा सत्यापित है अथवा नहीं |
-सत्यानंद मुहर्रिर व अन्य कर्मचारियों के कार्य का विभाजन नहीं किया गया है जब कि भ्रष्ट कर्मचारियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है ।जैसे लंबित नामांतरण व भवन मानचित्र प्रस्तुत नहीं किया जा रहा है ।
-पटल परिवर्तन न किया जाना भ्रष्टाचार में लिप्त कर्मचारी का मनोबल बढ़ाने की मंशा अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत की है ।
-योगेंद्र राम द्वारा गई सूचना व संगम शुक्ला द्वारा मांगी गई सूचना उपलब्ध ना कराना कहीं ना कहीं संशय का प्रतीक है कि जानबूझकर सन लिप्त कर्मचारी को खुले तौर पर बचाने का प्रयास किया जा रहा है अधिशासी अधिकारी के कार्यशैली पर संध्या का परिभाषित है।
– अनिल कुमार सोनकर ठेकेदार कर्मचारी नगर पंचायत कछवा से अपने आवेदन पत्र दिनांक 26/ 11/ 2020 व 7 /01/ 2021 तथा 18/02/ 2021 द्वारा अवगत कराया गया की रसीद बुक तथा धनराशि 19900/- सत्यानंद दुबे नायक मुहर्रिर ने ले लिया है परंतु शासकीय कोष में नहीं जमा किया गया। अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत कछवा ने मात्र नोटिस जारी कर कोरम पूर्ण कर लिए ताकि किसी भी शासकीय कार्यवाही से दुबे बच सकें। निर्गत नोटिस पत्र संख्या 08 दिनांक 22-02-2020 अवलोकन हेतु धनराशि 27/02/2021 तक नहीं जमा हुआ जबकि अधिशासी अधिकारी के द्वारा तीन दिवस आख्या मांगा गया था ।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.