समाचारमुख्य विकास अधिकारी ने अकोढ़ी बबुरा मार्ग पर निर्माणाधीन सेतु का किया...

मुख्य विकास अधिकारी ने अकोढ़ी बबुरा मार्ग पर निर्माणाधीन सेतु का किया निरीक्षण


कार्य की धीमी प्रगति पर व्यक्त की नाराजगी, समय से पूरा करने का निर्देश

मीरजापुर 21 मई 2020- जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार के निर्देश के क्रम में कल दिनांक 20 मई 2022 को मुख्य विकास अधिकारी श्रीलक्ष्मी वीएस ने रू0 50 लाख से अधिक लागत से अन्य निर्माण कार्य का कर्णावती नदी के अकोढ़ी-बबुरा मार्ग पर सेतु पहुँच मार्ग व सुरक्षात्मक कार्य का निरीक्षण किया गया। सेतु निर्माण की कुल स्वीकृत लागत रू० 730.00 लाख के सापेक्ष कार्यदायी संस्था सेतु निगम को अब तक कुल रू0 694.14 लाख की धनराशि उपलब्ध करायी जा चुकी है, जिसके सापेक्ष रू० 634.75 लाख व्यय करते हुये कार्य कराया गया है। निरीक्षण के समय उप परियोजना प्रबन्धक सेतु निगम, तहसीलदार सदर फूलचंद, राजस्व निरीक्षक, अवर अभियन्ता, लेखपाल, कांट्रेक्टर एवं ग्राम प्रधान उपस्थित थे। अधिशासी अभियन्ता द्वारा अवगत कराया गया कि 13 कृषकों को मुआवजा दिया जा चुका है। मौके पर उपस्थित शिवानन्द शुक्ल पुत्र स्व० हरिश्चन्द्र शुक्ल एवं राजेश शुक्ला पुत्र स्व० लालचन्द्र शुक्ला द्वारा अधिग्रहित भूमि की पैमाइश सही न होने के कारण उनके हित प्रभावित हो रही है। अतः निरीक्षण के समय मौके पर उपस्थित तहसीलदार सदर को निर्देशित किया गया कि सेतु के अन्तर्गत अधिग्रहित भूमि की पुनः पैमाइश कराते हुये इसका निस्तारण एक सप्ताह के अन्दर कर मुख्य विकास अधिकारी को अवगत करायें। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि सेतु का निर्माण कार्य पूर्ण है,पहुँच मार्ग भाग में मिट्टी भराई का कार्य बबुरा साइड में पूर्ण है, अकोढ़ी ग्राम की तरफ मिट्टी भराई का कार्य प्रारम्भ है परन्तु न्यूनतम प्रगति पर कार्य चल रही थी। मात्र एक ट्रैक्टर मिट्टी डालते हुये दर्शाया गया, जो अस्वीकार्य है। ठेकेदार को दिनांक 30.05.2022 अनिवार्य रूप से मिट्टी के लिये निर्देशित किया गया और विलम्ब करने पर एफ.आई.आर. करने हेतु सचेत किया गया। कार्यदायी संस्था द्वारा अवगत कराया गया कि पहुॅच मार्ग के संरेखण में आ रहे विद्युत पोल / लाइन को शिफ्ट किये जाने हेतु रू0 18.40 लाख दिनांक 15.12.2021 को अधिशासी अभियन्ता विद्युत-द्वितीय को उपलब्ध करा दिया गया था, किन्तु अभी तक विद्यत विभाग द्वारा पोल शिफ्टिंग का कार्य नहीं किया गया है, जो किसी भी दशा में स्वीकार नहीं है। मौके पर ही विद्युत विभाग के अधिशासी अभियन्ता को दूरभाष पर निर्देशित किया गया कि पोल ध् लाइन शिफ्टिंग का कार्य दिनांक 23.05.2022 तक अनिवार्य रूप से पूर्ण कराते हुये अवगत कराना सुनिश्चित करें। अधीक्षण अभियन्ता विद्युत को इस कार्य पर निगरानी व समीक्षा करने हेतु निर्देशित किया गया, अन्यथा एम०डी० पूर्वांचल निगम को सूचित करने की स्थिति उत्पन्न होने पर अवगत कराया जायेगा। उप परियोजना प्रबन्धक सेतु निगम को निर्देशित किया गया कि सेतु एवं पहुँच मार्ग के समस्त कार्य को माह फरवरी 2022 तक पूर्ण करना था, परन्तु दो महीने विलम्ब चल रही है, जो संतोषजनक नहीं है। इसके अतिरिक्त वर्तमान में कार्य की प्रगति अत्यन्त धीमी है, जिसके कारण बारिस के पहले कार्य पूर्ण होना कठिन दिख रहा है। निर्माण कार्य में दिनांक 30.05.2022 तक प्रगति सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया गया, अन्यथा इनके विरूद्ध कार्यवाही हेतु शासन को संस्तुति कर दी जायेगी।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं