मिर्जापुर के तमाम प्रशासनिक अधिकारी गंगा के किनारे दिखाई दिए-MIRZAPUR

आज मिर्जापुर के तमाम प्रशासनिक आला अधिकारी गंगा के किनारे दिखाई दिए | पुलिस अधिकारियों की गंगा किनारे उपस्थिति चर्चा का विषय रहा लेकिन जो मुख्य उद्देश्य रहा गंगा के किनारे जाने का वह लोगों को यह बताने का संदेश देने का एक माध्यम था कि गंगा की पवित्रता को बनाए रखना, जल की पवित्रता को संरक्षित रखना गंगा के मूल गुणों को बनाए रखना मुख्य कारण बताया गया| उसी क्रम में मिर्जापुर जिलाधिकारी ने भी मिर्जापुर सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले नार घाट में मंत्रोच्चार के पश्चात विशेष हवन पूजन भी किया जिसमें महिलाएं बच्चे बुजुर्ग पुरुष सभी ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और इस बात का संकल्प दोहराया कि गंगा को स्वस्थ व स्वच्छ रखना यह हम सब की नैतिक जिम्मेदारी है |प्राचीन धरोहर के रूप में गंगा नदी को जाना जाता है अध्यात्मिक दृष्टिकोण से भी गंगा नदी का विशेष महत्व है उसके उद्गम और इसके संगम को लेकर तमाम लेख लिखे व सुने सुनाये जाते हैं, लेकिन सभी का उद्देश्य है कि इस नदी को व इसकी पवित्रता को बनाए रखना और केंद्र सरकार की गंगा स्वच्छ योजना के मिशन को कामयाब करना है |गंगा के प्रति जहां लोगों की आस्था अटूट है वही तमाम क्षेत्रों में यह जीवनदायिनी के रूप में भी जाना जाता है लाखों-करोड़ों लोग गंगा किनारे रहकर अपना जीवन यापन भी करते हैं इसलिए आर्थिक दृष्टिकोण से व्यापारिक दृष्टिकोण से गंगा नदी हमारे जीवन की लाइफ लाइन अगर कहा जाए तो अतिशयोक्ति नहीं होगी | बिमल कुमार दूबे की सरलता व सहजता को लोगो ने उस वक्त देखा जब वो सीधे गंगा घाटों की सीढी पर बैठ गंगा संरक्षण में लीन दिखाई दिए | कार्यक्रम में युवा बीजेपी नेता गौरव उमर व रमेश ओझा भी रहे |

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.