560 डाकुओ के पूर्व सरदार पहुचे विंध्याचल

    विंध्याचल70 के दशक में चम्बल घाटी के बेताज बादशाह दस्यु सम्राट पंचम सिंह जो 1972 में 560 डाकुओं के साथ समर्पण किए और बाद में ब्रह्माकुमारीज् से ज्ञान पाकर जीवन बदल गया। श्री विंध्य पंडा समाज ने मंदिर पर भव्य स्वागत किया।आज 96 वर्ष की अवस्था में भी पूर्ण स्वस्थ पंचम सिंह पूरे देश में भटके हुए डाकुओं,नक्सलियों आदि का हृदय परिवर्तन करने के कार्य में जुटे हुए हैं। स्वागत करने वालो में अध्यक्ष राजन पाठक,सहमंत्री रतनमोहन मिश्र,प्रदीप मिश्र,तेजन गिरी,संगम लाल त्रिपाठी,बादल मिश्र,।। साथ मे बिंदु दीदी रही।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.