अपना दल और भाजपा में फसा मड़िहान विधान सभा सीट के लिए पेच । सूत्रों के हवाले से खबर है कि अपना दल और भाजपा गठबंधन में सब कुछ सही नहीं चला रहा है ।यूपी विधान सभा चुनाव में दोनों पार्टियों में टिकट बंटवारे को लेकर मनमुटाव बढ़ गया है ।जिसकी वजह से अनुप्रिया पटेल खासी नाराज बताई जा रही है ।हालत यह है कि दिल्ली में आयोजित पार्टी की बैठक में कुछ सदस्य तो नाराज हो कर पार्टी की बैठक छोड़ कर बाहर चले आये । खबर के अनुसार भाजपा अपना दल को यूपी में 13 सीटे चुनाव जीतने के लिए दे रही है ।मगर 5 सीटो पर वह अपना प्रत्यासी भी अपना दल पर थोप रही है। जिनमे मिर्जापुर की मड़िहान विधान सभा सीट भी है ।जहाँ से भाजपा के एक राष्टीय स्तर के बड़े नेता का दबाव है। रामशंकर पटेल को अपना दल अपना प्रत्यासी के तौर पर उन्हें मड़िहान विधान सभा सीट से मैदान में उतारे ।मगर अपना दल के नेताओ का कहना है कि अगर यह सीट उनके खाते में है। तो वह भाजपा के किसी नेता को क्यों अपनी सीट से चुनाव लड़ाये।साथ ही अनुप्रिया पटेल को रामशंकर पटेल भी पसंद नहीं आ रहा है।वही चुनार सीट पर भी भाजपा ने अपना प्रत्यासी उतार दिया है जिससे भी अपना दल अनुप्रिया पटेल नाराज बताई जा रही है ।सबसे बड़ी परेशानी तो उन सीटो को ले कर है ।जहाँ अपना दल का कोई जनाधार नहीं है मगर उन सीटो भजपा ने अपना दल के लिए छोड़ दिया है। सूत्रों के अनुसार फिलहाल अनुप्रिया पटेल भाजपा के इस रवैये से खासी नाराज बताई जा रही है।वह किसी भी कीमत पर मड़िहान विधान सभा सीट छोड़ने को तैयार नहीं है ।
नाम है की अपनादल को मड़िहान और छानबे सीट दी जा रही है पर सूत्र बता रहे है की प्रत्याशी अपनादल का नहीं होगा गजब का राजनीती है अपनादल में इस बात से भारी आक्रोश देखा जा रहा है |इसी तरीके से छानबे से एक पूर्व सपा संसाद के बेटे का नाम आ रहा है जिसको लेकर भी भारी बाते हो रही है | लेकिन अनुप्रिया भी काम धुरंधर नहीं है लोग बताते है की वो जो चाहे गी होगा वही बताया जा रहा है की जगदीश पटेल उनकी लिस्ट में पहली पसंद है |