समाचार2 ट्रिलियन निर्यात करने का लक्ष्य -अनुप्रिया पटैल

2 ट्रिलियन निर्यात करने का लक्ष्य -अनुप्रिया पटैल


भारत को वाणिज्य मंत्रालय में 400 डालर का निर्यात करने का लक्ष्य निर्धारित किया है इसी क्रम में 2025-26 में 2 ट्रिलियन निर्यात करने का लक्ष्य -अनुप्रिया पटैल

मिर्जापुर में कृषि निर्यात सम्मेलन एवं क्रेता विक्रेता बैंठक कार्यक्रम का केंद्रीय राज्य मंत्री, वाणिज्य एवं उद्योग ने किया शुभारम्भ

मीरजापुर 04 दिसम्बर 2021- स्वतंत्रता के 75 वर्ष को आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मनाते हुए कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण वाराणसी (एपीडा) वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय भारत सरकार द्वारा शनिवार 4 दिसंबर 2021 को मिर्जापुर में कृषि निर्यात सम्मेलन एवं क्रेता विक्रेता बैठक का आयोजन किया गया जिसका लाभ मिर्जापुर, भदोही, वाराणसी, गाजीपुर चंदौली के 700 से अधिक किसानों को मिला, जिन्हें कृषक उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) के माध्यम से आमंत्रित किया गया था साथ ही देश के अन्य राज्यों से 2,000 से अधिक किसानों/निर्यातको ने वर्चुअल सहभागिता की।
मुख्य अतिथि केंद्र केंद्रीय राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय भारत सरकार डॉ0 एम अंन्गामुतुु चेयरमैन एपीडा एवं जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि अनुप्रिया पटेल ने चावल एवं ताजे सब्जी की शिपमेंट कों झंडा दिखाकर रवाना करते हुए किया अतिथियों का स्वागत एपीडा डायरेक्टर डॉ तरुण बाजाज ने किया और कहा कि यह हमारे जीवन का गौरवमई छड़ है कि हम स्वतंत्रता के 75 वर्ष को आजादी का अमृत महोत्सव के रूप में मना रहे हैं इस कार्यक्रम के प्रथम सत्र में हिंदुस्तान के सभी हिस्सों से निर्यातकों की भागीदारी हुई जिससे इस क्षेत्र से कृषि निर्यात को बढ़ावा मिलने की संभावना है इस सम्मेलन के दौरान निर्यात को एवं कृषक उत्पादक संगठनों के बीच कृषि उत्पादों के क्रय विक्रय पर भी चर्चा हुई और कुछ सौदे भी हुए केंद्रीय राज्यमंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय भारत सरकार ने कहा कि भारत को वाणिज्य मंत्रालय में 400 डालर का निर्यात करने का लक्ष्य निर्धारित किया है इसी क्रम में 2025-26 में 2 ट्रिलियन निर्यात करने का लक्ष्य प्रस्तावित है सिर्फ कृषि निर्यात के लिए 43 डॉलर का लक्ष्य निर्धारित है आज तक के इतिहास में ऐसा संभव नहीं हुआ कि देश से 43 डालर का निर्यात 1 वर्ष में हो लेकिन इस वर्ष एपीडा एवं अभी आप सभी कृषक बंधु के प्रयास से यह संभव होता दिख रहा है मंत्री ने यह भी कहा कि कृषि निर्यात में वृद्धि न सिर्फ देश में विदेशी मुद्रा ले आएगा बल्कि कृषकों की आय भी दोगुनी करने में सहायक होगा जो हमारे प्रधानमंत्री का सपना भी है उन्होंने सरकार की विभिन्न परियोजनाओं पर भी प्रकाश डाला जो कृषि एवं प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद के निर्यात को बढ़ावा देने में सहायता करेगा मंत्री महोदय ने कहा कि इस शुरुआत से ना सिर्फ कृषको के लिए बल्कि अन्य लोगों के लिए भी रोजगार के अवसर को बढ़ावा देगा और अन्य अवसरों का भी मार्ग खोलेगा एपीडा के प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि इस क्षेत्र में एपीडा के सार्थक प्रयासों से परिणात्मक अन्तर देखने को मिला जैसे पूर्वांचल की हरी मिर्च पहली बार विदेश की यात्रा पर गया और पूर्वांचल के ही लंगड़ा आम को लंदन बैठे लोगों ने भी पहली बार चखा। अब पूर्वांचल में ताजे फल और साग भाजी के लिए पैक हाउस का भी निर्माण जारी है आखिर में मंत्री ने कहा कि भविष्य में भी हम पूरी कोशिश करेंगे कि एपीडा के इस भागीरथी प्रयास को हम जारी रखें और कृषको को लाभ भी पहुंचाते रहें एवं पूर्वांचल के हर हिस्से में इसका मॉडल भी दोहराएं। उक्त कार्यक्रम में विभिन्न संस्थाओं जैसे ए0पी0ई0डी0ए0, आई0आर0आर0आई0, आइर्0आई0वी0आर0, जी0ई0एम0 निर्यातक एवं अन्य कृषक उत्पादक संगठनों ने स्टाल लगाकर अपने उत्पादों का प्रदर्शन भी किया इस कार्यक्रम के माध्यम से एफपीओ का चावल और फल सब्जियों के निर्यात के लिए निर्यातकों के साथ एग्रीमेंट भी हो गया जिसके नियमित रूप से इस क्षेत्र से विभिन्न कृषि उत्पादों का निर्यात होता रहेगा

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं