अष्टभुजा पहाड़ो पर जेसीबी ने मचाया तबाही –MIRZAPUR

मिर्ज़ापुर में पर्यटन की संभावना है जिसके वजह से लोगो को आस है की कभी भी जब पर्यटन विभाग के नक्से में मिर्ज़ापुर का नाम जुड़े गा तो यहाँ के लोग मालामाल हो जायेगे|बेरोजगारी कम होगी और लोगो को रोजगार मिलने लगेगा | जब भारी मात्रा में पर्यटक वाराणसी और अल्लाहाबाद के बाद मिर्ज़ापुर आने लगेंगे परंतु कुछ लोग अपने निजी फायदा के लिए यहाँ की प्रकितिक मनोरम नैसर्गिक वातावरण को नस्ट करने में तुले है| ऐसे ही एक घटना देखने को मिल रहा है पिछले २ दिनों से विंध्याचल थाना चेत्रे के अष्टभुजा डांक बंगले के बगल में जेसीबी लगाकर उन सम्पदाओ को बेरहमी से नस्ट किया जा रहा है जिसको बनने में लाखो वर्ष लग गए ,साथ ही साथ समूचे विंध्य पर्वत की महत्ता को दरकिनार करते हुए खनन कार्य में रात दिन जेसीबी लगाया गया है जिसकी निंदा तमाम पर्वत प्रेमी व जनपद के शुभचिंतको द्वारा किया जा रहा है |लोगो ने बताया की खुले आम ,(ग्रीन ट्रिब्यूनल छेत्र) का दोहन करना गैरकानूनी है| जिसको तत्काल रोकना आवस्यक है यदि इस खनन को नहीं रोक गया तो भारी क्षति होगी|समूचे विंध्य पर्वत की सरहद नक्सा बिगाड़ने वालो के ऊपर सख्त कार्यवाही की मांग लोगो द्वारा किया जा रहा है | तमाम जड़ी बूटी व जीव जंतु के नस्ट हो जाने की गुंजाइस से लोग भयभीत है आने वाली पीढ़ी बुरी तरिके से प्रभावित होगी | जनपद के लोगो ने जिलाधीकारी से उम्मीद किया है की तत्काल ऐसे कार्यो की जांच कराकर पूरे विंध्य छेत्र की गरिमा व उसके अलौकिक महत्त्व को बिगाड़ने वाले के ऊपर सख्त कार्यवाही की जाय |

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.