लोक निर्माण विभाग को किसी बड़े हादसे का ईन्तजार-MIRZAPUR

कछवां ( मीरजापु*) स्थानीय क्षेत्र के भटौली पीपा पुल मार्ग पर चलना जोखिम भरा हो गया है। कब बड़ा हादसा हो जाये कहा नहीं जा सकता।इन सब से लोक निर्माण विभाग बेखबर होकर सो रहा है।लगता है उसे किसी बड़े हादसे का ईन्तजार है।मीरजापुर मुख्यालय से मझवां सीखड साथ ही नगर पंचायत कछवां के साथ ही साथ भदोही और वाराणसी जनपद के लोग भी इसी मार्ग से आवागमन करते है।कारण अगर मीरजापुर से वाराणसी जाना है। तो लगभग पैंतीस किलोमीटर की बचत होती है।शनीवार को तो एक बाईक सवार गंगा मे गीरने से बाल बाल बच गया पीपा पुल के निर्माण मे लगी लकड़ी की बल्ली पर से चकरप्लेट तितीर बितर होने के कारण उसी पर से होकरजा रहा था। और अचानक पुरानी और जर्जर बल्ली टूट गयी और बाईक सवार गीर पड़ा संयोग था कोई अनहोनी नहीं हुयी बाद मे पुलिस कर्मीयो ने पीपा पुल मे लगे मजदुरो को बुलाकर चकरप्लेटो को ठीक कराया। इस तरह की लापरवाही चिन्ता का प्रमुख विषय है। कारण पीछले वर्ष तत्कालीन पुलिस अधीक्षक अरविंद सेन ने बरैनी की तरफ हाईट गेट लगवाया था।ताकी बड़ी वाहने भार क्षमता से अधिक वाले आवागमन न कर सके इस बार के गंगा के बाढ़ का पानी घटने के बाद वह कहीं दिखाई नहीं दे रहा उबड खाबड रास्ते लोहे के चकर प्लेटो पर चढ़ी बालू भ्रम मे होकर वाहन चालक अपनी गाडीयो के पटरी किनारे रेत मे उतार देते है।जिससे रोज लम्बी- लम्बी गाडीयो की लाइनें दोनो तरफ पुल के लग जाती है। और राहगीर जाम के झाम मे रोज घण्टो बझते है।आगे विधान सभा चुनाव भी है ।और मार्ग से होकर जनपद के आला अधिकारी गुजरेगे अब वह क्या फैसला लेते है लोगों को इसका ईन्तजार है|

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.