कांट्रेक्ट ट्रेसिंग को बढ़ाने पर मुख्य सचिव ने दिया प्रदेश के जिलाधिकारियो को निर्देश

वीरेंद्र गुप्ता मिर्ज़ापुर

कोविड/नानकोविड से मृत अधिकारियो कर्मचारियो के देयको का जिलाधिकारी प्राथमिकता पर कराये भुगतान -मुख्य सचिव

कोविड वैक्सीनेशन के बारे मे प्रचार प्रसार कर लोगो को करे जागरूक ताकि लोग स्वेच्छा से सेंटर पर वैक्सीन लगवाने आये

50 बेड या उससे अधिक वाले प्राइवेट अस्पताल भी लगवाये आक्सीजन प्लांट

जनपदो मे लगाये जा रहे आक्सीजन प्लांट के लिये प्राथमिकता पर जमीन उपलब्ध कराते हुये मण्डलायुक्त व जिलाधिकारी प्रगति के बारे मे करे प्रतिदिन समीक्षा

मुख्य सचिव ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये मण्डल/जनपदो के अधिकारियो को दिया निर्देश

मीरजापुर, 07 जून , 2021/ प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने आज लखनऊ से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये प्रदेश के सभी जनपदो के मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी से कोविड वैक्सीनेशन, आक्सीजन प्लांट, कांटेªक्ट ट्रेसिंग, निर्माणाधीन प्रधानमंत्री आवास, मुख्यमंत्री आवास, सामुदायिक शौचालय, पंचायत भवनो के निर्माण के अलावा जनपद मे कराये जा रहें विकास कार्यो के प्रगति के बारे मे विस्तृत समीक्षा तथा शासन के प्राथमिकता वाले विकास परख कार्यो के प्रत्येक बिन्दुओ के कार्य मे तेजी लाते हुये प्रगति लाने का निर्देश दिया। वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान मीरजापुर एन0आई0सी0 मे मण्डलायुक्त योगेश्वर राम मिश्र, जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार, मुख्य विकास अधिकारी श्रीलक्ष्मी वीएस, संयुक्त विकास आयुक्त सुरेश चन्द्र मिश्र, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ पी0डी0 गुप्ता, प्रभारी प्र्रभागीय वनाधिकारी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहें।

मुख्य सचिव ने वीडियो कांफ्रेसिंग मे कोविड-19 से निपटने तथा वैक्सीनेशन के प्रगति के बारे मे समीक्षा करते हुये कहा कि प्रदेश मे पाजिटिव केसो की संख्या तेजी से कम हुये है लेकिन उन्होने सभी जिलाधिकारियो को निर्देशित करते हुये कहा कि कांट्रेक्ट ट्रेसिंग कार्य को बढ़ाते हुये प्रत्येक व्यक्ति की कोविड के दिशा निर्देशो केे अनुसार जाॅच किया जाये। गाॅव मे आर0आर0टी0टीम को सक्रिय करंे। उन्होने कहा कि वैक्सीन लगवाने के प्रति अभी भी लोगो मे कुछ भ्रान्तिया बनी हुयी है। वैक्सीनेशन के बारे मे ग्रामीण क्षेत्रो मे वृहद प्रचार प्रसार कराते हुये लोगो को वैक्सीन लगवाने के प्रति जागरूक करें इसके लिये लोक मंगल दल, महिला मंगल दल तथा विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओ का भी सहयोग लेकर वैक्सीनेशन के प्रति अच्छा माहौल बनाये ताकि जिस तरह से लोग राशन/अन्य सुविधाओ को लेने के लिये स्वेच्छा से आते है उसी तरह से वैक्सीन लगवाने के लिये लोग सेंटरो पर पर आये। लोगो को यह बताया जाये कि यह वैक्सीन कोरोना महामारी से लड़ने के लिये इम्यूनिटी बढ़ाती है। उन्होने वैक्सीन लगवाने के लिये आयोजित अविभावक स्पेशल, महिला स्पेशल के प्रगति के बारे मे भी जानकारी ली। मुख्य सचिव ने सभी मण्डलायुक्त व जिलाधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि जनपदो मे जो भी वेंडर आक्सीजन प्लांट लगाने के लिये जा रहे है उन्हे उनकी क्षमता तथा विश्वनीयता को देखते हुये समस्त सुविधाये प्रदान की जाये तथा प्रतिदिन उनके प्रगति के बारे समीक्षा की जायें। उन्होने कहा कि सम्भावित थर्ड वेव के आने के पूर्व उससे निपटने के लिये पहले से ही पूरी तैयारी कर ली जायें। मुख्य सचिव ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि वे यह सुनिश्चित कराये कि ऐसे प्राइवेट अस्पतालो जो 50 या 50 बेड से अधिक है उन असपतालो मे आक्सीजन का प्लांट अवश्य लगवाया जायें।

प्रदेश के सभी जनपदो के जिलाधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि पछिले 01 अप्रैल 2020 से कोविड अथवा नानकोविड से काफी संख्या मे हमारे अधिकारियो व कर्मचारियो का निधन हुआ हैं। जो काफी दुखद है उन्होने कहा कि ऐसे कर्मचारियो अधिकारियो के प्रति हम सबकी यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी कि मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुये उन पर आश्रितो को सेवा मे लेने तथा उनके बकाये के समस्त देयको का भुगतान प्राथतिकता के आधार पर तत्काल कराया जाये। उन्होने यह भी कहा कि कार्यरत संविदा कर्मचारी भी यदि इस दौरान प्रभावित हुये है तो उनके भी मानदेय अथवा नियमानुसार देय भुगतानो का समय से उनके परिवार को उपलब्ध करा दिया जायें। वीडियो कांफ्रेसिंग मे प्रधानमंत्री आवास की समीक्षा करते हुये कहा गया कि प्रदेश मे सात लाख बत्तीस हजार आवास के सापेक्ष अभी तक सत्तासी हजार आवास पूर्ण कराये गये है इसी प्रकार मुख्यमंत्री आवास मे भी अट्ठाइस हजार के सापेक्ष तीन हजार पाॅच सौ आवास अभी तक पूर्ण किये गये है जिसकी प्रगति लाकडाउन या कोरोना के कारण काफी कम है। उन्होने अधिकारियो को निर्देशित करते हुये कहा कि उक्त कार्यो मे तेजी लाते हुये यह सुनिश्चित कराये कि आगामी 30 जुलाई तक सभी आवास पूर्ण करा लिये जायें। उन्होने मनरेगा के बारे मे कहा कि गत वर्ष उत्तर प्रदेश मे 1200 करोड़ रूपया व्यय करते हुये मनरेगा कार्य मे पूरे देश मे प्रदेश प्रथम स्थान पर रहा है। इस वर्ष अभी तक उत्तर प्रदेश से एक दो प्रदेश आगे चल रहें है। उन्होने कहा कि इस बार लगभग पच्चीस लाख मजदूरो को मनरेगा योजनान्तर्गत लेकर लाभान्वित करना है तथा कार्य मे तेजी लाते हुये गत वर्ष की भाति इस वर्ष भी प्रथम स्थान को बनाये रखने के लिये प्रयास किया जायें। समीक्षा के दौरान स्वच्छ शौचालय, सामुदायिक शौचालय, पंचायत भवन सहित अन्य निर्माण कार्यो की भी समीक्षा की गयी तथा उसमे प्रगति लाकर समय से पूर्ण करने का निर्देश दिया गया। उन्होने यह भी कहा कि गरीब परिवारो के मरने अथवा कोविड के कारण मृत होने की दशा मे उनके अंत्येष्टि के लिये पाॅच हजार रूपया अवमुक्त किया गया है यह सुनिश्चित करें कि किसी भी शव को पानी मे न प्रवाह कर उनका बकायदे रीति रिवाज के साथ अन्तिम संस्कार किया जायें। समीक्षा के दौरान विकास प्राथमिकता वाले अन्य बिन्दुओ पर भी प्रगति के बारे मे मण्डलायुक्त योगेश्वर राम मिश्र व जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने मण्डल/ जनपद के विकास कार्यो के प्रगति बारे विस्तृत जानकारी दी।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.