मीरजापुर-जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे ने कहा कि स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने के लिए गाॅव के स्कूल में पढ़ने वाले अभिभावको को आगे आने की आवश्यकता है। जिलाधिकारी आज जिला पंचायत सभाागार में मुस्कान परियोजना द्वारा आयोजित ’’ जन सुनवाई कार्यक्रम’’ के तहत उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। जिलाधिकारी ने कहा कि अभिभावक तथा मुस्कान परियोजना के सदस्य अपने गाॅव के स्कूलों में माह मे कम से कम 4-5 बार अवश्य जाएं तथा शिक्षकों एवं छात्रों से वार्ता करें। वार्ता के दौरान जो समस्याएं निकल कर आये उससे उच्चाधिकारियों व जिलाधिकारी को अवगत कराया जाएं। समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होने परियोजना के पदाधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन स्कूलो का चयन किया गया है उनमें भ्रमण कर नियमानुसार कार्यवाही आगामी 15 जून तक अवश्य करा ले ताकि विद्यालयों में परिवर्तन लाया जा सके। उन्होने कहा कि देश/प्रदेश के बजट का एक बड़ा हिस्सा शिक्षा व्यवस्था पर व्यय होता है, लेकिन जब तक अभिभावक या गाॅव का व्यक्ति परिवर्तन नही लायेगा तब गुणवत्ता में सुधार नही लाया जा सकता।
इस अवसर पर जिलाधिकारी से उपस्थित ग्रामीणों/अभिभावकों द्वारा अपने-अपने गाॅव के स्कूलों मे समस्याओं के बारे में अवगत कराये, जिस पर जिलाधिकारी ने समाधान का आश्वासन दिया।