स्वयं सहायता समूहो एवं ग्रामीण महिलाओ का खाता बैंक तत्काल खोले -जिलाधिकारी

VIRENDRA GUPTA 9453821310-
जिला स्तरीय सलाहकार समिति की समीक्षा बैठक सम्पन्न
मीरजापुर में 26.3.2021/ जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार की अध्यक्षता मे जिला स्तरीय सलाहकार समिति की समीक्षा बैठक आहूत की गयी। जनपद के सांख्यिकी आंकड़े/बैंकवार ऋण जमा अनुपात का विशलेषण किया गया। सभी सम्बन्धित बैंक जिनका जमा ऋण अनुपात 30 प्रतिशत से कम है वे बैंक एक विशेष कार्ययोजना बनाकर कार्य करें, ताकि ऋण जमा अनुपात 40 प्रतिशत अवश्य हो जाये एवं जनपद का विकास हो। प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्रान्तर्गत जनपद का कुल अग्रिम 70.41 प्रतिशत है। कृषि अग्रिम 37.78 प्रतिशत है तथा एमएसई, वीकर सेक्सन अग्रिमो का प्रतिशत क्रमशः 19.68 तथा 18.27 प्रतिशत है। जनपद का कुल एनपीए 13.34 प्रतिशत है जो औसत से अधिक एवं चिन्ताजनक है। प्राथमिकता प्राप्त क्षंेत्र के अन्तर्गत कृषि क्षेत्र मे वार्षिक लक्ष्य मार्च 2021 रू0 1421.83 करोड़ के सापेक्ष रू0 885.71 करोड़ की उपलब्धि आलोच्य अवधि मे प्राप्त की गई है, जो लक्ष्य का 62.29 प्रतिशत हैं। उद्योेग क्षेत्र मे रू0 443.52 करोड़ के सापेक्ष रू0 328.87 करोड़ उपलब्धि है, जो कि लक्ष्य का 74.14 प्रतिशत हैं। अन्य प्राथमिकता क्षेत्र मे रू0 297.66 करोड़ लक्ष्य के सापेक्ष रू0 102.34 करोड़ उपलब्धि है जो कि लक्ष्य का 34.88 प्रतिशत है। कृषि, उद्योग एवं सेवा क्षेत्र के मार्च 2021 तक कुल लक्ष्य रू0 2163.01 करोड़ के सापेक्ष रू0 1316.92 करोड़ की उपलब्धि है जो लक्ष्य का 60.88 हैं गैर प्राथमिकता क्षेत्र मे 45.05 करोड़ लक्ष्य के सापेक्ष 169.15 करोड़ की उपलब्धि हुई जो लक्ष्य का 375.47 प्रतिशत हैं। वार्षिक ऋण योजना की कुल उपलब्धि हैं। वर्तमान वित्तीय वर्ष 2020-21 में कुल 77686 कृषको को के0सी0सी0 ऋण संवितरण का लक्ष्य प्राप्त हुआ है, जिसमे व्यवसायिक बैंको को 67000 तथा सहकारी बैंको को 10686 कृषको को लाभान्वित करना है। वित्तीय वर्ष 2020-21 मे दिनांक 04.03.2021 तक कुल 76991 कृषको को रू0 984.14 करोड़ का फसली ऋण संवितरण किया जा चुका हैं जो लक्ष्य का 98.95 प्रतिशत हैं। जनपद मे संचालित लगभग समस्त वाणिज्यिक बैंको मे ़ऋण प्रवाह की कमी का मुख्य कारण है कि एन0पी0ए0 की समस्या। नाबार्ड द्वारा प्राप्त पी0एल0पी0 के आधार पर बैंकवार/शाखावार वार्षिक ऋण योजना तैयार कर सभी बैंक/शाखा को प्रेषित कर दिया गया हैं। किसी भी बैंक शाखा से कोई आपत्ति प्राप्त नही हुई हैं। अतः संलग्न बैंकवार वार्षिक ऋण योजना 2021-22 का अनुमोदन किया जा सकता हैं। समीक्षा बैठक मे किसान के्रडिट कार्ड /फसली ऋण वितरण, जिला उद्योग केन्द्र द्वारा संलालित योजनाये, के0वी0आई0बी0 द्वारा संचालित संचालित पी0एम0ई0जी0पी0, मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, वित्तीय समावेश के अन्तर्गत प्रधानमंत्री जन धन योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री स्वानिधि योजना आदि बिन्दुओ के प्रगति का विशलेषणात्मक विचार विमर्श एवं क्रियानवन्य की प्रगति पर प्रमुखता से बल दिया गया। जिलाधिकारी ने बैंक प्रबन्धको को कड़े निर्देश देते हुये कहा कि सरकारी योजनाओ के सकुशल क्रियानवन्य एवं लाभ हेतु स्वयं सहायता समूहो एवं ग्रामीण महिलाओ का खाता प्राथमिकता के आधार पर तुरन्त खोला जाय। समीक्षा बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, बैंक प्रबन्धक एवं सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहें।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.