मिर्जापुर जिगना थाना क्षेत्र के बिहसड़ा ग्राम प्रधान,बीजेपी नेता पप्पू जयसवाल व एसओ जिगना थाना के बीच हुए मोबाइल वार्ता के वायरल के पश्चात समाचार व शिकायत पत्र को संज्ञान में लखनऊ DGP कार्यालय से ले लिया गया है| खबर है कि उसकी जांच शुरू कर दी गई है जल्दी ही निष्पक्ष जांच की उम्मीद पप्पू जायसवाल ने जताया है |प्रधान का कहना है कि स्थानीय स्तर पर कई बार शिकायत किया गया लेकिन मामले की गंभीरता को तवज्जो नहीं दिया गया पूर्व के कप्तान को सारे मामले से अवगत कराते हुए वार्ता की सीडी बनवा कर भी उपलब्ध कराया गया था उसके बावजूद स्थानीय स्तर पर कोई कार्यवाही ना होने से जहां ग्राम प्रधान को निराशा लग रही थी वही डीजीपी कार्यालय ने इस पूरे प्रकरण को संज्ञान में लेने के पश्चात जांच शुरू कर दिया है जिससे ग्राम प्रधान ने उम्मीद जताया कि जल्द ही हमारी शिकायत पर गंभीरता से शासन प्रशासन कार्रवाई करेगा जिससे ऐसे दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होना संभव हो पाएगा |आपको बता दें कि लगभग 4 दिन पूर्व ग्राम प्रधान ने पुलिस कप्तान के यहां संबंधित मामले का CD व एक प्रार्थना पत्र कलानिधि नैथानी को दिया था उसके बाद कलानिधि नैथानी का ट्रांसफर हो गया नए पुलिस कप्तान से बीजेपी नेता पप्पू जायसवाल की उम्मीदें काफी बढ़ गई है| देखना होगा कि यह मामला किस स्तर तक जांच कर पाता है और क्योंकि पुलिस के खिलाफ जांच है कितना निष्पक्ष हो पाता है इस पर क्षेत्रवासियों कि वह जिले भर की निगाहें लगी हुई है| क्योंकि मामला अति गंभीर बताया जा रहा है क्योंकि SO जिगना के द्वारा पप्पू जायसवाल को यह बातचीत में बताया गया है कि अपराधी को किस मजबूरी में छोड़ा जा रहा है |