अमृत योजना के कार्य में तेजी लाने का दिया निर्देश – डा0 रजनीश दूबे

VIRENDRA GUPTA 9453821310-
मीरजापुर, अपर मुख्य सचिव उ0प्र0 शासन डा0 रजनीश दूबे आज अपने जनपद भ्रमण के दौरान जनपद में चल रहे जल निगम, अमृत योजना, नगर पालिकाओं एवं डूडा के कार्यो के प्रगति की विस्तृत समीक्षा की। इस दौरान अमृत योजना की प्रगति की समीक्षा के दौरान नगर पालिका मीरजापुर में आबादी के सापेक्ष पेयजल के लिये कितने एम0एल0डी0 पानी की आवश्यकता एवं कितने पानी ट्यूवेलों से आपनी पानी की कितनी आपूर्ति की जा रही है, अधीक्षण अभ्यिान्ता एव अधिशासी अभ्यिान्ता के अलग-अलग जबाब देने पर कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये अधीक्षण अभियान्ता जल निगम को मुख्यालय पर रह कार्य कराने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि अमृत योजना प्रधानमंत्री के महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक हैं अतः इस पर प्रातः 07 बजे से रात्रि 09 या 10 बजे तके दो शिफ्टों में कार्य कर 30 नवम्बर , 2021 तक पूर्ण कराना सुनिश्चित करायें। उन्होंने कहा कि घरो में कनेक्शन देने का कार्य भी पाइप बिछाने के साथी करें ताकि सडकों को ठी करने के बाद दुबारा खुदाई न करना पडे। उन्होने अधीक्षण अभ्यिान्ता जल निगम को अपने कार्य में सुधार लाने का भी निर्देश देते हुये कहा कि दो हाम के अन्दर प्रगति नहीं आती है हटाने की कार्यवाही की जायेगी। समीक्षा बैठक में बताया गया कि योजनान्तर्गत 10476 घरों में कनेक्शन देना है जिसमें से अभी 34 घरों को कनेक्शन दिया जा चुका है। नगर पालिकाओं की समीक्षा के दौरान अपर मुख्य सचिव के द्धारा नगर पालिका की जनसंख्या तथा उसके सापेक्ष नगर पालिका में कार्यरत कर्मचारियों/अधिकारियों की कार्यरत संख्या एवं रिक्त कर्मचारी की संख्या, नगर पालिकाओं के क्षेत्रफल, के बारे में जानकारी प्रापत की। उन्होंने कहा कि नगर पालिका अन्तर्गत कहीं भी पानी की समस्या न होने पाये इसके लिये तीन दिवस के अन्दर सभी ट्यूवेलो एवं मिनी ट्यूवेलों की सर्वे कर के खराब ट्यूवलों को तत्कल ठीक करा लिया जाए। उन्होंने अपर जिलाधिकारी एवं नगर मजिस्ट््रेट को भी ट्यूवेलों को रेण्डम चेकिग करने का निर्देश दिया। कहा कि जहां आवश्यकता हो वहां पर टैक्करों की व्यवस्था की जाए। उन्होंने सभी नगर पालिकाओं के ई0ओ0 को निर्देशित किया कि वे प्रातः 07 बजे नगर में भ्रमण कर सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करें तथा पूरे नगर साफ-स्वच्छ रखें। विन्ध्याचल मंदिर के आस-पास सफाई पर्याप्त रखें ताकि बाहर से आने वालों को एक स्वच्छ नगर दिखई दें। उन्होंने मुख्य सडकों के किनारे कूडा डम्प न करें वहां पर सफाई करायें। यह भी कहा कि गंगे के किनारे कूडा डम्प न हो वहा सं कूडा उठाकर कूडा निस्तारण के स्थान पर ले जाया जाए। इस दौरान विन्ध्याचल से लेकर मीरजापुर व चुनार तक मीरजापुर में बहने वालों के बारे में जानकारी प्रापत की बताया गया कि कुल 27 नालें है। इस दौरान 14 वित्त आयोग से कराये गये कार्यो, नमामि गंगे के तहत पार्को के सन्दरीकरण की प्रगति सहित सभी बिन्दुओं पर समीक्षा कर प्रगति की जानकाी प्रापत की गयी। इस दासैरान आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल योगेश्वर राम मिश्र, जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने भी अपने सुझाव दिये जिस पर अमल करने का निर्देश दिया गया। बैठक में मुख्य अभियन्ता जल निगम , अपर जिलाधिकारी यू0पी0 सिंह, ए0डी0एम0 नमामि गंगे, अधीक्षण अभियन्ता ए0के0 सिंह, अधिषासी अभियनता जल निगम, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका ओम प्रकाश के अलावा सभी नगर पालिकाओं के ई0ओ0 उपस्थित रहे।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.