समाचारसंविदा स्टाफ नर्स ने लगाए गंभीर आरोप -मिर्जापुर

संविदा स्टाफ नर्स ने लगाए गंभीर आरोप -मिर्जापुर


संविदा स्टाफ नर्स हेना शमीम सिद्दीकी ने जिलाधिकारी को लिखे पत्र में मांग किया है कि केंद्र हलिया पर बस कुड़िया गांव से आई प्रसूता का प्रसव कराने के उपरांत प्रसव कराने वाली एनमी द्वारा धन उगाही की खबर मीडिया में चलने के उपरांत मुझ टारगेट किया जा रहा है। धन उगाही करने वाली एनम महिला चिकित्सक के सह पर मेरा ट्रांसफर कराने के लिए धरने अनुचित दबाव बनाया जा रहा है । बताते चलें कि दिनांक 7/10/021 को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हलिया पर ग्राम सभा बस कुड़िया गांव निवासिनी प्रसूता सुमन आदिवासी पत्नी जयशंकर आदिवासी को प्रसव पीड़ा होने पर परिजनों ने प्रसूता को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हलिया चार बजे भोर में लेकर आए उस समय रात्रि ड्यूटी कर रही एनम द्वारा सुबह 6:00 बजे के करीब प्रसव कराया ।प्रसव उपरांत प्रसूता के परिजनों से एनेमो द्वारा सुविधा शुल्क लेने की सूचना किसी पत्रकार को मिल गई पत्रकार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंच कर प्रसूता तथा उनके परिजनों का वीडियो बयान बना लिया उस दिन मेरी ड्यूटी सुबह 8:00 बजे से थी बयान लेने के उपरांत पत्रकार चले जाने के बाद दोनों एनम हमसे उलझने लगी कि तुमने ही ने पत्रकार को सूचना दी है इस पूरे प्रकरण का उच्च अधिकारियों तथा मीडिया का ध् भटकाने के लिए महिला चिकित्सक से सांठगांठ कर भ्रष्टाचार में लिप्त अन्य कर्मचारियों को भड़का कर मेरे ट्रांसफर को लेकर धरना प्रदर्शन पर बैठ गए ।जिसकी सूचना मैंने स्वयं मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिया मुख्य चिकित्सा अधिकारी के बुलाने पर मैं दिनांक 8/10/021 मुख्य चिकित्सा अधिकारी के समक्ष पेश होकर इस पूरे प्रकरण की जांच कराने हेतु प्रार्थना पत्र दिया दिनांक 10/10/021 को मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने मुझे फोन कर कहा कि तुम अन्यत्र कहां जाना चाहती हो मैंने उनसे कहा सर बिना जांच कराएं मुझे कहीं मत भेजिए मैं अपने ऊपर एलिवेशन लेकर नहीं जाना चाहती हूं तब उन्होंने हमसे कहा कि ठीक है तुम अपना कार्य करो अगर कोई भी विवाद करता है तो इसकी सूचना मुझे देती रहना । इसके बावजूद आज दिनांक 12/10/021 मैं अपनी ड्यूटी पर थी उसी दौरान महिला चिकित्सक आकर मुझसे उलझने लगी और अपशब्दों का प्रयोग करने लगी उस दौरान प्रभारी चिकित्सा अधिकारी वहां मौजूद थे , जांच का ध्यान भटकाने के लिए आए दिन यहां पर विवाद किया जा रहा है क्योंकि विवाद केवल पैसे का है मीडिया में खबर चलने के कारण पैसे का लेनदेन बंद हो चुका है पैसे का लेनदेन बंद होने के कारण यह सारा विवाद किया जा रहा है । उपरोक्त घटना कुछ दिन पूर्व की है हलिया गांव के सोनकर बस्ती में डायरिया की वजह से एक बच्चे की मौत हो गई थी ग्रामीणों ने काफी हो – हल्ला मचाया जिसमें मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा उपजिलाधिकारी लालगंज मौके पर पहुंचकर कार्यवाही का आश्वासन देने के साथ ही साफ सफाई का निरीक्षण किया वार्ड में गंदगी देख उन्होंने महिला सफाई कर्मी को डाट फटकार लगाई तथा मुझे भी फटकार लगाई कि तुम्हारा दायित्व नहीं बनता है साफ सफाई कराने का मैंने अधिकारी को बताया कि हम जब साफ सफाई के लिए कहते हैं तो सफाई कर्मी कहती है तुम कौन होती हो कहने वाली इसी बात को लेकर अधिकारियों के चले जाने के बाद रात्रि लगभग 10:30 के करीब महिला सफाई कर्मी का पति शराब के नशे में मेरे दरवाजे पर आकर मुझे गाली गलौज देने के साथ ही धमकी देने लगा कि तुम्हारी संविदा की नौकरी उखाड़ फकेगें जिसकी लिखित सूचना मैंने हलिया थाने में दी थी हलिया थाने से सफाई कर्मी के पति को बुलाया गया दबाव में आकर मुझे सुलह समझौता करना पड़ा । दिए गए पत्र में हेना शमीम सिद्धकी ने लिखा है कि आए दिन मुझे परेशान किया जा रहा है इस रिश्वतखोरी की खबर से मेरा कोई लेना देना नहीं है और ना ही मैंने किसी पत्रकार को सूचना दिया है मुझे परेशान करने के लिए मेरा यहां से तबादला जा रहा है सरकार की मंशा के खिलाफ अन्यत्र कराने के लिए षड्यंत्र के तहत सारा खेल धरना प्रदर्शन स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित किया जा रहा है । अनुरोध करते हुए लिखा है कि कि इस पूरे प्रकरण की किसी उच्च अधिकारी से जांच कराई जाए जिससे धरना प्रदर्शन मेरे ट्रांसफर कराने तथा रिश्वतखोरी की का पर्दाफाश हो सके और दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई किया जाए ।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं